गुरुवार, 15 अक्तूबर 2009

विश्व मंगल गोऊ ग्राम यात्रा - इक नई चेतना का संचार

'गौ संरक्षण के लिए आगे आएं


धौलपुर 14 october । गाय की हत्या मनुष्य हत्या के समान है। देश में गौ वंश की हत्या को रोकने एवं इनके संरक्षण के लिए लोगों को संगठित होकर आगे आना चाहिए। यह बात बुधवार को कृषि उपज मण्डी में पहुंची विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा के दौरान आयोजित सभा में वक्ताओं ने कहा। उन्होंने कहा कि गौ रक्षा एवं गौचर भूमि के संरक्षण के लिए कानून बनना चाहिए। साथ ही इसका कडाई से पालन हो सके इसके लिए सभी को मिलकर कार्य करना चाहिए।
इस दौरान स्वामी कैवल्यानंद ने कहा कि गौ माता मात्र पशु नहीं है। इसमें 33 करोड देवी-देवताओं का वास होता है। उन्होंने कहा कि गाय भारतीय संस्कृति की मूल आधार रही है। गाय से प्राप्त होने वाली हर वस्तु मानव जगत के लिए कल्याणकारी है। उन्होंने बताया कि गाय द्वारा जिस स्थान पर जुगाली की जाती है, उससे वहां का वास्तुदोष नष्ट हो जाता है। विश्व हिंदू परिषद के अखिल भारतीय सह महामंत्री विनायक देशपाण्डे ने कहा कि गाय की रक्षा के लिए लोगों को संगठित होकर आगे आने की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि गाय की रक्षा करने पर मनुष्य की आधी से ज्यादा समस्याओं का निस्तारण हो जाता है। उन्होंने इस दौरान विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा निकालने के उद्देश्य की जानकारी देने के साथ ही इसके महत्व को भी बताया। विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा के राष्ट्रीय सचिव शंकर लाल ने कहा कि देश में गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाना चाहिए। साथ ही इसके संरक्षण को लेकर सभी को विशेष रूप से कार्यकरना चाहिए। उन्होंने कहा कि गौ वंश से मिलने वाली हर वस्तु मनुष्य के लिए लाभकारी है। इस दौरान उन्होंने यात्रा के बारे में जानकारी दी।
गौकर्ण पीठ कर्नाटक के शंकराचार्य संत राघेश्वर स्वामी ने भी यात्रा के उद्देश्य एवं गाय के महत्व को बताते हुए सभी लोगों ने गाय के संरक्षण में आगे आने का आह्वान किया। इससे पूर्व शेरगढ के संत द्वारिकादास, संत स्वामी केवल्यानंद सरस्वती, बालकदास, केशवदास महाराज ने कामधेनु ध्वजा का आरोहण किया। साथ ही गाय की पुष्प मालाओं के साथ पूजा की गई। इस अवसर पर समिति अध्यक्ष रामदीन गर्ग, महासचिव नत्थीलाल शर्मा, संयोजक हितेंद्र त्यागी शिक्षाविद् अरविंद शर्मा, डॉ. आर.एस.गर्ग, पुरूषोत्तम शर्मा सहित कई लोग उपस्थित थे।
स्वागत की होड : विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा के धौलपुर पहुंचने पर लोगों ने उत्साह के साथ यात्रा का स्वागत किया। यात्रा में शामिल रथ में गाय के महत्व एवं उससे मिलने वाली वस्तुओं का प्रदर्शन किया गया। विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा का स्वागत करते हुए लोगों ने जानकारी भी प्राप्त की।
किया संकल्प : देश में गाय की स्थिति एवं इसके महत्व को जानने के बाद लोगों यात्रा में आयोजित सभा के दौरान गाय की रक्षा का संकल्प किया।


गाय से ही देश की समृद्धि संभव



आगरा। कान्हा ने बृज की जिस धरती पर गौपालन का संदेश दिया, उसी आगरा की भूमि पर बुधवार को आयी विश्व मंगल गौ ग्राम यात्रा। दिया गौ रक्षा का संदेश। कराया गौ रक्षा का संकल्प। यहां से यह यात्रा धौलपुर रवाना हो गयी।
जयपुर हाउस के रामलीला मैदान पर बुधवार को काफी भीड़ थी। 'गाय बचाओ देश बचाओ', 'गाय हमारी माता है', 'गौ रक्षा से किसान रक्षा' आदि नारे गूंज रहे थे। संस्कार भारती द्वारा बनाये गये चित्रों की प्रदर्शनी में गाय के महत्व पर प्रकाश डाला गया था। गौ भक्तों को संबोधित करते हुए साध्वी हेमलता ने कहा कि हिंदू गाय की रक्षा में हमेशा एकजुटता दिखाता रहा है। ऐसे में अब हर व्यक्ति को गाय की रक्षा में सबसे आगे आना होगा।
विख्यात कथा वाचक अतुल कृष्ण शास्त्री ने कहा कि गाय के दूध से बीमारियां नष्ट होती हैं। जितना महत्व वोटों का है, उतना ही गौरक्षा के लिए कराये जा रहे हस्ताक्षरों का है। प्रारम्भ में पूजन किया डा.दिनेश ने।
यात्रा में समिति के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष हुकुमचंद सांवला, विनायक राव देश पांडेय के अलावा बड़ी संख्या में लोग शामिल थे। भाजपा महानगर अध्यक्ष प्रमोद गुप्ता,मेयर अंजुला सिंह माहौर ने यात्रा का स्वागत किया.


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित