गुरुवार, 27 सितंबर 2012

हिंदू सम्मेलन व त्रिधारा पथ संचलन को लेकर संपर्क बैठक आयोजित

साभार: दैनिक भास्कर, जैसलमेर  


हिंदू शक्ति संगम के लिए किया जनसंपर्क
जैसलमेर दो अक्टूबर को जैसलमेर में होने वाले हिंदू शक्ति संगम की तैयारियां जोर-शोर से चल रही है। हिंदू शक्ति संगम स्वागत समिति के अध्यक्ष डॉ. दाऊ लाल शर्मा के नेतृत्व में सदस्यों ने जन संपर्क किया। दर्जी पाड़ा में विभाग शारीरिक प्रमुख भगवत दान रतनू ने मातृ शक्ति को कार्यक्रम की पूर्ण जानकारी दी। कार्यकर्ताओं द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में भी जनसंपर्क किया जा रहा है। सीमा जन कल्याण समिति के प्रांतीय संगठन मंत्री निम्बसिंह ने कन्नोई, सलखा में ग्रामीणों की बैठक ली जिसमें ग्रामीणों से इस महासंगम में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का आह्वान किया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक के संघ कार्यकर्ताओं ने ग्राम चांधन, सोढाकोर, डेलासर, धायसर, भैरवा, सगरा और जावंध नई आदि क्षेत्रों में जन संपर्क किया। संपर्क के दौरान दानसिंह, रेवंतसिंह, जगदीष बगड़ा, तुलसीदास पालीवाल, पृथ्वीराज, भगवान राम सैन, आईदान सहित कार्यकर्ता साथ थे।

फतेहगढ़. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहनराव भागवत के कार्यक्रम को लेकर सघन जनसंपर्क किया जा रहा है। प्रचार प्रमुख चतरसिंह कीता, भाजयुमो के उपाध्यक्ष लजपतसिंह राजगुरु के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने भीयासर, रीवडी, तोगा, हरभा, नीम्बा, मंडाई, लखा, मोढ़ा सहित विभिन्न गांवों में जनसंपर्क किया। गौ ग्राम विकास प्रमुख घेवर सिंह राजगढ़ व पूर्व प्रधान सुमेरसिंह देवड़ा के नेतृत्व में झिनझिनयाली, देवड़ा, बईया, तेजमालता, रणधा, सिहडार, नीम्बली, कुडा सहित अन्य जगहों पर जनसंपर्क कर अधिक से अधिक संख्या में जैसलमेर पहुंचने का आह्वान किया। कपूरिया मठ के महंत वीरमपुरी ने हिंदू समाज को संगठित होने का आह्वान किया। इस अवसर पर सीमाजन कल्याण समिति के तहसील मंत्री पृथ्वी सिंह, नवगुणसिंह, गिरधरसिंह, पवनगिरी, विक्रमसिंह, देवीलाल साथ थे।
रामदेवरा जिला मुख्यालय पर 2 अक्टूबर को आयोजित होने वाले विराट हिंदू सम्मेलन व त्रिधारा पथ संचलन में अधिक से अधिक संख्या में शामिल होने के लिए निकटवर्ती गांव लोहारकी में बुधवार को चिडिय़ानाथ के धूणे पर संपर्क बैठक का आयोजन किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए संस्कृत भारती के क्षेत्रीय प्रचारक हुलास चन्द्र ने कहा कि साथ-साथ, खेलने-कूदने, उठने-बैठने व विभिन्न क्रिया-कलापों से पारस्परिक संबंधों में प्रगाढ़ता का विकास होता है। भाईचारे की इस मौलिक मानवीय गुण को आधार बनाकर ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्य कर रहा है। उन्होंने सामाजिक एकता को विश्व बंधुत्व का कारक बताते हुए स्वामी विवेकानंद का उदाहरण देते हुए कहा कि स्वामी संपूर्ण विश्व को अपना परिवार मानते थे, तभी तो वे निडरता व नि:संकोच अपनी ओजस्वी वाणी पहुंचाने के लिए अमेरिका पहुंच गए। बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शैतानसिंह राठौड़ ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघ चालक मोहनराव भागवत हमारे जिले में पहली बार आ रहे हैं। इसलिए इस अवसर को ऐतिहासिक बनाने के लिए अधिकाधिक संख्या में इस कार्यक्रम में पहुंचे। इस बैठक में भाजपा सांकड़ा मंडल अध्यक्ष नारायणसिंह तंवर, मोतीलाल पुरोहित, विहिप के बींजराजसिंह तंवर, माधुसिंह चंपावत, बीकानेर के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष गोरधन सिंह रावलोत, भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के चन्द्र सिंह, मूलसिंह, करण सिंह, पूर्व सरपंच टीकूराम, हरचंदराम, समुंदरसिंह, देवीसिंह, मोहनराम व रघुनाथसिंह बरडाना सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

सांकड़ा ग्राम पंचायत के सार्वजनिक सभा भवन में संघ के सह जिला कार्यवाहक चिरंजीलाल सोनी, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शैतानसिंह सांकड़ा सहित सैकड़ों की संख्या में आस पास की ढाणियों के ग्रामीण उपस्थित थे। बैठक में सर कार्यवाह चिरंजीलाल ने हिंदु समाज का इतिहास, शौर्य, पराक्रम, तथा हिंदु समाज के साथ हुए कुठाराघात के संबंध में उपस्थित ग्रामीणों को अवगत करवाया। तथा आगामी अक्टूबर को जैसलमेर में आयोजित होने वाले विराट पंथ संचलन व हिंदु सम्मेलन ने ग्रामीणों से अधिक से अधिक संख्या में शामिल होने का आह्वान किया। बैठक में कस्बे सहित आसपास क्षेत्र के सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। बैठक में भीख सिंह, बीजराजसिंह, सूरजमल, दौलतसिंह, धनसिंह, खेताराम लीलड़, खंगार राम माली, शंभूसिंह, डला राम भील, चुतरसिंह, माधापुरा, सज्जनसिंह, दुर्ग सिंह, नकताराम भील, हमथाराम, नकताराम, चन्द्रपुरी स्वामी, पर्वतसिंह, सबलसिंह, नेपालसिंह सहित अनेक ग्रामीण व स्वयंसेवक उपस्थित थे।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित