सोमवार, 27 दिसंबर 2010

हनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ में उमड़े श्रद्धालु 108 कुंडीय यज्ञ में दी आहुतियां, विश्व शांति की कामना की




प्रान्त प्रचारक माननीय विजय कुमार जी उधबोधन देते हुए

हनुमंत शक्ति जागरण यज्ञ में उमड़े श्रद्धालु

108 कुंडीय यज्ञ में दी आहुतियां, विश्व शांति की कामना की

जैसलमेर हनमुंत शक्ति जागरण यज्ञ सोमवार को गांधी कॉलोनी स्थित आदर्श विद्या मंदिर प्रांगण में आयोजित किया गया। यज्ञ में भारी संख्या में धर्मप्रेमियों एवं साधु संतों ने शिरकत की। समारोह में संत दीपक साहेब, ब्रह्मपुरी महाराज, पोलपुरी महाराज, राजेश्वरानद महाराज, किशन महाराज एवं निर्मल पुरी ने शिरकत की। 108 कुंडीय यज्ञ में जोड़ो ने आहुतियां देकर राम मंदिर निर्माण एवं विश्व शांति की कामना की। इससे पूर्व संतों ने धर्म की रक्षा एवं सद्व्यवहार की सीख दी।

आसुरी शक्तियां हो रही हैं आक्रामक

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक के प्रांत प्रचारक विजय कुमार ने कहा कि भारत भूमि पर आसूरी शक्तियां दिन प्रतिदिन आक्रामक होती जा रही है। यह गौ माता एवं भारत माता को पीड़ा पहुंचा रहे है। गौ, ब्राह्मण एवं वेदों की रक्षा के लिए भारत भूमि के सपूतों ने अपना सर्वस्व न्यौछावर किया है। अगर गौ माता सुरक्षित नहीं रहेगी तो भारत भी सुरक्षित नहीं रहेगा। अगर भारत का अस्तित्व खतरे में पड़ा तो विश्वशांति तो कल्पना की बात बनकर रह जाएगी। आज भारत में रावण प्रकृति के लोग हावी हो रहे है। विश्व में मात्र दो देश ही हिंदू राष्ट्र माने जाते है बाकि देशों में ईसाई एवं इस्लाम का प्रभाव है। पाकिस्तान एक कृत्रिम रचना है। यह कोई सनातन रूप से पुराना देश नहीं है। पाकिस्तान आतंकवाद की फैक्ट्री और उद्योगों का संचालन करता है और भारत में आतंकवाद पाक से ही प्रेरित और पोषित है।

हिंदू आतंकवाद शब्द गढ़ा जा रहा है

भारत का राजनैतिक नेतृत्व मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए एवं वोट बटोरने की नीयत से हिंदू आतंकवाद का नया शब्द गढ़ रहा है। केवल सत्ता लोलुपता के खेल में कांग्रेस समस्त हिंदू समुदाय को आतंकवादी बता रही है। इससे ज्यादा देश का दुर्भाग्य क्या होगा। आज तथाकथित धर्मनिरपेक्षता का मतलब ही हिंदू विरोध एवं अपमान रह गया है। हिंदू समाज यह कदापि बर्दास्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि 100 करोड़ हिंदूओं की आस्था स्थल पर भव्य राम मंदिर निर्माण के कलिए संसद प्रस्ताव पारित करें तथा अवलिम्ब संपूर्ण भूमि मंदिर निर्माण के लिए हिंदुओं को सौंपे। मातृभूमि का विभाजन तो हिंदू समाज ने सहन कर लिया लेकिन राम जन्म भूमि का विभाजन कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा यहा विभाजन अस्वीकार्य है। रामदूत हनुमान इस संकल्प को पूरा करने की शक्ति प्रदान करेंगे।



source: http://epaper.bhaskar.com/epapermain.aspx?edcode=147&eddate=12/28/2010&querypage=4

राम मंदिर निर्माण के लिए की धर्मसभा





कलशयात्रा निकाली, 108 कुंडीय महायज्ञ

रोहट
राम जन्मभूमि निर्माण के लिए हनुमान जागरण शक्तिपीठ द्वारा सोमवार को अखिल भारत हिंदु महासभा के प्रदेशाध्यक्ष मदन सिंह भोपाजी व रामद्वारा के महंत सुरजनदास महाराज के सानिध्य में कस्बे में 108 कुंडीय महायज्ञ का आयोजन किया गया। विश्व हिंदु परिषद के रोहट प्रखंड अध्यक्ष केसरसिंह सिसोदिया ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए प्रत्येक गांव में 108 कुंडीय महायज्ञ किया जाएगा। सोमवार को सुबह दस बजे कस्बे के मठ से कलशयात्रा निकाली गई, जो बस स्टैंड, बाजार होते हुए मुख्य स्थान पर पहुंची, जहांं आयोजित यज्ञ में 108 जोड़ों ने भाग लिया। आयोजन में परमेश्वर जोशी, नेमी सिंह, केसरसिंह परिहार, मानाराम पटेल, पारस सेन आदि ने सहयोग किया।

सोजत.
संसद में कानून बनाकर श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के उद्देश्य को लेकर रविवार को नगर में 21 कुंडीय यज्ञ का आयोजन किया गया। स्थानीय जैतारणिया दरवाजा के बाहर माली समाज के पिचके में हनुमत शक्ति जागरण समिति सोजत के तत्वावधान में समारोह आयोजित किया गया। सीमा जनकल्याण समिति के प्रांतीय संगठन मंत्री नींबसिंह ने अपने संबोधन में देश के स्वाभिमान की रक्षा के लिए मंदिर निर्माण को आवश्यक बताया। विहिप जिला अध्यक्ष भंवरलाल जोशी एवं कार्यकर्ता अरविंद कुमार द्विवेदी ने बताया कि हवन में पं. राजेंद्र दवे एवं पांचाराम जोशी ने आहुतियां दिलवाई। कार्यक्रम में आरएसएस के जिला संघचालक डॉ. श्रीलाल सुथार, विहिप के जिला महामंत्री नरेंद्र टांक, बजरंग दल के जिला संयोजक अविनाश जांगिड़, हवन समिति के रामकिशोर राठौड़, मनोहरलाल सोलंकी, सोहन मेवाड़ा, मोहन जाट, कैलाश चांवला, सुगनसिंह बागोल, महेंद्र टांक, हिमांशु व्यास, दिनेश गहलोत आदि ने सहयोग दिया।


सादड़ी
संत राजा मोहननाथ कृपलानी शिव आश्रम सादड़ा ने कहा कि राम मंदिर निर्माण से ही भारत का भाग्योदय होगा, अत: सभी को संगठित होकर राम मंदिर निर्माण में सहयोगी बनने के लिए आगे आना होगा। श्री हनुुमत शक्ति जागरण महायज्ञ इसी सात्विक उद्देश्य के लिए किया जा रहा है।

कृपलानी स्थानीय आजाद मैदान में हनुमत शक्ति जागरण महायज्ञ के बाद आयोजित धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। रोकडिय़ा हनुमान चारभुजा के संत चंद्रशेखर स्वामी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण को जन-जन का अभियान बनाने की आवश्यकता है। मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख महेंद्र दवे ने इस आंदोलन को भारतीय संस्कृति का परिचायक बताते हुए अपने स्व के जागरण करने का आह्वान किया। इस अवसर पर विहिप के प्रांतीय सत्संग प्रमुख अमृत परमार, विभाग मंत्री परमेश्वर जोशी, महेंद्र भारती, पूरण भारती, नारायण भारती, पद्म भारती, सूरज भारती, सदानंद गिरी, मनोहर भारती, भोलाराम आदि उपस्थित थे। संचालन विजयसिंह माली ने किया। धर्मसभा से पूर्व हनुमत शक्ति जागरण समिति के तहसील अध्यक्ष नैनाराम चौधरी व संयोजक हस्तीमल वैष्णव के नेतृत्व में साधु—संतों का स्वागत किया गया। विहिप के जिलाध्यक्ष संतोष शर्मा ने साधु-संतों का बहुमान किया। यज्ञ में श्रद्धालुओं ने आहुतियां देकर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होने की प्रार्थना की।


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित