शनिवार, 1 जनवरी 2011


जैतारण

हनुमत शक्ति जागरण महायज्ञ अभियान के तहत यहां गुरुवार को 108 कुंडीय महायज्ञ का आयोजन संत रामाशंकर महाराज के सानिध्य में हुआ, जिसमें गायत्री परिवार के सदस्यों ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच महायज्ञ में आहुतियां दिलाईं। महायज्ञ में 108 जोड़ों ने पूर्णाहुति देकर राम मंदिर निर्माण के लिए कामना की। इस अवसर पर मोतीलाल बिलाड़ा, संत रामाशंकर महाराज व तपस्वी महाराज ने श्रद्धालुओं को संबोधित किया। इस मौके पर गायत्री परिवार के प्रहलादराम शर्मा, आनंदीलाल शर्मा, चंद्रप्रकाश मेवाड़ा, भंवरलाल पंचारिया, संपतराज जोशी, संपतराज, पूरणसिंह, लेखपालसिंह आदि उपस्थित थे



रानी

अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण को लेकर हनुमंत शक्ति जागरण समिति द्वारा बुधवार को गणपति आश्रम में 21 कुंडीय महायज्ञ का आयोजन किया गया। मंत्रोच्चार के बीच हवन वेदी में डाली जा रही आहुतियों से पूरा क्षेत्र आध्यात्मिक रंग में रंग गया।

महायज्ञ के दौरान आयोजित धर्मसभा को राजा मोहनचंद कृपलानी ने संबोधित किया। विहिप के संगठन मंत्री परमेश्वर जोशी ने कार्यक्रम की रूपरेखा व भूमिका पर प्रकाश डाला। समारोह के मुख्य वक्ता संघ के प्रांत प्रचारक विजय कुमार ने कहा कि भारत धर्म भूमि है। भगवान राम यहां की पहचान हैं। अयोध्या में राम जन्मभूमि स्थल पर मंदिर निर्माण पूरे विश्व की आवश्यकता है। इस अवसर पर हंसाराम भाटी, दिनेश चौधरी आदि उपस्थित थे।

रायपुर मारवाड़. राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिए श्री हनुमंत शक्ति जागरण समिति द्वारा गांव-गांव में कराए जा रहे यज्ञ, हवन एवं धर्मसभा के क्रम में बुधवार को कुशालपुरा गांव में 51 कुंडीय यज्ञ का आयोजन

किया गया। इसमें रायपुर तहसील क्षेत्र के रायपुर, झुठा, कुशालपुरा, बर, पिपलियाकला, दुवलीकला आदि गांवों के 127 जोड़ों ने आहुतियां दीं।

यज्ञ के बाद आयोजित धर्मसभा को संबोधित करते हुए आरएसएस के बौद्धिक प्रांत प्रमुख रुद्र कुमार शर्मा ने कहा कि अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ, यह ऐतिहासिक सचाई है। अब न्यायालय ने विवादित भूमि का करीब दो तिहाई हिस्सा हिंदुओं को सौंपने का आदेश दिया है, तब इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं करके सभी दलों को मंदिर निर्माण में सहयोग देना चाहिए। धर्मसभा में कई साधु -संतों ने भाग लिया।


तुष्टीकरण के कारण हो रहे हैं हिन्दू संगठन बदनाम
पोकरण में हुई धर्मसभा में संत प्रतापुरी महाराज ने भारतीय संस्कृति व धर्मिक मान्यताओं का पालन करने का आह्वान किया, बड़ी संख्या में धर्मप्रेमियों ने दी आहुतियां
पोकरण & हनुमत शक्ति जागरण अनुष्ठान समिति के तत्वावधान में पोकरण में १०८ कुण्डीय विशाल यज्ञ एवं भव्य धर्मसभा हुई। इस अवसर पर सैकड़ों धर्मप्रेमी स्त्री पुरूषों ने यज्ञ में आहुतियां देने के साथ संतों के दर्शन एवं प्रवचनों का लाभ प्राप्त किया। धर्म सभा को तारातरा मठ के महंत प्रतापपुरी महाराज, प्रसिद्ध कबीरपंथी संत दीपक साहेब सहित विश्व हिन्दू परिषद जोधपुर प्रांत के कार्याध्यक्ष भवानीलाल माथुर ने सम्बोधित किया। विश्व में आद्वितीय है भारतीय संस्कृति धर्म सभा में उपस्थित सैकड़ों धर्मप्रेमी स्त्री पुरूषों को सम्बोधित करते हुए संत प्रतापपुरी ने कहा कि जिस धर्म व संस्कृति में हमने जन्म लिया है वह विश्व की सर्वश्रेष्ठ संस्कृति है। उन्होंने कहा कि धन्य धान्य, ज्ञान एवं शक्ति के क्षेत्र में हम दुनिया में श्रेष्ठ रहे उसी के परिणाम स्वरूप हमें विश्व गुरू का दर्जा मिला मगर अहंकार व ईष्र्या के कारण हमारा पतन हो गया। संत प्रतापपुरी ने कहा कि कमजोरों का दुनिया में कोई महत्व नहीं रहता है इसलिए विश्व के कुछ ताकतवर देश कमजोर देशों पर अपना अधिपत्थ जमाने को लालायित हो रहे हैं। संत प्रतापपुरी ने कहा कि देश में कुछ राजनैतिक दल मुसलमानों का तुष्टीकरण करने के लिए देश भक्त हिन्दू संगठनों को आतंकवादी संगठन घोषित करने का षंडय़ंत्र कर रहे हैं मगर इसमें वे कभी सफर नहीं हो सके। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार जगत गुरू शंकराचार्य को जेल में डालती है वहीं दूसरी ओर भारत माता को डायन कहने वाले वंदेमातरम का बहिष्कार करने वाले सामज कंटक सरकार के चहेते बने बैठे हैं। हाल ही में इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा राम मंदिर पर दिए फैसले पर संत ने कहा कि बाबर के नाम पर हिन्दू समाज कोई बंटवारा स्वीकार नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि पूरी की पूरी ६७ एकड़ जमीन भगवान राम की है। उन्होंने उपस्थित श्रोताओं से भारतीय संस्कृति के अनुरूप जीवन जीने व धार्मिक मान्यताओं का पालन करने की अपील की।कार्यक्रम सम्बोधित करते हुए कबीर पंथी संत दीपक साहेब ने कहा कि जिस पर भगवान की कृपा होती है उन्हें ही यज्ञ में आहुति देने का अवसर प्राप्त होता है। संत ने कहा कि जीवन में व्रत, उपवास एवं पूजा पाठ तो स्वयं के हित में किया जाता है मगर इस प्रकार के यज्ञ सामज व राष्ट्रहित में ही होते है। अपने उदबोधन में विश्व हिन्दू परिषद के जोधपुर प्रांत के कार्याध्यक्ष भवानीलाल माथुर ने कहा कि आज देश जिस परिस्थति के दौर से गुजर रहा है उसमें सज्जन शक्ति के संगठन की महती आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सज्जन शक्ति ही राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेगी। माथुर ने कहा कि राम मंदिर पर न्यायालय द्वारा दिया गया फैसला हमें मंजूर नहीं है। उन्होंने कहा कि राम जम्र स्थान को हम किसी भी हालत में बंटने नहीं देंगे। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग शारीरिक प्रमुख भगवतदान ने हनुमत शक्ति जागरण अनुष्ठान के महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के अन्त में अनुष्ठान समिति जिला संयोजक डॉक्टर दाऊलाल शर्मा ने सभी का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन स्थानीय समिति के संयोजक एडवोकेट जुगलकिशोर व्यास ने किया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक के जिला संघ चालक तिलोकचंद खत्री, जैसलमेर विधायक छोटूसिंह भाटी, शैतानसिंह राठौड़, जैसलमेर शहर मण्डल अध्यक्ष भगवानदास गोपा, कंवरराजसिंह भाटी सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे। 108 जोड़ों ने हवन किया हनुमत शक्ति जागरण अनुष्ठान समिति तत्वावधान में स्थानीय आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में विशाल १०८ कुण्डीय यज्ञ का आयोजन किया गया। पंण्डित संजय श्रीमाली के मार्गदर्शन में आयोजित यज्ञ में १०८ जोड़ों सहित सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने यज्ञ में आहूतियां देकर पुण्य लाभ प्राप्त किया। पिछले एक सप्ताह से यज्ञ एवं धर्म सभा की तैयारियां जोरशोर से चल रही थी। सुबह शहर सहित आस पास के दर्जनों गांवों के श्रद्धालुओं के यज्ञ स्थल पर पहुंचने के कारण पूरे क्षेत्र का वातावरण यज्ञमय हो गया। आयोजन समिति के कार्यकर्ताओं द्वारा सभी १०८ यज्ञ कुण्डों को आकर्षक तरीके से सजाया गया। निर्धारित समय पर आचार्य संजय श्रीमाली के सानिध्य में सभी यजमान सपत्नी यज्ञ कुण्डों के पास बैठ गए। तत्पश्चात पूर्ण शास्त्रोक्त विधिविधान से ९ गृहों एवं देवी देवताओं पूजा करवाकर यज्ञ का विधिवत शुभारंभ किया। यज्ञ के दौरान बीज मंत्र के साथ गायत्री मंत्र की आहूतियां दी गई।

सौरसे: http://epaper.bhaskar.com/epapermain.aspx?edcode=147&eddate=1/1/2011&querypage=4



हनुमत शक्ति जागरण यज्ञ व धर्मसभा का आयोजन

नावां शहर. हवन में आहूतियां देते यजमान।

नावां शहर
नावां के श्रीराम बजरंग मंदिर परिसर में शुक्रवार को हनुमत शक्ति जागरण यज्ञ व धर्मसभा का आयोजन किया गया। अनुष्ठान समिति के रमेश चन्द बियाणी ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि पर राम मंदिर बनाने के लिए यह आयोजन हुआ। यज्ञ में नवरंग लाल अग्रवाल सहित 7 जोड़ों ने आहुतियां दीं। अयोध्या से संत रामकिशोर त्यागी के सान्निध्य में कार्यक्रम हुए।

परबतसर . हनुवंत शक्ति जागरण समिति के तत्वावधान में शनिवार को 11 कुण्डीय यज्ञ व धर्मसभा का आयोजन बड़ले वाले बालाजी मंदिर में दोपहर 12 बजे से होगा। विहिप जिला मंत्री प्रेम प्रसाद बोहरा ने बताया कि प्रात: 10 से वीर तेजाजी मंदिर से कलश यात्रा शुरू होकर बड़ले वाले बालाजी मंदिर पहुंचेगी। जहां दोपहर 12 बजे से यज्ञ शुरू होगा एवं बाद में धर्मसभा का आयोजन होगा जिसमें संत गोपालदास महाराज मुख्य अतिथि होंगे व गंगा बिशन महाराज मुख्य वक्ता रहेंगे।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित