शुक्रवार, 16 अक्तूबर 2009

जोश से चल रही है विश्व मंगल गोऊ ग्राम यात्रा

गाय से ही देश की समृद्धि संभव

आगरा। कान्हा ने बृज की जिस धरती पर गौपालन का संदेश दिया, उसी आगरा की भूमि पर बुधवार को आयी विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा। दिया गौ रक्षा का संदेश। कराया गौ रक्षा का संकल्प। यहां से यह यात्रा धौलपुर रवाना हो गयी।
जयपुर हाउस के रामलीला मैदान पर बुधवार को काफी भीड़ थी। 'गाय बचाओ देश बचाओ', 'गाय हमारी माता है', 'गौ रक्षा से किसान रक्षा' आदि नारे गूंज रहे थे। संस्कार भारती द्वारा बनाये गये चित्रों की प्रदर्शनी में गाय के महत्व पर प्रकाश डाला गया था। गौ भक्तों को संबोधित करते हुए साध्वी हेमलता ने कहा कि हिंदू गाय की रक्षा में हमेशा एकजुटता दिखाता रहा है। ऐसे में अब हर व्यक्ति को गाय की रक्षा में सबसे आगे आना होगा।
विख्यात कथा वाचक अतुल कृष्ण शास्त्री ने कहा कि गाय के दूध से बीमारियां नष्ट होती हैं। जितना महत्व वोटों का है, उतना ही गौरक्षा के लिए कराये जा रहे हस्ताक्षरों का है। प्रारम्भ में पूजन किया डा.दिनेश ने।
यात्रा में समिति के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष हुकुमचंद सांवला, विनायक राव देश पांडेय के अलावा बड़ी संख्या में लोग शामिल थे। भाजपा महानगर अध्यक्ष प्रमोद गुप्ता,मेयर अंजुला सिंह माहौर ने यात्रा का स्वागत किया।

ताज नगरी आगरा पहुंची विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा को भव्य स्वागत


आगरा, अक्तूबर १४ - विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा आज मथुरा से चलकर सुबह ११ बजे आगरा पहुंची । आगरा में यात्रा के भव्य स्वागत के लिए लोगों की लंबी कतारें लगी हुई थी । सभी लोगों ने फूल मालाओं की बरसात करके यात्रा का स्वागत किया । आगरा में जयपुर हाउस के रामलीला ग्राउंड में विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा के लिए आयोजित कार्यक्रम में कई साधु संतो के साथ शहर की महापौर अंजला माहौर भी उपस्थित थी । अंजला ने फूल माला पहनाकर यात्रा में आए साधु संतों का स्वागत किया । सभा में हजारों की संख्या में लोगों ने साधु संतों द्वारा आशीर्वचन प्राप्त कर गो संरक्षण व पालन हेतु संकल्प लिया ।
जनसभा को संबोधित करते हुए साध्वी हेमलता मुद्गल ने कहा कि गोमाता हमारी समस्त कामनाओं की पूर्ती करने वाली कामधेनु मां है, लेकिन जो मां हमारी सुख समृद्धि की दात्री है उन पर हो रहे अत्याचारों को देखते हुए भी हम सब मूक बने हुए है, यह शर्मनाक है । उन्होंने कहा कि संसार में मानव हर वस्तु पसंद के आधार पर प्राप्त कर सकता है । किंतु मां बाप पसंद कर के नहीं प्राप्त होते वें तो परमात्मा की देन है । उसी तरह गाय भी हमारी मां है लेकिन फिर भी हम देशी विदेशी गाय की पसंद करते हैं । यह अत्यंत दुखद है ।
साध्वी ने कहा कि आज जरूरत है कि प्रत्येक मानव के हृदय में गोमाता के प्रति पहले जैसा प्रेम, आस्था और श्रद्धा हो तभी गोपालन में वृद्धि और गोहत्या बंद होगी । उन्होंने पश्चिमी सभ्यता को देश की संस्कृति के खिलाफ बताते हुए कहा कि हम आधुनिक होने के लालच में नकल करते करते असल की पहचान भुल चुके हैं । देशी गायों की नकल विदेशी गायों का पालन बंद कर हमें यह प्रयत्न करना है कि गो माता हमारे परिवार की सदस्या बनें ।
स्वामी विजय ब्रह्मचारी ने कहा कि गोमाता की नृशंस हत्या से देश का संत समाज अत्यंत दुखी है । भगवान श्री राम व गोपाल के इस देश में गो माता की हत्या अत्यंत दुखद व्यथा है और आज विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा के जरिए संत समाज जनमानस के सामने इस व्यथा को सुनाने आया है । उन्होंने कहा कि गोमाता की व्यथा को कोई भी मानव रक्षा की प्रवृत्ति रखने वाला व्यक्ति सुनकर थरथरा उठेगा ।
स्वामी विजय ने गोसंरक्ष्ण के लिए लोगों से अपील करतें हुए कहा कि देश में आज मातृशक्ति खतरें में है और जरूरत है एकत्रित होकर जीवनदायी मां के रक्षा करने की । उन्होंने कहा कि विश्व के कल्याण की कामना और मानव संस्कृति को मानने वाला केवल मात्र हिन्दू ही है ।
आगरा में कार्यक्रम की समाप्ति के बाद गोग्राम यात्रा का काफिला अपने अगले पडाव ग्वलियर मध्यप्रदेश के लिए निकला ।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित