मंगलवार, 20 अक्तूबर 2009

विश्व मंगल गोऊ ग्राम यात्रा - खबरे ही खबरे




गोहत्या पर मिले मानव हत्या के बराबर दंड


लखनऊ, 19 अक्टूबर : गाय की हत्या करने वालों को मानव हत्या के समान ही दंड देना चाहिए। यह मांग करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महासचिव प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि यह हमारे लिए शर्म की बात की है कि गो हत्या को रोकने के लिए यह यात्रा निकालनी पड़ रही है। इसमें सभी लोगों को सहयोग देना होगा और इससे ही हम अपने उद्देश्य को प्राप्त कर सकेंगे। सोमवार को श्रंगार नगर सनातन धर्म मंदिर में सभा को सम्बोधित करते हुए श्री तोगड़िया ने कहा कि इतिहास में 1500 ईस्वी तक कहीं गाय की हत्या का उल्लेख नहीं मिलता है लेकिन अब गो हत्या रोकने के लिए हमें यात्रा करनी पड़ रही है।

उन्होंने कहा कि गाय का हमारे धर्म संस्कृति में अहम स्थान है। एक गाय पर प्रतिदिन लगभग साठ रुपये खर्च होते हैं और उसमें से 40 रुपये दूध के रूप में वापस मिल जाते हैं। लेकिन किसान खर्च बढ़ जाने के कारण गाय बेचने को मजबूर हैं और यही वजह उनका वध बढ़ गया है। जबकि गोमूत्र से डिटाल, फिनायल आदि सामान बन रहा है। पहले देश में एक हजार लोगों पर 400 गाय हुआ करतीं थी लेकिन अब यह संख्या नाममात्र की रह गयी है। इसके पूर्व गोवंश रक्षा के लिए गत 30 सितम्बर को कुरूक्षेत्र से शुरू हुयी विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा सोमवार को राजधानी पहुंची। राजधानी में प्रवेश के बाद जानकीपुरम, अलीगंज, आईटी चौराहा, हनुमान सेतु, हजरतगंज, चारबाग में यात्रा का भव्य स्वागत किया गया। यहां से होते हुए यात्रा सनातन धर्म मंदिर श्रंगार नगर पहुंच कर सभा में तब्दील हो गयी। सभा को सम्बोधित करते हुए स्वामी यतीन्द्रनाथ ने कहा कि आतंक को मिटाने के लिए अब हमें हाथ उठाना होगा। बिना हाथ उठाए आतंक को समाप्त नहीं किया जा सकता है। मनकामेश्वर मंदिर की महंत दिव्या गिरी ने कहा कि हमारी संस्कृति धर्म में गाय का अहम योगदान है। लेकिन इनकी संख्या लगातार कम होती जा रही है। इसे रोकना हमारा कर्तव्य है और जरूरी है कि देश में गो हत्या पर प्रतिबंध लगे। सभा में विधायक सुरेश तिवारी, सुरेश श्रीवास्तव, नानक चंद्र, व्यापारी नेता प्रशांत भाटिया सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।


देश की तरक्की के लिए गाय की रक्षा आवश्यक : तोगड़िया


सीतापुर, 19 अक्टूबर : भारत में गाय का रक्त बहना शर्मनाक है। गौ हत्या रोकने के लिए न केवल कठोर कानून बनना चाहिए बल्कि उस पर अमल भी कठोरता पूर्वक किया जाना चाहिए। ये बात विश्व हिन्दू परिषद के अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण तोगड़िया ने सोमवार को लालबाग पार्क में आयोजित शिव मंगलम गो-ग्राम यात्रा के स्वागत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि कही। उन्होंने कहा कि जिस गाय की पूजा हिन्दू समाज करता है, उसी गाय की हत्या की जा रही है जो चिंता का विषय है। उन्होंने गाय की उपयोगिता पर लोगों को बताया कि गाय का दूध व घी मनुष्य के शरीर के लिए अमृत है। जबकि गोबर फसलों के लिए सबसे ताकतवर खाद। उन्होंने कहा गाय का दूध जो पीता है उसका रक्त संचार शुद्ध रहता है। हृदय रोग की सम्भावना नहीं रह जाती। आंख की रोशनी बढ़ जाती है। अंधत्व से लोग बच सकते हैं। उन्होंने गो सेवा पर जोर देते हुए कहा कि जो लोग जहां भी हैं, कोशिश करें कि गाय का दूध ही लें, यदि गाय का दूध मिलना सम्भव न हो तभी भैंस का दूध लें। श्री तोगड़िया ने कहा कि सरकार रासायनिक खाद बनाने में करोड़ों खर्च करती है, जबकि यही खाद लोगों को रोगी बना रही है। हृदय रोगी बढ़ रहे हैं। लोग अंधत्व के शिकार हो रहे हैं। क्योंकि कीट नाशक भी रासायनिक पदार्थों से बन रहे हैं। उन्होंने लोगों को संकल्प दिलाया कि गो सेवा करेंगे, जान की बाजी लगाकर भी गाय की जान बचायेंगे। क्योंकि गाय का दूध व दही अमृत है। तीस सितम्बर को कुरुक्षेत्र से निकली विश्वमंगलम गो-ग्राम यात्रा विभिन्न जिलों का भ्रमण करती हुई सोमवार को हरदोई से सीतापुर पहुंची। नवीन चौक पर आरएसएस, विश्व हिन्दू परिषद, भाजपा कार्यकर्ताओं के अलावा तमाम आम लोगों ने भी मोटरसाइकिल रैली निकाल कर यात्रा का स्वागत किया। इसके बाद यात्रा लालबाग पार्क पहुंची। भैया दूज पर्व होने के कारण आज बाजार में भी सन्नाटा था। इसके बाद यात्रा के स्वागत समारोह में सैकड़ों लोग पहुंचे। हालांकि आयोजकों ने जितनी भीड़ होने का अनुमान लगाया जा था, वो सही नहीं निकला। सभा स्थल पर खाली पड़ी पचीस फीसदी कुर्सियां प्रवीण तोगड़िया की मौजूदगी में भी खाली रह गईं। बहरहाल इस अवसर पर यात्रा के कर्नाटक क्षेत्र के संयोजक सीताराम केदिलाय, राजस्थान के शंकर लाल, तमिलनाडु के राघवन, उत्तर भारत के यात्रा प्रमुख डा. दिनेश, स्वामी परमानन्द, स्वामी विज्ञानानन्द सरस्वती, संघ के क्षेत्रीय कार्यवाह राम कुमार , प्रचारक अशोक बेरी, प्रांच संयोजक सुरेश, क्षेत्र संयोजक नवल, योगेश, वीरेन्द्र सिंह, बद्री प्रसाद, विष्णू दीक्षित, प्रशांत, राजाराम, वृन्दारक, कृष्ण कुमार, लाल जी सिंह, आकाश अग्रवाल, के अलावा पूर्व सांसद जनार्दन मिश्र, भाजपा जिलाध्यक्ष ज्ञान तिवारी, इस कार्यक्रम के मुख्य आयोजक साकेत मिश्र, गणेश सत्त सारस्वत, रमापति अग्रवाल, सुमित शुक्ला, भानू प्रताप सिंह, उमाकांत मिश्र, महेश शर्मा, गोविन्द भारती आदि उपस्थित थे।
सिधौली संवादसूत्र के अनुसार विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा का सिधौली गांधी इण्टर कालेज के पास स्वागत किया गया। गांधी मैदान में आयोजित सभा में यात्रा में शामिल शंकराचार्य राघवेश्वर भारतीय का स्वागत बाबा प्रकाश चैतन्य नीर तथा मुरली दास ने किया। शंकराचार्य ने सम्बोधित करते हुए कहा गाय की सेवा और रक्षा करना सभी का कर्तव्य है। गाय हमारी संस्कृति की पहचान है। उन्होंने गाय रक्षा का सभी को संकल्प कराया। श्यामलाल शर्मा, साकेन्द्र वर्मा, वीएस शुक्ल, अंकित शुक्ला, महेन्द्र सिंह चौहान, अर्जुन त्रिपाठी, डा.ओपी पाण्डेय, उमाशंकर निगम, लक्ष्मी शंकर शुक्ल, नन्द किशोर, हरदयाल अवस्थी अवस्थी ने स्वागत किया।
अटरिया संवादसूत्र के अनुसार कस्बे में विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा का स्वागत किया गया। विजय शुक्ला, मुन्नालाल, रामासरे गुप्त, रामकुमार, सुनील, अंजनी, आशुतोष आदि ने शंकराचार्य का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित