शुक्रवार, 17 दिसंबर 2010

जोधपुर - विराट धर्मं सभा एवम महायज्ञ संपन्न

source: http://epaper.patrika.com/final/english.php?edition=Jodhpur
महायज्ञ तथा विराट धर्म सभा मंच का इक दृश्य
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचारक प्रमुख माननीय नन्द लाल जी जोशी "बाबाजी"

महायज्ञ का इक दृश्य

जोधपुर. साध्वी ऋतंभरा ने देश में बढ़ते आतंकवाद पर चिंता जताते हुए कहा कि जेहादी आतंकवाद अब पूरे विश्व के लिए बडा खतरा बन चुका है।

अगर समय रहते तुष्टिकरण की राजनीति से ऊपर उठकर इस गंभीर विषय पर सोचना प्रारंभ नहीं किया गया तो यह समस्या हमारे देश में विकराल रूप धारण कर लेगी। गांधी मैदान में शुक्रवार को आयोजित धर्मसभा में साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि रामजन्म भूमि का आंदोलन राजनीतिक आंदोलन नहीं था। यह तो सब कुछ रामलला की मर्जी पर ही निर्भर था। यह किसी संस्था या किसी पार्टी के बस की बात नहीं है। अब तो हाईकोर्ट ने भी पुष्टि कर दी है कि रामलला जहां विराजमान हैं वही रामजन्म भूमि है।

न्यायालय के इस ऐतिहासिक निर्णय के बाद संपूर्ण समाज ने समझादारी का परिचय दिया तथो पूरे देश में एक भी साप्रदायिक घटना नहीं होने दी। इससे बड़ा सांप्रदायिक सद्भाव और क्या होगा। न्यायालय ने भी कह दिया कि गर्भगृह की भूमि भगवान राम की जन्म स्थली है। अब मुस्लिम समाज को भी पहल करते हुए पूरी जमीन हिन्दू समाज को सौंपने के लिए आगे आना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो देश न केवल एकता के सूत्र में बंध जाएगा, अपितु विदेशी ताकतों के भी हौसले पस्त हो जाएंगे।

साध्वी ने कहा कि देश में जब मंडल आयोग की वजह से जातिवाद की आग लगी थी तब संतों ने राम नाम की बयार चलाई। भले ही किसी राजनीतिक पार्टी ने इसका पक्ष लेकर या विरोध करके अपनी राजनीति की रोटियां सेकी होंगी, लेकिन वास्तव में यह आंदोलन उन राष्ट्रभक्तों के हृदय की वेदना थी जो रामलला के भव्य मंदिर को मूर्त रूप लेते देखना चाहते थे। उन्होंने धर्मप्रेमियों को मंदिर निर्माण में अपनी भागीदारी निभाने की अपील करते हुए कहा कि राम मंदिर के निर्माण का आधे से अधिक काम पूरा हो चुका है और जल्द ही यह पूर्ण भी होगा।


असली आतंक से ध्यान हटाने की कोशिश

साध्वी ऋतंभरा ने कहा, संत समुदाय संसद में कानून बनाकर रामजन्म भूमि हिंदुओं को सौंपने के लिए केंद्र पर दबाव बनाएगा

साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि राहुल गांधी देशभर में पाकिस्तान की शह पर फैले आतंकवाद से ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हंै। हिंदूवादी संगठनों को भगवा आतंकवादी बताना उनकी तुच्छ मानसिकता का परिचायक है। साध्वी ने शुक्रवार को यहां पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि कुछ राजनीतिक दल तात्कालिक लाभ उठाने की लालसा में अपने देश को गर्त में धकेलने का कुत्सित प्रयास कर रहे हैं। अपने मूल आदर्श से भटकने वाले राजनेता यह क्यों नहीं सोचते कि वे स्वयं भी हिन्दुस्तानी हैं। वैसे भी हिंदुओं में शत्रुता का भाव नहीं होता है। परंपरा के विपरीत चलने वाले रावण का पुतला हिंदू समाज हर साल जलाता है। इससे सिद्ध होता है कि हिंदू समाज में अनीति का कोई स्थान नहीं है। रामजन्म भूमि पर हाईकोर्ट के फैसले के संबंध में साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि कोर्ट ने तो मान लिया है कि यह स्थान ही रामजन्म भूमि है। इसलिए देश के सभी मुस्लिम संगठनों को भी सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल कायम करते हुए पूरी जमीन हिन्दू समाज को सौंप देनी चाहिए। यह मामला अब सर्वोच्च न्यायालय तक पहुंच चुका है, इसलिए अब सरकार के पास एक मौका है कि वे एक कानून बनाकर पूरी रामजन्म भूमि हिन्दू समाज को सौंप दे। यह किसी राजनीतिक पार्टी का मुद्दा नहीं, बल्कि पूरे हिन्दू समाज की आस्था से जुड़ा मामला है। साध्वी ने कहा कि संत समुदाय इसके लिए केंद्र पर दबाव बनाएगा.

शोभायात्रा में गूंजे जय श्रीराम के जैकारे

ग्राम पंचायत मुख्यालय के सनावड़ा में शुक्रवार को हनुवंत शक्ति जागरण के तहत रैली निकाली गई। रैली के दौरान ग्रामीण जय-जय सियाराम, जय श्रीराम के जैकारे लगाते हुए उत्साह से चल रहे थे। रैली में ढोल-नगाड़ों की गूंज के बीच भक्तों का उत्साह देखते ही बनता था। रैली में बड़ी संख्या में महिला-पुरु ष सहित युवा शामिल थे। रैली में शामिल ग्रामीणों का कई जगह फूल माला पहना कर स्वागत किया गया।

राम भक्तों को संबोधित करते हुए विश्व हिंदू परिषद बाड़मेर के जगदीश खत्री ने कहा कि जन्म से मृत्यु तक राम-राम करते हैं। देश में एकता नहीं होने से श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर नहीं है। छतूमल सिंधी ने कहा कि भगवान श्रीराम जन-जन की आस्था के केंद्र है। भगवान राम की जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए संघर्ष चल रहा है। हनुमंत शक्ति समिति के अध्यक्ष खीयाराम जाखड़, शंकरलाल देवपाल, डूगराराम सारण, हेमंत सारण एवं राणाराम सहित बड़ी संख्या में समिति के कार्यकर्ता रैली में शामिल थे। रैली के बाद हनुवंत शक्ति जागरण कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसकी शुरुआत अतिथियों को माला पहनाकर उनका स्वागत कर की गई।चेलाराम ने कहा कि केंद्र सरकार संसद में प्रस्ताव पारित कर अयोध्या में राम जन्म भूमि पर मंदिर निर्माण के लिए मार्ग प्रशस्त करें। राम भक्तों को संबोधित करते हुए गंगाविशन ने कहा कि संगठित हिंदू समाज के बिना हिंदू राष्ट्र की कल्पना भी नहीं की जा सकती। खेताराम ने कहा कि जहां राम लला है वहीं भगवान राम का मंदिर बने। खीयाराम जाखड़ ने कहा कि राम मंदिर का मुद्दा करोड़ों हिंदुओं की आस्था का केंद्र है। महंत मोटनाथ, दुर्गसिंह, महेश भूतड़ा कैप्टन खुमान सिंह, त्रिलोक सिंह, मानाराम पूर्व सरपंच बाछडाऊ, हरखाराम साई कगाऊ, डूंगराराम सियाग, लूणकरण बोथरा, जेठाराम सियाग, हेमंत सारण सरपंच, रुघपुरी स्वामी, सोहनलाल जैन, थानाराम देवपाल, शंकलाल देवपाल, राणाराम, गेनाराम सहित ग्रामीण मौजूद थे .

हिंदू सम्मेलन कल मोटरसाइकिल रैली आज

भीनमाल. अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर रविवार दोपहर डेढ़ बजे कचहरी रोड विद्यालय प्रांगण में विराट हिंदू सम्मेलन व श्रीहनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम के तहत शनिवार को नगर में मोटर साइकिल रैली निकाली जाएगी। अशोकसिंह ओपावत ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का संकल्प पूरा करने के लिए कानून बनाने को लेकर केंद्र सरकार पर दबाव बनाने के उद्देश्य से रविवार दोपहर डेढ़ बजे विशाल हिन्दू सम्मेलन का आयोजन जैनमुनि ज्योतिष सम्राट ऋषभचंद्र विजय, पूनासा महंत बाबूगिरी महाराज, भाडू महंत शिवगिरी महाराज, गजीपुरा महंत प्रेमभारती महाराज, करड़ा महंत काशीनाथ महाराज, पादरा महंत मंगलगिरी महाराज, बीठन महंत दर्शनगिरी महाराज, कंतोरियां हनुमानजी मंदिर रामसीन महंत मंगलदास महाराज, जैनमुनि पियुषचंद्र विजय और रजतचंद्र विजय महाराज के सान्निध्य में होने वाले विराट हिन्दू सम्मेलन के मुख्य वक्ता आरएसएस राजस्थान के क्षेत्रीय सह संपर्क प्रमुख प्रकाशचंद्र गुप्ता होंगे। कार्यक्रम को लेकर हिन्दू संगठनों द्वारा तैयारियां जोरो पर चल रही हं.

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित