शनिवार, 23 मई 2015

संस्कारित बालिका ही सुसंस्कृत राष्ट्र का निर्माण करती हैं , सेविकाओं ने सुसंस्कृत राष्ट्र निर्माण का संकल्प दोहराया

संस्कारित बालिका ही सुसंस्कृराष्ट्र का निर्माण कती हैं 

 सेविकाओं ने सुसंस्कृत राष्ट्र निर्माण का संकल्प दोहराया 

पाली २२ मई।  सरस्वती शिशु मंदिर में शुक्रवार को जोधपुर प्रांत के राष्ट्रीय सेविका  समिति का चल रहा सात  दिवसीय प्रारंभिक व् प्रवेश समिति शिक्षा वर्ग का समापन समारोहपूर्वक महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनिता भदेल के मुख्य आतिथ्य एवं डॉ. संजू गर्ग की अध्यक्षता में हुआ। समापन समारोह की शुरुआत सेविका समिति की सेविकाओं ने वंदेमातरम गीत से की। कार्यक्रम में सेवा समिति के शिविर में 10 जिलों से आई 198 सेविकाओं ने सूर्यनमस्कार, आत्मसुरक्षा के गुर, दंड योग, मनोयोग, धर्म योग, दीप योग अभ्यास किया। कार्यक्रम में सेविकाओं ने एक स्वर में हम बेटी हिंदुस्तान की गीत की प्रस्तुति देकर सभी को मोहित किया।





 कार्यक्रम में मंत्री भदेल ने सेविकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रकार के वर्ग  से बालिकाएं संस्कारित होती हैं। संस्कारित बालिका ही सुसंस्कृराष्ट्र का निर्माण कर सकती है। उन्होंने कहा कि विदेशी संस्कृति के कारण भारतीय संस्कृति का हास हुआ है। राष्ट्रीय  सेविका समिति की और से ऐसे वर्ग का उद्देश्य बालिकाओ को संस्कारवान तथा अनुशासन  सिखाने के लिए किये जाते है , यह इनके जीवन में काफी उपयोगी सिद्ध होगा।  भदेल ने सेविकाओं से शिविर में सीखे गुणों को जीवन में उतारने का आग्रह किया.

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए  डॉ. संजू गर्ग ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति में राष्ट्र भावना होना जरूरी है। राष्ट्र भावना से ही व्यक्ति राष्ट्र हित के बारे में सोच सकता है। भारतीय संस्कृति को अपनाना जरूरी है। वर्तमान में शिक्षा के साथ संस्कारवान होना भी आवश्यक है. डॉ गर्ग ने स्वस्थ्य  जीवन के लिए नियमित व्यायाम करने की आवश्यकत पर बल दिया.

 कार्यक्रम में मुख्य वक्ता क्षेत्रीय कार्यवाहिका प्रमिला शर्मा ने राष्ट्रीय सेविका समिति के मूल उद्देश्य की जानकारी दी। कार्यक्रम के अंत में सेविकाओं ने वंदेमातरम गान की प्रस्तुति देकर कार्यक्रम का समापन किया। 

इस अवसर  पर विधायक ज्ञानचंद पारख, मदन राठौड़, प्रधान श्रवण बंजारा, महंत सुरजनदास महाराज, कमल गोयल, सभापति महेंद्र बोहरा, विनय बम्ब, परमेश्वर जोशी, वर्ग कार्यवाह कृष्णा द्विवेदी , सर्वाधिकारी रीना वैष्णव,  विमला रांकावत, मीना सिंधी, रष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारी समेत कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

सेविकाओं ने शहर में निकाली शोभायात्रा, राष्ट्र प्रेम का दिया संदेश 

शोभायात्रा का दृश्य








 
इससे पूर्व गुरुवार को राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय से शोभायात्रा  निकाली गई।शोभायात्रा का शुभारम्भ पूर्ण गणवेशधारी 250 सेविकाओं ने सेविका समिति की प्रार्थना की प्रस्तुति देकर की।शोभायात्रा विद्यालय से प्रारंभ होकर नेहरू पार्क, सर्राफा बाजार, सूरजपोल होते हुए नगर परिषद कार्यालय पहुंचकर संपन्न हुई।
शोभायात्रा का जगह-जगह समाजसेवी संगठनों ने पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। समिति की सहप्रांत कार्यवाहिका डॉ. सुमन रावलोत ने बताया कि शोभायात्रा में सेविकाओं की सात वाहिनी बनाई गई थी। साथ ही एक रथ पर भारत माता की झांकी भी सजाई गई।शोभायात्रा के दौरान सेविकाएं भारत माता की जय, एवं राष्ट्र भक्ति से जुड़े नारे लगाती हुई चल रही थी।


शोभायात्रा के समापन कार्यक्रम में समिति क्षेत्रीय कार्यवाहिका प्रमिला शर्मा ने समिति कार्यों का परिचय देते हुए कहा कि संस्कारित बालिकाएं ही भविष्य में समाज राष्ट्र का आधार होगी। प्रांत की सह कार्यवाहिका डॉ. रावलोत ने सेविकाओं को अपनी शक्ति पहचान कर आगे बढ़ने का आह्वान किया। अंत में प्रांत सह कार्यवाहिका विमला रांकावत ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस मौके समिति के पदाधिकारी भी उपस्थित थे। 

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित