मंगलवार, 10 नवंबर 2009

विश्व मंगल गो ग्राम उप यात्रा - गो माता सुख समृद्धि की प्रतीक - हुलासचंद

गो सेवा का लिया संकल्प

रामगढ़।विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा के रामगढ़ पहुंचने पर गो भक्तों ने ढोल नगाड़ों के साथ स्वागत किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोघित करते हुए जोधपुर विभाग प्रचारक हुलासचंद ने कहा कि गो माता सुख समृद्धि की प्रतीक है। इस यात्रा का उद्देश्य गो वंश की रक्षा करना है। संत दीपक साहेब ने बूचड़खानों में गो हत्या पर पूर्ण प्रतिबंधित करने के लिए दृढ़ संकल्प लेने का आह्वान किया। जीयादेसरराय मंदिर में आयोजित सभा में बड़ी संख्या में महिलाओं व पुरूषों ने शिरकत की। कार्यक्रम में समिति के अध्यक्ष दौलतगिरी, संत ईश्वरदास, राणीदान सेवक, संत पूनमाराम तथा संत गणपतराम ने शिरकत की। कार्यक्रम स्थल पर गो वंश संबंधी प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।

मंदिर से हुआ शुभारम्भ

इससे पूर्व रविवार को मातेश्वरी तनोटराय मंदिर से गो पूजन कर विश्व मंगल गो ग्राम यात्रा का शुभारम्भ किया गया। रामगढ़ पहुंचने पर गो ग्राम यात्रा को कलश यात्रा द्वारा कार्यक्रम स्थल तक पहुंचाया गया, यहां पहुंचने पर ढोल नगाड़ों के साथ गो ग्राम यात्रा का स्वागत किया गया।

गो सेवा का लिया संकल्प

यात्रा के दौरान विभाग प्रचारक हुलासचंद ने सभी को गो सेवा करने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि आमजन अपनी आय से कुछ अंश बचत कर देश में चल रही गोशालाओं में भेंट करें, ताकि गो संरक्षण किया जा सके। इस अवसर पर गाय की पूजा कर प्रसाद वितरित किया गया। कार्यक्रम के दौरान अध्यक्ष दौलतगिरी द्वारा हस्ताक्षर किए गए ज्ञापन को राष्ट्रपति के नाम प्रेषित किया गया।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित