सोमवार, 29 जून 2009

गोवंश को लेकर हंगामा


भास्कर न्यूज Monday, June 29, 2009 07:07 [IST]

पाली. सदर थाना क्षेत्र के रामासिया गांव के समीप चारा-पानी के लिए खड़े गोवंश को देखकर नागरिकों ने विवाद खड़ा कर दिया। माहौल गर्माते देख पुलिस ने मौके पर पहुंचकर गोवंश को सदर थाने लेकर आ गई। वहां पर भी कुछ लोगों ने गोवंश को कत्लगाह ले जाने की आशंका जताते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। काफी समझाइश के बाद पुलिस ने लोगों को शांत किया। गोवंश को पुलिस ने पिंजरा पोल गोशाला को सौंपा है।

पुलिस के अनुसार हरियाणा से कुछ लोग पांच ट्रकों में गौवंश भरकर गुजरात की तरफ ले जा रहे थे। रामासिया के समीप एक ढाबा पर खाना खाने के लिए रुकने पर इन लोगों ने गोवंश को भी ट्रकों से उतारकर खाली कर दिया। इस दौरान सुशील विहार के समीप खड़े कुछ लोगों ने एक साथ इतना गौवंश देखकर वहां पर विवाद खड़ा कर दिया। घटना की सूचना मिलने पर ग्रामीण डीएसपी अरुण माच्या, सिटी डीएसपी प्रवीण कुमार जैन व सदर थाना प्रभारी गोपालसिंह खिंची ने पुलिस दल के साथ मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाइश की।

इसके बाद भी गौवंश को वापस ट्रकों में भरवाकर पुलिस थाने लेकर आ गए। यहां पर भी एबीवीपी, आरएसएस व शिवसेना से जुड़े निखिल व्यास, यशपालसिंह कुंपावत, अनिल, राजेश लुणिया सहित कई प्रतिनिधि मौके पर पहुंचकर गौवंश को गुजरात के कत्लखाने में ले जाने का आरोप लगाने लगे। वहीं गौशाला से जुड़े कई पदाधिकारी भी थाने में पहुंचकर गौवंश को भरण-पोषण के लिए गौशाला को सौंपने की मांग करने लगे। थाना परिसर के बाहर काफी लोगों की भीड़ जमा हो गई।

माहौल को देखते हुए पुलिस ने गौवंश परिवहन करने के आरोप में जसविंदर सिंह पुत्र बगीचासिंह निवासी चिडेवा मुक्तसर (पंजाब), हजारासिंह पुत्र गरजसिंह रजपूत निवासी ढारिया (पटियाला), सारणसिंह पुत्र कश्मीरसिंह निवासी चिडेवा मुक्तसर (पंजाब), मदनलाल पुत्र झंडाराम सिक्ख कुमावत निवासी निठार हिसार (हरियाणा) तथा रोशनलाल पुत्र गुलाबसिंह निवासी निठार हिसार (हरियाणा) को गिरफ्तार गौवंश को अपने कब्जे में लेकर भरण-पौषण के लिए बागड़िया रोड स्थित पिंजरा पोल गौशाला के प्रबंधकों को सौंपा है। वहीं पुलिस ने ट्रकों को भी जप्त कर लिया है। डीएसपी अरुण माच्या ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ गौवंश हत्याचार अधिनियन के तहत मुकदमा दर्ज जांच शुरू कर दी है।

source: http://www.bhaskar.com/2009/06/29/0906290710_dispute_in_pali.html


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित