शनिवार, 2 मई 2015

व्यक्ति भौतिकता के विकास में चारित्रिक विकास को भूल रहा - सुहासराव हिरेमठ

व्यक्ति भौतिकता के विकास में चारित्रिक विकास को भूल रहा - सुहासराव हिरेमठ

 छात्रावास  में 500 विद्यार्थियों  के लिए होगी अति आधुनिक सुविधाएं

 हनवंत आदर्श विद्या मंदिर, लालसागर में छात्रावास का शिलान्यास 

शिलान्यास करते हुए सुहास राव जी  हिरेमठ
शिलान्यास समारोह में उध्बोधन देते हुए सुहास राव जी  हिरेमठ
शिलान्यास समारोह में मंच का एक दृश्य 
शिलान्यास समारोह में उपस्थित गणमान्य गण

जोधपुर.३० अप्रैल १५। राष्ट्रीय  स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सेवा प्रशिक्षण प्रमुख सुहासराव हिरेमठ ने छात्रावास के महत्व पर उद्देश्य प्रकाश डालते हुए बच्चों को चारित्रिक विकास करने वाली शिक्षा दिलाने का आह्वान किया।

शिलान्यास समारोह में उध्बोधन देते हुए सुहास राव जी  हिरेमठ ने वर्तमान में व्याप्त दोषों  का एक ही कारण  बतलाया कि  व्यक्ति भौतिकता के विकास में चारित्रिक विकास को भूल रहा हैं।  भौतिक विकास के साथ अगर व्यक्ति चरित्र को भी विकसित करे तो मानव समाज चरमोत्कर्ष पर पहुंच जायेगा। 


लालसागर स्थित हनवंत आदर्श विद्या मंदिर में गुरुवार को आदर्श विद्या मंदिर, जोधपुर की प्रबंध समिति की ओर की लालसागर परियोजना के तहत गुरुवार को छात्रावास का शिलान्यास किया गया।

परियोजना के मार्गदर्शक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत संघचालक ललित शर्मा ने बताया कि इस परियोजना में 50 वर्षों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए लगभग 42 बीघा जमीन पर एक बहुआयामी रोजगारोन्मुखी शैक्षिक संस्थान विकसित किया जाएगा। इस संस्थान मेंं कौशल विकास केंद्र, कला विकास केंद्र, सैन्य अधिकारी बनाने के लिए राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण केंद्र, उच्च स्तरीय खेल प्रशिक्षण केंद्र तथा विद्या भारती के आधारभूत विषयों यथा, शारीरिक शिक्षा, योग शिक्षा, संगीत शिक्षा, नैतिक आध्यात्मिक शिक्षा तथा संस्कृत शिक्षा के लिए भी एक प्रशिक्षण केंद्र अनुसंधान केंद्र विकसित किए जाएंगे। हॉस्टल का निर्माण पहले चरण में हो रहा है।
परियोजना सचिव दुर्गसिंह राजपुरोहित ने बताया कि 500 बालकों की रहवासीय क्षमता वाले इस छात्रावास में आवश्यक सभी अति आधुनिक सुविधाएं होंगी। 
कार्यक्रम अध्यक्ष ईएसएसजी रियल स्टेट डवलपर्स प्रा.लि. के निदेशक एवं समाजसेवी सुरेश गांधी  ने बताया कि आज के युग में अकादमिक शिक्षा के साथ व्यवसायिक  शिक्षा की नितान्त  आवश्यकता है. इस छात्रावास व् शैक्षिक केंद्र से बालको को दी जाने वाली व्यवसायिक शिक्षा से एक नूतन युग का उदय होगा।  गांधी ने कहा कि किसी भी राष्ट्र का सामाजिक बंधन जितना विकसित होगा उस राष्ट्र की की उन्नति उसी दर से होगी. 

कार्यक्रम में परियोजना के भविष्य के विस्तार के बारे में जिसकी अनुमानित लागत 100 करोड़ रुपए होगी, बतलाते हुए परियोजना के अध्यक्ष रतनलाल डागा ने कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों गणमान्य नागरिकों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर समाजसेवी भामाशाहों अप्रवासी भारतीय श्याम कुम्भट , देवेन्द्र जोशी, सुरेश गांधी, मरुधरा बैंक के अध्यक्ष एस के श्रीमाली जी , विधायक कैलाश भंसाली का साफा पहना कर एवं  श्रीफल देकर सम्मान किया गया ।

कार्यक्रम में क्षेत्रीय प्रचारक दुर्गादास जी , प्रान्त प्रचारक मुरलीधर जी, विभाग प्रचारक डॉ धर्मेन्द्र जी, जोधपुर सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत भी उपस्थित थे।

 कार्यक्रम में शामिल हुए मेहमानों का परिचय विद्याभारती के प्रांत सचिव महेंद्र दवे ने करवाया। कार्यक्रम का संचालन दुर्गसिंह पंवार ने किया। 
 






विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित