बुधवार, 15 अक्तूबर 2014

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा सीमाजन कल्याण समिति ने सीमावर्ती बाड़मेर ,जैसलमेर जिलों में अकाल एवं सूखे की स्थिति से निबटने को केन्द्रीय कृषि मंत्री से की भेंट

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा सीमाजन कल्याण समिति ने सीमावर्ती बाड़मेर ,जैसलमेर जिलों में अकाल एवं सूखे की स्थिति से निबटने को केन्द्रीय कृषि मंत्री से की भेंट 
केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह को अकाल एवं सूखा से उत्पन्न स्थितियों से अवगत करवाते संघ के प्रांत प्रचारक मुरलीधर, विभाग  सीमाजन कल्याण समिति के प्रदेश संगठन मंत्री नीम्बसिंह

केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह को अकाल एवं सूखा से उत्पन्न स्थितियों से अवगत करवाते संघ के प्रांत प्रचारक मुरलीधर, विभाग प्रचारक बाड़मेर-जैसलमेर बाबूलाल, सीमाजन कल्याण समिति के प्रदेश संगठन मंत्री नीम्बसिंह, समिति के प्रदेश महामंत्री बंशीलाल


जोधपुर १५ अक्टूबर २०१४. केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के जोधपुर प्रवास के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उसके अनुशांगिक संगठन सीमाजन कल्याण समिति के पदाधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट कर पश्चिमी राजस्थान के सीमावर्ती बाड़मेर और जैसलमेर में व्याप्त अकाल एवं सूखा से उत्पन्न स्थितियों से अवगत करवाया। साथ ही सीमावर्ती जिले के किसान और पशुपालकों को राहत पहुंचाने की आवश्यकता जताई है। समिति के जिला मंत्री शरद व्यास ने बताया कि संघ के प्रांत प्रचारक मुरलीधर, विभाग प्रचारक बाड़मेर-जैसलमेर बाबूलाल, सीमाजन कल्याण समिति के प्रदेश संगठन मंत्री नीम्बसिंह, समिति के प्रदेश महामंत्री बंशीलाल के साथ जोधपुर सांसद गजेन्द्रसिंह शेखावत ने कृषि मंत्री के साथ विशेष चर्चा के दौरान उन्हें अवगत करवाया कि सीमावर्ती बाड़मेर जैसलमेर जिले भीषण अकाल सूखा की चपेट में हैं। यहां पर बारिश के अभाव में 90 प्रतिशत तक खरीफ की फसलें चौपट हो गई हैं। चारे पानी के अभाव में पशु दम तोड़ रहे हैं। बारिश की कमी से पानी का संकट सर्दी में भी विद्यमान होने वाला है। इसी तरह से नहरों में भी पानी की मात्रा कम है। उन्होंने बताया कि आगामी 10 महीने जिले के किसानों और पशुपालकों के लिए संकट से भरे हुए हैं। इसलिए केन्द्र और राज्य सरकार को अविलंब राहत कार्य शुरू करने चाहिए। वरिष्ठ पदाधिकारियों ने केन्द्र सरकार के मंत्री से उक्त दोनों जिलों के बड़े भू भाग में डीएनपी क्षेत्र होने से लगी रोक से प्रभावित हो रहे विकास कार्यों के संबंध में भी चर्चा की है।
केन्द्रीय कृषि मंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया है कि सीमावर्ती जिलों में अकाल की स्थिति से निपटने में केन्द्र सरकार हरसंभव सहायता करेगी। 

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित