सोमवार, 27 दिसंबर 2010

हनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ में उमड़े श्रद्धालु 108 कुंडीय यज्ञ में दी आहुतियां, विश्व शांति की कामना की




प्रान्त प्रचारक माननीय विजय कुमार जी उधबोधन देते हुए

हनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ में उमड़े श्रद्धालु

108 कुंडीय यज्ञ में दी आहुतियां, विश्व शांति की कामना की

जैसलमेर हनमुंत शक्ति जागरण यज्ञ सोमवार को गांधी कॉलोनी स्थित आदर्श विद्या मंदिर प्रांगण में आयोजित किया गया। यज्ञ में भारी संख्या में धर्मप्रेमियों एवं साधु संतों ने शिरकत की। समारोह में संत दीपक साहेब, ब्रह्मपुरी महाराज, पोलपुरी महाराज, राजेश्वरानद महाराज, किशन महाराज एवं निर्मल पुरी ने शिरकत की। 108 कुंडीय यज्ञ में जोड़ो ने आहुतियां देकर राम मंदिर निर्माण एवं विश्व शांति की कामना की। इससे पूर्व संतों ने धर्म की रक्षा एवं सद्व्यवहार की सीख दी।

आसुरी शक्तियां हो रही हैं आक्रामक

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक के प्रांत प्रचारक विजय कुमार ने कहा कि भारत भूमि पर आसूरी शक्तियां दिन प्रतिदिन आक्रामक होती जा रही है। यह गौ माता एवं भारत माता को पीड़ा पहुंचा रहे है। गौ, ब्राह्मण एवं वेदों की रक्षा के लिए भारत भूमि के सपूतों ने अपना सर्वस्व न्यौछावर किया है। अगर गौ माता सुरक्षित नहीं रहेगी तो भारत भी सुरक्षित नहीं रहेगा। अगर भारत का अस्तित्व खतरे में पड़ा तो विश्वशांति तो कल्पना की बात बनकर रह जाएगी। आज भारत में रावण प्रकृति के लोग हावी हो रहे है। विश्व में मात्र दो देश ही हिंदू राष्ट्र माने जाते है बाकि देशों में ईसाई एवं इस्लाम का प्रभाव है। पाकिस्तान एक कृत्रिम रचना है। यह कोई सनातन रूप से पुराना देश नहीं है। पाकिस्तान आतंकवाद की फैक्ट्री और उद्योगों का संचालन करता है और भारत में आतंकवाद पाक से ही प्रेरित और पोषित है।

हिंदू आतंकवाद शब्द गढ़ा जा रहा है

भारत का राजनैतिक नेतृत्व मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए एवं वोट बटोरने की नीयत से हिंदू आतंकवाद का नया शब्द गढ़ रहा है। केवल सत्ता लोलुपता के खेल में कांग्रेस समस्त हिंदू समुदाय को आतंकवादी बता रही है। इससे ज्यादा देश का दुर्भाग्य क्या होगा। आज तथाकथित धर्मनिरपेक्षता का मतलब ही हिंदू विरोध एवं अपमान रह गया है। हिंदू समाज यह कदापि बर्दास्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि 100 करोड़ हिंदूओं की आस्था स्थल पर भव्य राम मंदिर निर्माण के कलिए संसद प्रस्ताव पारित करें तथा अवलिम्ब संपूर्ण भूमि मंदिर निर्माण के लिए हिंदुओं को सौंपे। मातृभूमि का विभाजन तो हिंदू समाज ने सहन कर लिया लेकिन राम जन्म भूमि का विभाजन कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा यहा विभाजन अस्वीकार्य है। रामदूत हनुमान इस संकल्प को पूरा करने की शक्ति प्रदान करेंगे।



source: http://epaper.bhaskar.com/epapermain.aspx?edcode=147&eddate=12/28/2010&querypage=4

राम मंदिर निर्माण के लिए की धर्मसभा





कलशयात्रा निकाली, 108 कुंडीय महायज्ञ

रोहट
राम जन्मभूमि निर्माण के लिए हनुमान जागरण शक्तिपीठ द्वारा सोमवार को अखिल भारत हिंदु महासभा के प्रदेशाध्यक्ष मदन सिंह भोपाजी व रामद्वारा के महंत सुरजनदास महाराज के सानिध्य में कस्बे में 108 कुंडीय महायज्ञ का आयोजन किया गया। विश्व हिंदु परिषद के रोहट प्रखंड अध्यक्ष केसरसिंह सिसोदिया ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए प्रत्येक गांव में 108 कुंडीय महायज्ञ किया जाएगा। सोमवार को सुबह दस बजे कस्बे के मठ से कलशयात्रा निकाली गई, जो बस स्टैंड, बाजार होते हुए मुख्य स्थान पर पहुंची, जहांं आयोजित यज्ञ में 108 जोड़ों ने भाग लिया। आयोजन में परमेश्वर जोशी, नेमी सिंह, केसरसिंह परिहार, मानाराम पटेल, पारस सेन आदि ने सहयोग किया।

सोजत.
संसद में कानून बनाकर श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के उद्देश्य को लेकर रविवार को नगर में 21 कुंडीय यज्ञ का आयोजन किया गया। स्थानीय जैतारणिया दरवाजा के बाहर माली समाज के पिचके में हनुमत शक्ति जागरण समिति सोजत के तत्वावधान में समारोह आयोजित किया गया। सीमा जनकल्याण समिति के प्रांतीय संगठन मंत्री नींबसिंह ने अपने संबोधन में देश के स्वाभिमान की रक्षा के लिए मंदिर निर्माण को आवश्यक बताया। विहिप जिला अध्यक्ष भंवरलाल जोशी एवं कार्यकर्ता अरविंद कुमार द्विवेदी ने बताया कि हवन में पं. राजेंद्र दवे एवं पांचाराम जोशी ने आहुतियां दिलवाई। कार्यक्रम में आरएसएस के जिला संघचालक डॉ. श्रीलाल सुथार, विहिप के जिला महामंत्री नरेंद्र टांक, बजरंग दल के जिला संयोजक अविनाश जांगिड़, हवन समिति के रामकिशोर राठौड़, मनोहरलाल सोलंकी, सोहन मेवाड़ा, मोहन जाट, कैलाश चांवला, सुगनसिंह बागोल, महेंद्र टांक, हिमांशु व्यास, दिनेश गहलोत आदि ने सहयोग दिया।


सादड़ी
संत राजा मोहननाथ कृपलानी शिव आश्रम सादड़ा ने कहा कि राम मंदिर निर्माण से ही भारत का भाग्योदय होगा, अत: सभी को संगठित होकर राम मंदिर निर्माण में सहयोगी बनने के लिए आगे आना होगा। श्री हनुुमत शक्ति जागरण महायज्ञ इसी सात्विक उद्देश्य के लिए किया जा रहा है।

कृपलानी स्थानीय आजाद मैदान में हनुमत शक्ति जागरण महायज्ञ के बाद आयोजित धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। रोकडिय़ा हनुमान चारभुजा के संत चंद्रशेखर स्वामी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को जन-जन का अभियान बनाने की आवश्यकता है। मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख महेंद्र दवे ने इस आंदोलन को भारतीय संस्कृति का परिचायक बताते हुए अपने स्व के जागरण करने का आह्वान किया। इस अवसर पर विहिप के प्रांतीय सत्संग प्रमुख अमृत परमार, विभाग मंत्री परमेश्वर जोशी, महेंद्र भारती, पूरण भारती, नारायण भारती, पद्म भारती, सूरज भारती, सदानंद गिरी, मनोहर भारती, भोलाराम आदि उपस्थित थे। संचालन विजयसिंह माली ने किया। धर्मसभा से पूर्व हनुमत शक्ति जागरण समिति के तहसील अध्यक्ष नैनाराम चौधरी व संयोजक हस्तीमल वैष्णव के नेतृत्व में साधु—संतों का स्वागत किया गया। विहिप के जिलाध्यक्ष संतोष शर्मा ने साधु-संतों का बहुमान किया। यज्ञ में श्रद्धालुओं ने आहुतियां देकर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होने की प्रार्थना की।


जोधपुर प्रान्त में कई स्थानों से - यज्ञ में उमड़ा जनसैलाब

रामगढ़ व नाचना में 51 कुंडीय यज्ञ व हिंदू सम्मेलन से माहौल धर्ममय हुआ

रामगढ़

कस्बे के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल के खेल मैदान में हनुमंत शक्ति जागरण समिति के तत्वावधान में रविवार को 51 कुंडीय महायज्ञ आयोजित किया गया। यज्ञ में 204 जोड़ों ने आहुतियां देकर देश में शांति, अमनचैन व भव्य राम मंदिर का निर्माण होने की कामना की। यज्ञ में दर्जनों गांवों के सैकड़ों श्रद्धालु मौजूद थे। हर समुदाय के लोगों ने यज्ञ में आहुतियां दी। यज्ञ में मौजूद साधु—संतों का ग्रामीणों व आयोजन समिति के पदाधिकारियों ने फूलमालाओं से तथा शॉल ओढ़ाकर स्वागत किया गया।

इस अवसर पर स्वामी प्रतापपुरी महाराज ने हिंदुओं को विश्वगुरु बताया तथा कहा कि वे आपस में झगड़ रहे हैं। महाराज ने कहा कि यह वह धरा है जहां गायों की रक्षा के लिए लोगों ने अपनी जान तक गवां दी। इस माटी में ऐसे शूरवीर पैदा हुए हैं जिनकी वीरगाथा सुनने से ही लोगों के रोंगटे खड़े होते हैं। प्रतापपुरी महाराज ने पन्नराज, पाबूजी के उदाहरण देकर लोगों को इस हनुमान यज्ञ में आहुतियां देने तथा देश, गायमाता, धरा के प्रति अपना कर्तव्य समझने पर जोर दिया।

इस अवसर पर स्वामी प्रतापपुरी महाराज सहित कमल भारती, सांवलाराम, निजानंद महाराज, संत गणपतराम, जिला संघ चालक त्रिलोकचंद खत्री, दौलतगिरी आदि मौजूद थे। मंच का संचालन केशरसिंह ने किया।

धर्ममय हुआ नाचना

नाचना में रविवार को हनुमत समिति जागरण के तत्वावधान में 51 कुंडीय यज्ञ व हिंदू सम्मेलन आदर्श विद्या मंदिर प्रांगाण मैदान में आयोजित किया गया। समारोह में शिवसुख महाराज आसेरी मठ, दीपक साहेब महाराज, क्षेत्र के संतों सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों मौजूद थे। यज्ञ में दौ सौ जोड़ों ने भाग लिया। यज्ञ के चलते नाचना रविवार को धर्ममय हो गया। कार्यक्रम के शुभारंभ में आयोजन समिति की ओर से संतों का स्वागत किया गया। इस दौरान जोधपुर प्रांत प्रचारक विजय कुमार ने कहा कि अपनी धरती धर्म की अध्यात्म की धरती है। लोगों के बलिदान से ही देश का हित होगा। जिला प्रचारक बाबूलाल ने कहा कि जब-जब धर्म की हानि होती है, तब-तब भगवान इस धरती पर अवतार लेते हैं। दीपक साहेब महाराज ने धार्मिक कार्य करने पर जोर दिया।

‘भगवा रंग त्याग का प्रतीक’

झाब

कस्बे में श्रीहनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ एवं हिन्दू सम्मेलन का आयोजन रविवार को राजकीय सीनियर विद्यालय में किया गया। इस दौरान भगवान राम के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर सम्मेलन का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूनासा महंत बाबूगिरी महाराज ने कहा कि समय की यह मांग है कि हिन्दू एकजुट हों। मंगलदास महाराज ने कहा कि भारतीय संस्कृति की जडें़ काफी गहरी है। इस संस्कृति का अनुसरण कई संस्कृतियों ने किया।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. प्रभुसिंह राठौड़ ने वर्तमान परिपेक्ष्य में संगठन की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि संगठन में ही शक्तिहै। राठौड़ ने कहा कि भगवा रंग त्याग और बलिदान का प्रतीक है। इसको आतंकवाद से जोडऩा ठीक नहीं है। राठौड़ ने कहा कि देश की रक्षा के लिए यह जरूरी है कि हिंदू एकजुट हो। उन्होंने कहा कि जब जब हिंदू कमजोर हुआ, असंगठित रहा तब देश को गुलामी का दंश झेलना पड़ा।

आज फिर राष्ट्र विरोधी शक्तियां सिर उठा रही हैं। इसलिए हिन्दुओं को संगठित होना होगा तभी इस देश कि संस्कृति को बचाया जा सकता है। सम्मेलन में भारतीय किसान संघ के प्रदेश मंत्री दलाराम चौधरी, भाजपा के दुर्गा राम चौधरी, दिनेश, गेनाराम मेघवाल, महेन्द्र सिंह चौहान, तगराज दर्जी, मनोहर सिंह व जयरूप सिंह सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन तहसील कार्यवाह गोपीलाल राव ने किया। कार्यक्रम में मंगलपुरी महाराज, देवाराम महाराज का सान्निध्य रहा। इससे पूर्व कलश यात्रा व झांकी निकाली गई, जो कस्बे के मुख्य मार्ग माधव चौक, प्रताप चौक, पीपली चौक से होते हुए विद्यालय पहुंचकर विसर्जित हुई। कलश यात्रा में बोरली, अणखोल, धरणावास, इटादा, देवड़ा की महिलाओं व युवतियों ने भाग लिया। कलश यात्रा में भगवान राम व शिव की झांकी आकर्षण का केन्द्र रही। सम्मेलन में पूनासा महंत बाबूगिरी महाराज, संतोषपुरी महाराज, मंगलपुरी महाराज व मंगलदास महाराज का सान्निध्य रहा।

हनुमंत शक्ति जागरण समिति की ओर से धर्मसभा का आयोजन

‘विश्वविख्यात है भारतीय संस्कृति’

आबूरोड

सदियों से भारत देश विश्व शांति व सद्भावना के लिए प्रसिद्ध है। भारतीय संस्कृति विश्वविख्यात है। यह विचार मानपुर स्थित दादूदयाल आश्रम में श्री हनुमंत शक्ति जागरण समिति की ओर से आयोजित धर्मसभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक प्रमुख नंदलाल जोशी ने व्यक्त किए। उहोंने कहा कि अमेरिका, चीन, रूस, ब्रिटेन सहित अन्य देशों के विद्वानों का मानना है कि भारत में कई संत आए और शांति का संदेश दिए। सऊदी अरब में मोरारी बापू की कथा होती है तो सभी सुनने जाते हैं। ओबामा 24 घंटे अपने साथ हनुमानजी की मूर्ति रखते हैं।

हाल ही में अमेरिका गए चीन के राजदूत ने भी कहा कि दो हजार वर्ष से एक भी सैनिक के बिना भारत ने अन्य देशों पर राज किया। राम मंदिर के निर्माण पर उहोंने कहा कि सर्वोच्च न्यायलय के फैसले से देश में नया उत्साह का संचार होगा। इससे पूर्व संत महेन्द्रदास ने कहा कि देश में धर्मान्तरण की प्रक्रिया चल रही है। इसको रोका जाना चाहिए। इसलिए सभी समाजबंधु संगठित रह कर कार्य करें। कार्यक्रम को तीर्थगिरी जी महाराज सहित अन्य ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम में जिला कार्यवाह अशोक चतुर्वेदी, एडवोकेट ईश्वर आचार्य, राजेन्द्र गोयल, विष्णु स्वरूप गर्ग, संतोष भारद्वाज, मधुसूदन सर्राफ, मनीष परसाई, सुरेश कोठारी, भूरा राम पुरोहित, भरत दायमा, सुरेश सैनी, सुबोध नारायण शर्मा, भरत पंडित, प्रवीन शर्मा, भगवानदास कुमावत, अर्जुन सिंह, आंदी व्यास, शर्मिष्ठा शर्मा, दुर्गेश शर्मा सहित अन्य लोगों के अलावा शहर व आसपास के श्रद्धालु उपस्थित थे।

महायज्ञ में ५१ जोड़ों ने दी आहुतियां

शिवगंज
आदर्श विद्या मंदिर स्कूल में रविवार को हनुमंत शक्ति जरागरण महायज्ञ के आयोजन में ५१ जोड़ों ने आहुतियां दीं। बाद में स्कूल परिसर में धर्मसभा आयोजित की गई। इसमें साधु-संतों एवं अतिथियों ने विचार व्यक्त किए। सभा में शिवगंज सहित आसपास के गांवों से आए सैकड़ों पुरुष, महिलाओं व बच्चों ने शिरकत की। धर्मसभा को जूना जाखोड़ा के संत भरत मुनि व बडगांव स्थित एकलिंग महादेव तीर्थ के संत सीताराम महाराज व अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक के प्रांत कार्यवाह श्याम ने संबोधित किया। इसमें उन्होंने कहा कि हिंदू समाज ही एकमात्र समाज है जो पूरे विश्व को संस्कृति व धार्मिकता की दिशा दे सकता है। आयोजन के प्रवक्ता नरेंद्रसिंह ने बताया कि महायज्ञ में हनुमानजी के नाम पर ग्यारह हजार आहुतियां दी गईं। इसमें अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मंगलकामना की गई। कार्यक्रम के प्रारंभ में साधु-संतों व अतिथियों को पुष्पहार पहनाकर आदर-सत्कार किया गया।

हवन का आयोजन

आबूरोड. श्री हनुमंत शक्ति जागरण समिति की ओर से रविवार सवेरे मानपुर दादूदयाल आश्रम पर यज्ञ व हवन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में हवन कुंडों पर पूजा अर्चना व आहुति के साथ राम मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प लिया गया। आयोजन में शहर व आसपास के श्रद्धालुओं ने बड़ी संख्या में भाग लिया। इससे पूर्व कलश यात्रा का आयोजन किया। कलश व शोभायात्रा में शहर समेत आसपास के गांवों की सैकड़ों बालिकाओं व महिलाओं ने भाग लिया।


हनुमानगढ़. सुख व समृद्धि की कामना के साथ यजमानों ने जब यज्ञ में आहूतियां डाली तो माहौल श्रद्धामय हो गया। मौका था हनुमत शक्ति जागरण समिति की ओर से रविवार को 108 कुंडीय यज्ञ का। टाउन के आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय में सुबह शहर के 108 सपत्निक जोड़ों ने यज्ञ में आहूतियां डाली। मुख्य यजमान पक्कासारणा के नंदलाल तायल व त्रिलोक चंद्र अग्रवाल थे। इस मौके पर हुई धर्म सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रांत सह संघ-चालक कैलाश भसीन ने कहा कि हवन में आहूतियां डालने से मनोकामना पूर्ण होती है। संघ चालक मोमन चंद मित्तल ने आयोध्या में मंदिर का संकल्प दोहराया। समिति के चेलाराम सुमरानी ने यज्ञ में भाग लेने वाले यमजमानों व अतिथियों का आभार जताया। इस मौके पर विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल,भारतीय किसान संघ, विद्या भारती सहित संघ परिवार ने सहयोग किया



यज्ञ महोत्सव की तैयारियां पूरी यज्ञ आज

जैसलमेर हनुमंत शक्ति जागरण समिति के तत्वावधान में आयोजित होने वाले 108 कुंडीय यज्ञ महोत्सव व हिंदू सभा की तैयारियां पूरीी कर ली गई है। नगर संयोजक योगेन्द्र व्यास ने बताया कि 108 कुंड पर 432 जोड़ों के वेदी में बैठने की व्यवस्था स्थानीय आदर्श विद्या मंदिर, गांधी कॉलोनी के प्रांगण में आयोजित की जाएगी। दोपहर 12.15 बजे शिवबाड़ी बीकानेर के संत सोमगिरी महाराज के सानिध्य में यजमान जोड़ें अपने परिवार व देश की सुख समृद्धी एवं कल्याण के लिए यज्ञ में आहुतियां देंगे। यज्ञ स्थल पर सभी कार्य समितियों का गठन कर सम्पादित करने की व्यवस्था की गई है। जिसमें पार्किंग, जलपान, हवन सामग्री, पूजा स्थली, साज सज्जा, वेदी व्यवस्था आदि प्रमुख है। यहमान जोड़े सुबह 11.30 बजे से पूर्व आकर अपना नाम पंजीयन करवा लेवें। जिनका पंजीयन हो चुका है वे जोड़े भारतीय पारंपरिक वेशभूषा में व अपने साथ गमछा व सिर पर पगड़ी जरुर लेकर आवें। जिला संयोजक डॉ. दाऊलाल शर्मा ने बताया कि राममंदिर के भव्य निर्माण का जो मार्ग प्रसस्त हुआ है यह सभी हनुमंत शक्ति को जागृत करने से हुआ है। इसके निमित 108 कुंडीय यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने अपील की है कि इस आयोजन में भाग लेकर यज्ञ में आहुती देने का लाभ उठावें।


पोकरण हनुमत शक्ति जागरण अभियान के समापन के अवसर पर 31 दिसम्बर को दोपहर 12 बजे से 108 कुण्डीय यज्ञ होगा। इस अवसर पर आयोजित धर्म सभा को तारातरा मठ संत स्वामी प्रतापपुरी महाराज सम्बोधित करेंगे। यज्ञ एवं धर्म सभा आयोजन समिति के संयोजक एडवोकेट जुगलकिशोर व्यास ने बताया कि इस अवसर पर परेऊ मठ के महंत ओंकार भारती एवं खुहड़ी स्थित ईसर ठिकाणे के महंत दीपक साहेब भी धर्म सभा को सम्बोधित करेंगे। व्यास ने बताया कि फलसूंड रोड पर स्थित आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय में दोपहर १२ बजे धर्म सभा का आयोजन होगा। इसके समापन के पश्चात १०८ कुण्डीय यज्ञ में सैकड़ों जोड़े आहूतियां देकर यज्ञ सम्पन्न करेंगे। यज्ञ एवं धर्म सभा को सफल बनाने के लिए शहर सहित पोकरण तहसील क्षेत्र में अलग अलग टीमों का गठन कर इसका प्रचार प्रसार प्रारंभ कर दिया है।

शुक्रवार, 24 दिसंबर 2010

पाकिस्तान में हिंदू धर्म गुरु का अपहरण, फूटा हिंदुओं का गुस्सा

इस्लामाबाद.पाकिस्तान में हिंदुओं के धार्मिक नेता लखीचंद गर्जी का अपहरण कर लिया गया है। वे बलूचिस्तान प्रांत के कलात जिले में स्थित काली माता मंदिर से जुड़े हुए हैं। उनके अपहरण की घटना के खिलाफ हिंदू समुदाय के लोगों ने कई जगहों पर प्रदर्शन किए।

85 वर्षीय लखीचंद एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए कलात से खुजदार इलाके की ओर जा रहे थे। उनके साथ कुछ और लोग भी थे। अज्ञात सशस्त्र लोगों ने उन्हें रास्ते में रोका और लखीचंद व अन्य लोगों को अगवा कर लिया। हालांकि अपहर्ताओं ने फिरौती की रकम मिलने पर उनमें से एक को छोड़ भी दिया।

अपहरण की घटना के खिलाफ बुधवार को कलात और अन्य स्थानों पर सैकड़ों हिंदुओं ने प्रदर्शन कर सड़कें जाम कर दीं जिसकी वजह से यातायात बाधित हुआ। प्रदर्शनकारी लखीचंद को तुरंत छुड़ाने की मांग कर रहे थे।

प्रदर्शनकारियों ने बलूचिस्तान के खुजदार, क्वेटा, कलात और नौशकी में अपहरण के विरोध में प्रदर्शन किए और सरकार से लखीचंद की सुरक्षित रिहाई तुरंत करवाई जाए और हिंदू समुदाय को सुरक्षा मुहैया कराई जाए। खुजदार में विरोध कर रहे हिंदुओं को संबोधित करते हुए नंद लाल, राजकुमार और चंदर कुमार ने कहा कि सरकार आम लोगों खासकर अल्पसंख्यकों की ज़िंदगी और उनकी संपत्तियों की सुरक्षा करने में नाकाम रही है। क्वेटा की हिंदू पंचायत ने आर्य समाज मंदिर से एक रैली निकाली। यह रैली जिन्ना रोड, मस्जिद रोड, शाहरा-ए-इकबाल और मन्नान चौक होते हुई गुजरी।

बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री नवाब मोहम्मद असलम रायसैनी ने पत्रकारों से कहा कि उनका मानना है कि यह अपहरण फिरौती के लिए किया गया है और इसका कोई धार्मिक कारण नहीं है। रायसैनी ने कहा कि उन्होंने पुलिस को लखीचंद की जल्द से जल्द रिहाई कराने के निर्देश दिए हैं।


हिंदुओं पर हो रहा अत्याचार


पाकिस्तान में हिंदुओं की आबादी करीब दो फीसदी है। लेकिन अल्पसंख्यक समुदाय के साथ बहुसंख्यक अच्छा बर्ताव नहीं करते हैं। कई हिंदू परिवारों को अपना पुश्तैनी घर छोड़ने और मंदिर को तोड़े जाने के फरमान जारी होते रहते हैं। पेशावर जैसे कई शहरों में ऐसे फरमान जारी हो चुके हैं। हिंदु लड़कियों का अपहरण करके उनके साथ जबर्दस्ती शादी करने और धर्म परिवर्तन की कई घटनाएं हो चुकी हैं। यही वजह है कि १९४८ में पाकिस्तान में जहां हिंदुओं की आबादी करीब १८ फीसदी थी, वही अब घटकर करीब दो फीसदी हो गई है।

source : http://www.bhaskar.com/article/INT-hindu-holy-mans-kidnap-in-pakistan-triggers-protests%E2%80%8E-1686095.html?HT4=

सोमवार, 20 दिसंबर 2010

राम मंदिर निर्माण के प्रति संकल्प व्यक्त

जाग्रत और एकजुट हो समाज

राम मंदिर निर्माण के प्रति संकल्प व्यक्त करने के लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और उसकी सहयोगी संस्थाओं द्वारा हनुमत शक्ति जागरण समिति के बैनर तले शहर में वाहन रैली व कलश यात्रा निकाली और जेलवैल स्थित खरनाड़ा मैदान में 108 कुण्डीय महायज्ञ तथा धर्मसभा का आयोजन किया गया

शहर में वाहन रैली और कलशयात्रा, खरनाड़ा मैदान में 108 कुण्डीय महायज्ञ और धर्मसभा

बीकानेर.

भगवा ध्वज की अगवाई में जैकारे लगाते मोटरसाइकिल सवार और कलश लिए कतारबद्ध चल रही मंगलगीत गाती सजी-धजी महिलाएं। यह नजारा केवल एक जगह नहीं बल्कि शहर की कई सड़कों पर दिखाई दिया।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, विश्व हिन्दू परिषद व उसकी सहयोगी सहयोगी संस्थाओं द्वारा रविवार को राष्ट्रव्यापी आह्वान पर राममंदिर निर्माण संकल्प को लेकर हनुमत शक्ति जागरण समिति के बैनर तले शहर में तीन अलग-अलग जगहों से वाहन रैलियांं निकाली गईं। हाथ में भगवा ध्वज लिए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की विचारधारा से जुड़े ये मोटरसाइकिल सवार जनेश्वर पार्क, तीर्थ स्तम्भ और डूंगर कॉलेज से रवाना हुए। रैली में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता भी शामिल थे। तीनों वाहन रैलियां जय श्रीराम और हिन्दू एकता का नारा लगाते हुए खरनाड़ा मैदान पहुंंची, इसी प्रकार लक्ष्मीनाथजी नगर, मार्कण्डेय नगर क्षेत्र सहित तीर्थ स्तम्भ से महिलाओं की कलश यात्रा रवाना हुईं और खरनाड़ा मैदान पहुंची। यहां पर हुए 108 कुण्डीय महायज्ञ में समाज के लोगों ने राम मंदिर निर्माण के लिए हनुमानजी की शक्ति जाग्रत करने का संकल्प लिया। यज्ञ में ब्रह्मचर्य आश्रम के साधकों के साथ विभिन्न संस्थाओं के कार्यकर्ताओं ने सहयोग किया। महायज्ञ के बाद धर्मसभा आयोजित की गई। धर्मसभा को मुख्य वक्ता रैवासा पीठाधीश्वर राघवाचार्यजी महाराज तथा मुकाम पीठाधीश्वर रामानंदजी महाराज, संत प्रतापपुरीजी व आरएसएस के प्रांत संघ चालक भंवरलाल कोठारी ने संबोधित किया। वक्ताओं ने सामूहिक रूप से इस बात पर चिंता व्यक्त की कि समाज अब भी नहीं जागा तो सनातन संस्कृति संकट मेें पड़ सकती है। उन्होंने इसके लिए ऊर्जा और सद्बुद्धि से ही पुनर्जागृति लाने की बात भी कही। संघ के विभाग प्रचारक निम्बाराम ने कार्यक्रम की प्रस्तावना और पृष्ठभूमि पर प्रकाश डाला। विहिप के संभाग अध्यक्ष सुभाष जोशी ने धर्मसभा में आए जनसमूह और संतों का आभार व्यक्त किया।
source:
http://epaper.bhaskar.com/epapermain.aspx?edcode=191&eddate=12/20/2010&querypage=4


भारतीय हिस्सा हड़पने की चीन की मंशा!

भारतीय हिस्सा हड़पने की चीन की मंशा! -

शुक्रवार, 17 दिसंबर 2010

जोधपुर - विराट धर्मं सभा एवम महायज्ञ संपन्न

source: http://epaper.patrika.com/final/english.php?edition=Jodhpur
महायज्ञ तथा विराट धर्म सभा मंच का इक दृश्य
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचारक प्रमुख माननीय नन्द लाल जी जोशी "बाबाजी"

महायज्ञ का इक दृश्य

जोधपुर. साध्वी ऋतंभरा ने देश में बढ़ते आतंकवाद पर चिंता जताते हुए कहा कि जेहादी आतंकवाद अब पूरे विश्व के लिए बडा खतरा बन चुका है।

अगर समय रहते तुष्टिकरण की राजनीति से ऊपर उठकर इस गंभीर विषय पर सोचना प्रारंभ नहीं किया गया तो यह समस्या हमारे देश में विकराल रूप धारण कर लेगी। गांधी मैदान में शुक्रवार को आयोजित धर्मसभा में साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि रामजन्म भूमि का आंदोलन राजनीतिक आंदोलन नहीं था। यह तो सब कुछ रामलला की मर्जी पर ही निर्भर था। यह किसी संस्था या किसी पार्टी के बस की बात नहीं है। अब तो हाईकोर्ट ने भी पुष्टि कर दी है कि रामलला जहां विराजमान हैं वही रामजन्म भूमि है।

न्यायालय के इस ऐतिहासिक निर्णय के बाद संपूर्ण समाज ने समझादारी का परिचय दिया तथो पूरे देश में एक भी साप्रदायिक घटना नहीं होने दी। इससे बड़ा सांप्रदायिक सद्भाव और क्या होगा। न्यायालय ने भी कह दिया कि गर्भगृह की भूमि भगवान राम की जन्म स्थली है। अब मुस्लिम समाज को भी पहल करते हुए पूरी जमीन हिन्दू समाज को सौंपने के लिए आगे आना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो देश न केवल एकता के सूत्र में बंध जाएगा, अपितु विदेशी ताकतों के भी हौसले पस्त हो जाएंगे।

साध्वी ने कहा कि देश में जब मंडल आयोग की वजह से जातिवाद की आग लगी थी तब संतों ने राम नाम की बयार चलाई। भले ही किसी राजनीतिक पार्टी ने इसका पक्ष लेकर या विरोध करके अपनी राजनीति की रोटियां सेकी होंगी, लेकिन वास्तव में यह आंदोलन उन राष्ट्रभक्तों के हृदय की वेदना थी जो रामलला के भव्य मंदिर को मूर्त रूप लेते देखना चाहते थे। उन्होंने धर्मप्रेमियों को मंदिर निर्माण में अपनी भागीदारी निभाने की अपील करते हुए कहा कि राम मंदिर के निर्माण का आधे से अधिक काम पूरा हो चुका है और जल्द ही यह पूर्ण भी होगा।


असली आतंक से ध्यान हटाने की कोशिश

साध्वी ऋतंभरा ने कहा, संत समुदाय संसद में कानून बनाकर रामजन्म भूमि हिंदुओं को सौंपने के लिए केंद्र पर दबाव बनाएगा

साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि राहुल गांधी देशभर में पाकिस्तान की शह पर फैले आतंकवाद से ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हंै। हिंदूवादी संगठनों को भगवा आतंकवादी बताना उनकी तुच्छ मानसिकता का परिचायक है। साध्वी ने शुक्रवार को यहां पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि कुछ राजनीतिक दल तात्कालिक लाभ उठाने की लालसा में अपने देश को गर्त में धकेलने का कुत्सित प्रयास कर रहे हैं। अपने मूल आदर्श से भटकने वाले राजनेता यह क्यों नहीं सोचते कि वे स्वयं भी हिन्दुस्तानी हैं। वैसे भी हिंदुओं में शत्रुता का भाव नहीं होता है। परंपरा के विपरीत चलने वाले रावण का पुतला हिंदू समाज हर साल जलाता है। इससे सिद्ध होता है कि हिंदू समाज में अनीति का कोई स्थान नहीं है। रामजन्म भूमि पर हाईकोर्ट के फैसले के संबंध में साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि कोर्ट ने तो मान लिया है कि यह स्थान ही रामजन्म भूमि है। इसलिए देश के सभी मुस्लिम संगठनों को भी सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल कायम करते हुए पूरी जमीन हिन्दू समाज को सौंप देनी चाहिए। यह मामला अब सर्वोच्च न्यायालय तक पहुंच चुका है, इसलिए अब सरकार के पास एक मौका है कि वे एक कानून बनाकर पूरी रामजन्म भूमि हिन्दू समाज को सौंप दे। यह किसी राजनीतिक पार्टी का मुद्दा नहीं, बल्कि पूरे हिन्दू समाज की आस्था से जुड़ा मामला है। साध्वी ने कहा कि संत समुदाय इसके लिए केंद्र पर दबाव बनाएगा.

शोभायात्रा में गूंजे जय श्रीराम के जैकारे

ग्राम पंचायत मुख्यालय के सनावड़ा में शुक्रवार को हनुवंत शक्ति जागरण के तहत रैली निकाली गई। रैली के दौरान ग्रामीण जय-जय सियाराम, जय श्रीराम के जैकारे लगाते हुए उत्साह से चल रहे थे। रैली में ढोल-नगाड़ों की गूंज के बीच भक्तों का उत्साह देखते ही बनता था। रैली में बड़ी संख्या में महिला-पुरु ष सहित युवा शामिल थे। रैली में शामिल ग्रामीणों का कई जगह फूल माला पहना कर स्वागत किया गया।

राम भक्तों को संबोधित करते हुए विश्व हिंदू परिषद बाड़मेर के जगदीश खत्री ने कहा कि जन्म से मृत्यु तक राम-राम करते हैं। देश में एकता नहीं होने से श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर नहीं है। छतूमल सिंधी ने कहा कि भगवान श्रीराम जन-जन की आस्था के केंद्र है। भगवान राम की जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए संघर्ष चल रहा है। हनुमंत शक्ति समिति के अध्यक्ष खीयाराम जाखड़, शंकरलाल देवपाल, डूगराराम सारण, हेमंत सारण एवं राणाराम सहित बड़ी संख्या में समिति के कार्यकर्ता रैली में शामिल थे। रैली के बाद हनुवंत शक्ति जागरण कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसकी शुरुआत अतिथियों को माला पहनाकर उनका स्वागत कर की गई।चेलाराम ने कहा कि केंद्र सरकार संसद में प्रस्ताव पारित कर अयोध्या में राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए मार्ग प्रशस्त करें। राम भक्तों को संबोधित करते हुए गंगाविशन ने कहा कि संगठित हिंदू समाज के बिना हिंदू राष्ट्र की कल्पना भी नहीं की जा सकती। खेताराम ने कहा कि जहां राम लला है वहीं भगवान राम का मंदिर बने। खीयाराम जाखड़ ने कहा कि राम मंदिर का मुद्दा करोड़ों हिंदुओं की आस्था का केंद्र है। महंत मोटनाथ, दुर्गसिंह, महेश भूतड़ा कैप्टन खुमान सिंह, त्रिलोक सिंह, मानाराम पूर्व सरपंच बाछडाऊ, हरखाराम साई कगाऊ, डूंगराराम सियाग, लूणकरण बोथरा, जेठाराम सियाग, हेमंत सारण सरपंच, रुघपुरी स्वामी, सोहनलाल जैन, थानाराम देवपाल, शंकलाल देवपाल, राणाराम, गेनाराम सहित ग्रामीण मौजूद थे .

हिंदू सम्मेलन कल मोटरसाइकिल रैली आज

भीनमाल. अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर रविवार दोपहर डेढ़ बजे कचहरी रोड विद्यालय प्रांगण में विराट हिंदू सम्मेलन व श्रीहनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम के तहत शनिवार को नगर में मोटर साइकिल रैली निकाली जाएगी। अशोकसिंह ओपावत ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का संकल्प पूरा करने के लिए कानून बनाने को लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के उद्देश्य से रविवार दोपहर डेढ़ बजे विशाल हिन्दू सम्मेलन का आयोजन जैनमुनि ज्योतिष सम्राट ऋषभचंद्र विजय, पूनासा महंत बाबूगिरी महाराज, भाडू महंत शिवगिरी महाराज, गजीपुरा महंत प्रेमभारती महाराज, करड़ा महंत काशीनाथ महाराज, पादरा महंत मंगलगिरी महाराज, बीठन महंत दर्शनगिरी महाराज, कंतोरियां हनुमानजी मंदिर रामसीन महंत मंगलदास महाराज, जैनमुनि पियुषचंद्र विजय और रजतचंद्र विजय महाराज के सान्निध्य में होने वाले विराट हिन्दू सम्मेलन के मुख्य वक्ता आरएसएस राजस्थान के क्षेत्रीय सह संपर्क प्रमुख प्रकाशचंद्र गुप्ता होंगे। कार्यक्रम को लेकर हिन्दू संगठनों द्वारा तैयारियां जोरो पर चल रही हं.

मंगलवार, 14 दिसंबर 2010

ग्रामीणों ने गोऊ मूत्र से बनाया कीटनाशक

nks lkS #i, yhVj dh ykxr okys bl uq[ls ls ckSuh lkfcr gks jgh daifu;ka

neksg% balu vxj dqN Bku ys rks og D;k ugha dj ldrkA oSlh Hkh Hkkjr ns esa vfr izkphu i)fr;ksa dk dksbZ fodYi ugh gSA vk/kqfudrk dh nkSM+ esa ,oa fons'kh daifu;ksa ds yqHkkous oknksa ds lkFk ns'k [krh dk D;k gky gks x;k gS lc tkurs gSaA fdlku tgka vfFkZd :i ls detksj gksuk 'kq: gks x;k gS rks ogha nwljh vksj [ksrksa esa Mkys tkus okys egaxs dhVuk'kdksa dk izHkko dhVksa ij de tehu ,oa balkuksa ij T;knk iM+rk ns[kk tk ldrk gSA

dhVuk'kd daifu;ksa dks Bsaxk fn[kkus ds fy, ,slk twuwu e/;izns'k ds neksg ftys ds xzke ikyj ds fdlkuksa ij lokj gqvk fd mUgksaus xkS ew= ls dhVuk'kd cuk MkykA vc os bu cM+h daifu;ksa dks dM+h pqukSrh nsus esa dksbZ dksj dlj ugha yxk jgs gSa] ftlesa mUgs tgka [ksrh esa equkQk gks jgk gSa ogha egaxs dhVuk'kdksas ds izHkko ls tehu dks gksu okys uqdlku ls Hkh futkr feyh gSA ftyk eq[;ky; ls ek= chl fdyksehVj nwjh ij fLFkr ikyj xzke esa dke/ksuq uked lfefr esa 'kkfey yxHkx nks ntZu ls vf/kd xzkeh.kksa us viuh&viuh xk;ksa dk ew= ukfy;ksa ds lgkjs laxzg djrs gSa vkSj feV~Vh ds ?kM+s esa yxHkx 20 yhVj ew= cs'kje ds iRrs] vdkSvk ds iRrs] uhe ds iRrs] rqylh ds iRrs] /krqjs ds Qyksa dks ,d fuf'pr vuqikr esa feykdj ik= dks tehu esa xkM+ nsrs gSaA chl fnuksa ckn mls tehu ls fudkydj ydM+h ls tyus okys pqYgs ij ,d i= esas j[kdj mcky dj mls lhfl;ksa esa Hkj dj j[k fn;k tkrk gSA mDr ns'kh dhVuk'kd dk [ksrksa esa fNM+dko fd;k tkrk gSA blesa Qlyksa ds dhV iraxs vkfn iw.kZr% u"V gks tkrs gSaA

xkao ds f'k{kd vkSj fdlku izgykn iVsy us crk;k fd vkt nkSj esa daifu;ksa ds dhVuk'kd egaxs rks gSa gh lkFk gh og dhVksa ij viuk izHkko rks ugha NksM+rs gka fdlkuksa dks vkfFkZd :i ls detksj t:j cuk nsrs gSaA ;g dhVuk'kd tehu dks tgjhyh vkSj catj cuk nsrs gSaA tcfd gekjk dhVuk'kd lLrk vkSj dkjxj gSA Jh iVsy us crk;k fd ge ns'kh dhVuk'kd FkksM+h lh esgur ls fufeZr dj ysrs gSaSA vc rks fdlku [kjhnh dj vius [ksrksa esa fNM+dko djus yxs gSa vkSj og dkQh izlUu gSaA

xkao ds fdlku cStukFk iVsy] lq[kuanu] Hkkses'oj] xksfoanh iVsy] us dgk fd daiuh ds dhVuk'kd nl ls ianzg gtkj #i, yhVj ewY; ij cktkj esa feyrk gSA ftlls Qlykssa ds dhV u"V ugha gksrs gSaA tcfd bl ns'kh uq[ls esa ek= nks lkS #i, esa ,d yhVj rS;kj gks tkr gSA ftldkss Ms<+ ls nks ,dM+ ds jdos esa fNM+dko fd, tkus ls dhV iwjh rjg ls u"V gks tkrs gSaA bl uqL[ks ls fdlkuksa dh cpr vf/kd gksxh ogha mUgs [ksrh dk;Z esa vkfFkZd ykHk Hkh vf/kd gksxkA

विश्व संवाद केंद्र, भोपाल

1008 यजमान महायज्ञ को लेकर गांधी मैदान में भूमि पूजन


जोधपुर . आयोध्या में राम मंदिर निर्माण के संकल्प को लेकर हनुमंत शक्तिजागरण समिति की ओर से 17 दिसंबर को गांधी मैदान मे आयोजित होने वाले 1008 यजमान महायज्ञ को लेकर सोमवार को संतों एवं समिति के सदस्यों ने भूमि पूजन किया।

समिति के अध्यक्ष गणपतसिंह राजपुरोहित ने बताया कि 17 दिसंबर को गांधी मैदान में आयोजित होने वाले महायज्ञ एवं साध्वी ऋतंभरा की धर्म सभा को लेकर शुरू की गई तैयारियों के चलते सोमवार को भूमि पूजन किया गया। इस मौके पर संत अमृताराम, हरीराम शास्त्री, तरुणनाथ, घनश्याम ओझा, दामोदर बंग, ईश्वर चांडक, अनिल गोयल, महेंद्रसिंह राजपुरोहित आदि ने कार्यक्रम की सफलता के लिए कामना की। समिति के महामंत्री डॉ.गोविंद सोनी ने बताया कि धर्म सभा के सफल आयोजन के लिए विभिन्न समाजों के लोगों की भागीदारी सुनिश्चत करने के लिए बैठकों का आयोजन शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि पटेल समाज के धर्मगुरु दयाराम महाराज ने शिकारपुरा राजाराम आश्रम में समाज के प्रमुखों की बैठक लेकर महायज्ञ में भाग लेने के लिए लोगों का पंजीयन किया है। इसके अलावा समिति ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जनसंपर्क कार्यक्रम को गति दी है।

पाकिस्तानी फौज के कत्ल-ए-आम के विरोध में फूटी थी बगावत की चिंगारी - bangladesh emerged after havock on east pakistan b - www.bhaskar.com

पाकिस्तानी फौज के कत्ल-ए-आम के विरोध में फूटी थी बगावत की चिंगारी - bangladesh emerged after havock on east pakistan b - www.bhaskar.com

सोमवार, 13 दिसंबर 2010


source : http://epaper.bhaskar.com/epapermain.aspx?eddate=12/13/2010&edcode=147

दिग्विजय का बयान शर्मनाक - मान. प्रकाश चन्द्र , सह क्षेत्रीय संपर्क प्रमुख



strot : http://epaper.patrika.com/final/english.php?edition=Jodhpur

स्व को भूलना ही हिन्दू का पतन : डॉ. मोहन भागवत





नागपुर। इस देशपर सैकड़ो आक्रमण हुए है। इन में कई बार हिंदुस्तान का पराजय भी हुआ है। फिर भी यह राष्ट्र नए सिरे से उसी दमखम के साथ खड़ा हो जाता हैं। इसके पीछे कौंनसी शक्ति काम करती हैं। इसकी तलाश बाहरी आक्रमणकारियों ने की तब उनको पता चला की इस देश का, हिंदुओं का जो स्व हैं, जो आत्मा हैं उसको तोड़ना होगा और इका आत्मा जो हैं वह राम हैं, यहां के मंदिर हैं। इन्हे तोड़ना होगा तभी जाकर यह हिंदुस्थान बिखरेगा और आज वही हो रहा हैं।

सरसंघचालक मोहन भागवत ने विशाल हिन्दू सम्मेलन को संबोधित करते हुए आज यह शब्द उच्चारे। रेशिम बाग स्थित १२ दिसंबर को हनुम शक्ति जागरण समिति की ओर से आयोजित विशाल हिन्दू सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इस सम्मेलन में प. पू. नरेन्द्राचार्य महाराज, नाणिज, रत्नागिरी और देश भर के शीर्ष संत-महंत गण उपस्थित थे।

मोहन भागवत ने बताया आज १२ दिसंबर का दिन इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इसी दिन बंबई में स्वदेशी आंदोलन में प्रथम आहुति बाबू गेनू ने दी थी। स्व के लिए दी गई यह आत्माहुति थी। उन्होंने बताया हमारे देश में स्वत्व का ही दमन हो रहा हैं। हमारी प्रकृति क्या हैं? हमारा स्वभाव क्या हैं? इससे हम चूक रहे हैं। कश्मीर विवाद अपने स्व के विस्मरण का उमदा उदाहरण हैं। ऐसी बात उन्हों ने उपस्थित जाना समुदाय को बताई।

राम लाला की भूमि पर विवाद पैदा कर इसका बंटवारा करना इसी स्वत्व का नाश करना हैं। भारत का स्वत्व उसके मंदिर हैं। यहां के संत हैं और कट्टरपंथियोंने इसी बात को निशाना साधते हुए मंदिर तोड़ने का और संतो का तेजोभंग करने का षड्यंत्र रचा हैं। इसीलिए हिन्दू जनता से मेरा अनुरोध हैं कि वे एकजुट हो कर इन षड्यंत्रकारियों के झांसे में न जाकर भव्य राममंदिर निर्माण में सहयोग करें।

वही प. पू. नरेन्द्राचार्य महाराज ने जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि हिन्दू आज जागृत नहीं हुआ तो अनेवाले १० साल में हिंदुओं पर यह परिस्थिति आनेवाली हैं एक तो सुंता नहीं तो बाप्तिस्प्मा। रामजन्मभूमी का बंटवारा करना यह सरकार का षड्यंत्र हैं। क्योंकि बंटवारा करने से समस्या का हल नहीं होता। राजनीतिज्ञों को राजनीति करने का अच्छा अवसर इन बंटवारों से मिलता हैं। उन्होंने बताया लोग कृष्णराज्य, विष्णुराज्य या शिवराज्य की मांग नहीं करते वे रामराज्य की ही मांग करते हैं। उन्होंने हिन्दू समाज युवाओंकों फिर से राम का काम करने के लिए हनुमान की भूमिका निभाने का आवाहन किया हैं।

नरेन्द्राचार्यजी महाराज ने हिंदुओं को अपनी वोट बैंक बनाने के लिए कहा हैं। जब तक हिन्दू संघटित नहीं होते तब तक उनके श्रद्धास्थानों को कट्टरवादी ध्वस्त करते रहेंगे। आज संघटित होने का वक्त आ गया हैं। उन्होंने हिंदुओंके धर्मांतरण पर नाराजी जताते हुए कहा कि गरीबी धर्मांतरण का कारण नहीं हो सकती। अन्यथा सभी धर्म कि गरीब जनता अपना धर्म बदलती।

जाती पर आधारित आरक्षण नहीं होना चाहिए, समाज की आर्थिक स्थिति पर आरक्षण होना आवश्यक हैं ऐसा भी उन्होंने बताया। मंच पर नारायण बाबा, स्वामी बहमानन्दजी महाराज, विष्णुजी व्यास, मोहन महाराज कठाले, श्रीरामपंत जोशी, विजयस्वरूपनन्दजी महाराज, भंते रावजी पिण्डक, रामकृष्ण पौनीकर, सदाशिवराव मोहाडीकर, अनंतशेष प्रभू, कल्यानंदजी महाराज, महापौर अर्चना डेहणकर प्रमूखता से उपस्थित थे।

सरसंघचालक मोहनजी भागवत का स्वागत हनुमत-शक्ति जागरण समिति के विदर्भ अध्यक्ष प्रफुल्लकुमार गाडगे व शहर अध्यक्ष मुधोजी भोसले ने पुष्पहार पहनाकर किया। नरेन्द्राचार्य महाराज का स्वागत भी इन्ही अध्यक्षद्वायों द्वारा पुष्पमाला पहना कर किया गया।

शनिवार, 11 दिसंबर 2010

देश विरोधी प्रश्न पूछने पर कश्मीरी लेक्चरर गिरफ्तार - Lecturer who set seditious question paper arrested - www.bhaskar.com

देश विरोधी प्रश्न पूछने पर कश्मीरी लेक्चरर गिरफ्तार - Lecturer who set seditious question paper arrested - www.bhaskar.com

कविता का वार- मुंबई हमले पर दिग्विजय दे रहे पाक का साथ - No hindu organisation behind hemant karkare's deat - www.bhaskar.com

कविता का वार- मुंबई हमले पर दिग्विजय दे रहे पाक का साथ - No hindu organisation behind hemant karkare's deat - www.bhaskar.com

"कांग्रेस ने लिया जातिगत राजनीति का सहारा"

"कांग्रेस ने लिया जातिगत राजनीति का सहारा"

शुक्रवार, 3 दिसंबर 2010

RSS worker murder: BJP calls for bandh in Palakkad

THIRUVANANTHAPURAM: The BJP on Wednesday called for a bandh in Palakkad district in Kerala to protest the daylight murder of RSS worker Ranjith.

Ranjith was murdered inside a private bus by unknown assailants in Puthussery near Palakkad.

Ranjith, who hails from Kanjikode in Palakkad district, was hacked to death by the assailants who had followed the bus and were reportedly armed with sharp edged weapons.

Ranjith was taken to a hospital in Puthussery where he was declared brought dead.

source : RSS worker murder: BJP calls for bandh in Palakkad - The Times of India http://timesofindia.indiatimes.com/city/thiruvananthapuram/RSS-worker-murder-BJP-calls-for-bandh-in-Palakkad/articleshow/7023083.cms#ixzz1727G2RFc


गुजरात दंगों में नहीं था नरेंद्र मोदी का हाथ, एसआईटी ने दी क्‍लीन चिट!

नई दिल्‍ली. गुजरात में आठ साल पहले हुए गोधरा दंगा मामले में मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी को क्‍लीन चिट मिल गई है। मीडिया में ऐसी खबर आ रही है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने कहा है कि इन दंगों में मुख्‍यमंत्री की कोई भूमिका नहीं थी।

मोदी (तस्‍वीर में) पर आरोप लगा था कि उन्‍होंने 2002 में हुए दंगों को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाए। लेकिन मीडिया में सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक एसआईटी को मोदी की इस भूमिका के बारे में कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं।

इन दंगों में अपने पति को खो चुकी जाकिया जाफरी नामक एक महिला ने मोदी पर जानबूझकर दंगाइयों पर कोई लगाम नहीं लगाने के आरोप लगाए थे। गुलबर्ग सोसाइटी हाउसिंग कॉम्‍प्‍लेक्‍स पर हमला करने वाले दंगाइयों ने जाकिया के पति और कांग्रेस के पूर्व सांसद अहसान जाफरी की बेरहमी से हत्‍या कर दी थी।

जाफरी की शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई के पूर्व निदेशक आर के राघवन की अगुवाई में पिछले साल 27 अप्रैल को एसआईटी का गठन किया था। जांच टीम ने इस मामले में मोदी से कई पूछताछ भी की।

एसआईटी ने जांच की स्थिति रिपोर्ट पिछले दिनों सीलबंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट में पेश कर दी। जस्टिस डी के जैन, पी सदाशिवम और आफताब आलम की पीठ के समझ पेश इस रिपोर्ट में क्‍या है इसका खुलासा नहीं हो सका है लेकिन मीडिया में सूत्रों के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक जाकिया जाफरी की शिकायत मामले में एसआईटी की जांच पूरी हो गई है और जांच टीम को मोदी के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं।

विकी खुलासा: जल्‍द ही टुकड़े-टुकड़े हो जाएगा पाकिस्‍तान!

नई दिल्‍ली. अमेरिकी सेना ने वर्ष 2008 में ही आशंका जता दी थी कि पाकिस्‍तान में आतंकवाद इस कदर हावी हो रहा है कि कुछ वर्षों में इसके टुकड़े-टुकड़े हो जाएंगे। विकीलीक्‍स की ओर से किए गए ताजा खुलासे में अमेरिकी खुफिया अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि पश्चिमी पाकिस्‍तान में हालात बेहद खराब हो रहे हैं और इसे संभालना यहां के हुक्‍मरानों के मुश्किल हो जाएगा।

अफगानिस्‍तान और पाकिस्‍तान के पश्चिमोत्‍तर कबायली इलाकों में मौजूद अमेरिका की अगुवाई वाली नाटो सेना ने इस आशंका को लेकर चिंता जताई थी और इसके बारे में गोपनीय संदेश अमेरिकी प्रशासन को भेजा था। इनकी आशंका थी कि पाक के कबायली इलाके में अस्थिरता का माहौल पैदा हो गया है और पाकिस्‍तानी हुक्‍मरान का पख्‍तून इलाके से नियंत्रण खत्‍म हो सकता है।

नाटो ने पाकिस्‍तान के पश्चिमी हिस्‍से में बसे इलाकों में मौजूद अशांत माहौल की वजहें भी गिनाई थी। पहला कारण यह कि पंजाबी मूल के लोगों का पाकिस्‍तान की सत्‍ता में वर्चस्‍व रहा है और इन्‍होंने पश्चिमी इलाकों की हमेशा अनदेखी की है। इन इलाकों में पख्‍तून कबायली लोगों की घनी आबादी है। ये यहां के मूल निवासी हैं और इनका अफगानिस्‍तान में काफी वर्चस्‍व रहा है। ऐसे में परंपरागत पख्‍तून कबायली संगठन बिखर जाएंगे। इन इलाकों में निरक्षरता, बेरोजगारी और हिंसा की राह में चल पड़े युवकों की समस्‍याओं से निपटने के लिए पाकिस्‍तानी हुक्‍मरानों के पास कोई स्‍पष्‍ट नीति नहीं है।

नाटो अधिकारियों की नजर में इन सारी परिस्थितियों से इन इलाकों में आतंकवाद और आतंकवादी संगठनों को अपनी पैठ मजबूत करने में मदद मिलती है। दक्षिण एशिया मामलों के अमेरिकी नेशनल इंटेलीजेंस ऑफिसर पीटर लेवॉय ने यह अनुमान वाशिंगटन भेजा था। उन्‍होंने कहा था कि कबायली इलाकों में अस्थिरता की एक अन्‍य वजह इन क्षेत्रों में अल कायदा और तालिबान की मौजूदगी भी है। उन्‍होनें यहां तक कह दिया था कि पाकिस्‍तान की स्थिति ऐसी हो गई है कि वह ना तो इन आतंकवादियों को खुलेआम समर्थन दे सकता है और ना ही इसमें आतंकियों के ठिकाने नेस्‍तनाबूद करने की ताकत है।

शनिवार, 27 नवंबर 2010

पोकरण में आर्टिलरी गन सिस्टम एम 777 का परीक्षण शुरू - pokaran artilary gun system 777 trial started - www.bhaskar.com

पोकरण में आर्टिलरी गन सिस्टम एम 777 का परीक्षण शुरू - pokaran artilary gun system 777 trial started - www.bhaskar.com

RSS-Ekatmata Stotra (Prayer to our Mother Land Bharat Mata)

भारत विरोधी बयान के लिए अरुंधती, गिलानी पर केस का आदेश - Arundhati, geelani issue to come up today - www.bhaskar.com

भारत विरोधी बयान के लिए अरुंधती, गिलानी पर केस का आदेश - Arundhati, geelani issue to come up today - www.bhaskar.com

राम जन्मभूमि व मंदिर की लड़ाई अलग-अलग :: Pressnote.in

राम जन्मभूमि व मंदिर की लड़ाई अलग-अलग :: Pressnote.in

राहुल ने मोदी की तुलना माओ त्से-तुंग से की :: Pressnote.in

राहुल ने मोदी की तुलना माओ त्से-तुंग से की :: Pressnote.in

शुक्रवार, 26 नवंबर 2010

संघ ने रोके माओवादियों के कदम

संघ ने रोके माओवादियों के कदम

Nov 23, 10:09 pm

खुर्जा, (बुलंदशहर)। संघ प्रमुख मोहन भागवत ने गुवाहटी में माओवादियों की नापाकहरकतों पर अंकु श लगाने और उनके इरादों को विफल करने के लिए स्वयं सेवकों की प्रशंसा की। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत ने यहां सावित्रीदेवी लख्मीचंद सरस्वती विद्या मंदिर में चल रहे मेरठ और ब्रज प्रांत पदाधिकारियों की बैठक में कहा कि संघ के कामों में तेजी लाई जाए। उन्होंने अगले माह दिसंबर में धर्म सभाएं आयोजित करने को कहा। इसका दायित्व हिंदू जागरण मंच, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल समेत संघ के सभी आनुषांगिक संगठनों का होगा।

सूत्रों ने बताया कि मंथन बैठकों में संघ प्रमुख ने गुवाहाटी में माओवादियों के इरादों को विफल करने पर स्वयं सेवकों की सराहना की। उन्होंने कहा कि कई कार्यकर्ताओं की माओवादियों द्वारा हत्या करने के बाद भी स्वयं सेवकों का काम नहीं रुका। नतीजा यह रहा कि माओवादी अपने बढ़ते कदम रोकने को विवश हुए।

संघ पर हो रहे चौतरफा हमलों और बदनाम करने की साजिशों पर उन्होंने कहा कि जमाना बढ़ते लोगों के कदम पीछे खींचने का प्रयास करता ही है। ऐसे हमलों के के बाद भी संघ शक्ति दिनों दिन बढ़ रही है। उन्होंने संघ पदाधिकारी इंद्रेश के खिलाफ एटीएस की कार्रवाई को बेबुनियाद बताया।

दोपहर सत्र के बाद प्रांत, जिला, विभाग और क्षेत्रीय प्रचारकों से संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मधुभाई जी रूबरू हुए। उन्होंने प्रचारकों को संघ कार्य प्रत्येक स्थिति में आगे बढ़ाने, शाखाओं का विस्तार करने और उनमें स्वयं सेवकों की संख्या बढ़ाने को कहा। शाम को संघ प्रमुख न्यू शिवपुरी स्थित संघ के नगर कार्यालय पर भी गए। वहां शाखाओं के कार्यो पर मंत्रणा की।

source: http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttarpradesh/4_1_6937531.html

मीरवाइजके खिलाफ दर्ज होगा देशद्रोह का मामला!

चंडीगढ़ [जासं]। कश्मीरी पंडितों के हल्ला बोल का शिकार हुए हुर्रियत कांफ्रेस के नेता मीरवाइज उमर फारूक पर चंडीगढ़ पुलिस अब देशद्रोह का मामला दर्ज करने की तैयारी में है।

एसएसपी नौनिहाल सिंह ने यूटी प्रशासन के गृह सचिव रामनिवास को भेजे पत्र में उमर के खिलाफ केस दर्ज करने की अनुमति मांगी है। हुर्रियत नेता पर आरोप है कि गुरुवार को किसान भवन में आयोजित सेमिनार में उन्होंने कश्मीर मुद्दे को लेकर राष्ट्रविरोधी भाषण दिया है। जिसके चलते माहौल अशांत हो गया है।

पत्र में कहा गया है कि मीरवाइज का भाषण देश की एकता और अखंडता के खिलाफ है। एसएसपी ने उमर के भाषण की वीडियो क्लिप्स भी गृह सचिव को भेजा है.

source : http://in.jagran.yahoo.com/news/national/general/5_1_6945872.html

गुरुवार, 25 नवंबर 2010

सेमिनार में मीरवाइज के साथ धक्कामुक्की

fullstory

चंडीगढ़ में मीरवाइज के साथ हाथापाई

चंडीगढ़। चंडीगढ़ में हुर्रियत कॉफ्रेंस के नरम धड़े के नेता मीरवाइज उमर फारूख के कार्यक्रम में जमकर हंगामा हुआ। देश विरोधी बयान देने के आरोप में कुछ युवकों ने हुर्रियत के कार्यकर्ताओं के खिलाफ नारेबाजी की, थोड़ी ही देर में हुर्रियत के कार्यकर्ता और युवक आपस में भिड़ गए और दोनों पक्षों के बीच जमकर हाथापाई हुई। पुलिस ने 40 युवकों को हिरासत में ले लिया है।

सूत्रों के अनुसार चंडीगढ़ में भारत - पाक रिश्तों और कश्मीर समस्या पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया था। सेमिनार में मीरवाइज जैसे ही बोलने के लिए आए उनके और हुर्रियत के खिलाफ युवकों ने नारेबाजी शुरू कर दी। युवकों का आरोप था कि मीरवाइज देश के खिलाफ बोल रहे हैं। जबकि कश्मीरी पंडितों को सेमिनार में अपने विचार रखने का मौका तक नहीं दिया गया। देखते ही देखते नारेबाजी हाथापाई में बदल गई और युवकों ने हुर्रियत के कार्यकर्ताओं से जमकर मारपीट की। पुलिस के अनुसार आरोपी युवक विश्व हिंदू परिषद और कश्मीरी पंडित हो सकते हैं।

उधर पुलिस ने 40 युवकों को शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। युवकों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने देशभक्ति का समर्थन करने वाले युवकों को गालियां दी और उन पर लाठियां बरसाई

परमाणु हथियार से सटीक वार के लिए भारत ने किया अग्नि-1 का एक और सफल परीक्षण - Nuclear-capable Agni I missile test-fired‎ - www.bhaskar.com

मेरा भारत महान
टकराने की मत करना भूल
वर्ना चटा देगा धुल

परमाणु हथियार से सटीक वार के लिए भारत ने किया अग्नि-1 का एक और सफल परीक्षण - Nuclear-capable Agni I missile test-fired‎ - www.bhaskar.com

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित