गुरुवार, 2 जुलाई 2009

जोधपुर में विशेष सुरक्षा हब जल्द

चेन्नई/नई दिल्ली। केन्द्रीय गृहमंत्री पी. चिदम्बरम ने बुधवार को बताया कि वे आतंककारी गतिविधियों से निपटने के लिए जोधपुर में सेना के विशेष बल का सुरक्षा हब (एटीएफ) स्थापित कराने की कोशिश कर रहे हैं। बेंगलूरू में भी विशेष सैन्य बल के जरिए आतंकरोधी केन्द्र बनाया जा रहा है। चेन्नई में एनएसजी हब का उद्घाटन करते हुए चिदम्बरम ने बताया कि गुवाहाटी में भी बीएसएफ की मदद से ऎसी ही इकाई शुरू की जाएगी। एनएसजी हब और ऎसे ही अन्य केन्द्रों की स्थापना से सुरक्षा बलों की त्वरित पहुंच बढ़ेगी। मुम्बई में 26/11 के आतंककारी हमले के बाद केन्द्र ने एनएसजी के चार केन्द्र खोलने का निर्णय किया था।
पहला केन्द्र मंगलवार को मुम्बई में खोला गया था। एनएसजी का चौथा हब कोलकाता में खोला जाएगा।
पुलिस को हेलीकॉप्टर
बुधवार को ही हैदराबाद में भी एनएसजी हब का उद्घाटन करते हुए चिदम्बरम ने कहा कि एनएसजी आपात स्थिति में किसी भी हवाई अड्डे पर उपलब्ध किसी भी हवाई जहाज को अपने कब्जे में ले सकेगी। इसके अलावा मेगा सिटी पुलिसिंग योजना के तहत प्रमुख शहरों में पुलिस को हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराए जाएंगे।
पश्चिम तट के प्रमुख ठिकानों पर आतंककारी हमले के खतरे के बारे में खुफिया एजेंसियों ने आगाह किया है। केन्द्र ने ये जानकारियां महाराष्ट्र, गुजरात व गोवा सरकारों को दी हैं।- पी.चिदम्बरम
समुद्र पर नजर उपग्रह से
इसरो अगस्त में यूरोपीय देशों के छह छोटे उपग्रहों के साथ अपने दूसरे समुद्री निगरानी उपग्रह के प्रक्षेपण की तैयारी में जुटा है। इसरो के धु्रवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी-14) से ओशनसेट-2 को 720 किमी ऊपर सूर्य की समकालिक कक्षा में स्थापित होगा। यह ओशनसेट-1 का स्थान लेगा। इसका उपयोग मत्स्य क्षेत्रों का पता लगाने, समुद्र व मौसम की स्थिति तथा जलवायु अध्ययन में होगा।
छाताधारी जवान जिम्मा सम्भालेंगे
जोधपुर। जोधपुर में प्रस्तावित आतंक निरोधक बल (एटीएफ) में सेना के कमाण्डो व छापामार कार्रवाई में दक्ष स्पेशल फोर्स के छाताधारी जवान तैनात किए जाएंगे। एटीएफ में बीएसएफ के जवान भी शामिल होंगे। यहां जवानों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।
बिच्छू का डंक
वैसे तो थल सेना की छह स्पेशल फोर्स हैं, लेकिन पश्चिम क्षेत्र के एक स्थान पर तैनात स्पेशल फोर्स के कमाण्डो अपने प्रतीक चिह्न "बिच्छू" की तरह ही डंक मारते हैं। ये कमाण्डो करगिल संघर्ष समेत कई कार्रवाइयों में जांबाजी दिखा चुके हैं। स्पेशल फोर्स ने प्रमुख शहरों, पर्यटन स्थलों व महत्वपूर्ण ठिकानों पर आतंककारी हमले की सूरत में त्वरित कार्रवाई का प्रशिक्षण देने के लिए विशेष कोर्स तैयार किया है।
इन्फेंट्री को प्रशिक्षण
स्पेशल फोर्स के जवान इन दिनों इन्फेन्ट्री के जवानों को विशेष प्रशिक्षण दे रहे हैं। यह प्रशिक्षण हासिल करने वाले इन्फेंट्री के फौजी अपनी यूनिटों में अन्य जवानों को प्रशिक्षण देंगे।

der se hi sahi bharat sarkar ka yah nirnay ati uttam hai .

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित