शनिवार, 4 फ़रवरी 2017

जेएनयू प्रोफेसर मेनन के राष्ट्र विरोधी भाषण पर उबाल, जोधपुर व जयपुर में मामले दर्ज






 समाचार पत्रो से : 
जोधपुर । व्यास विश्वविद्यालय के अंग्रेजी विभाग की सेमीनार में जेएनयू की प्रोफेसर निवेदिता मेनन के राष्ट्र विरोधी भाषण को लेकर शुक्रवार को जमकर उबाल सामने आया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् जोधपुर महानगर ने प्रदर्शन कर विवि के संकाय व केन्द्रीय कार्यालय को बंद करवाया। जिसके बाद कुलपति ने तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की है। उधर, जोधपुर व जयपुर थाने में प्रो.मेनन और सेमीनार आयोजकों के खिलाफ अलग-अलग मामले दर्ज करवाए गए हैं।

देश विरोधी भाषण देकर विवादों में बनीं रहने वाली जेएनयू के स्कूल आफ इंटरनेशनल स्टडीज की प्रोफेसर निवेदिता मेनन ने गुरूवार को व्यास विश्वविद्यालय के अंग्रेजी विभाग की एक सेमीनार में भी जमकर राष्ट्र विरोधी विवादित भाषण दिया था। जिसको लेकर नवज्योति ने समाचार प्रकाशित किया था। जिसके बाद विवि के शिक्षकों और विद्यार्थियों ने जमकर आक्रोश जताया।

विवि करवाया बंद
एबीवीपी ने प्रो.मेनन और आयोजक शिक्षिका राजश्री राणावत और वीनू जॉर्ज के खिलाफ राष्ट्रदोह के मामले दर्ज करवाने की मांग को लेकर उग्र प्रदर्शन कर विवि के संकाय और केन्द्रीय कार्यालय बंद करवाया। छात्रों के दल ने संकायों में घूमकर बंद की अपील की, जिस पर अधिकतर शिक्षकों और विद्यार्थियों ने खुद ब खुद बंद का समर्थन जता दी। इंजीनियरिंग संकाय में बंद के दौरान आक्रोशित छात्रों ने लैब में कुछ कांच फोड दिए।

वहीं इंजीनियरिंग की परीक्षाओं का रूकवाने का प्रयास किया। जिस पर अतिरिक्त केन्द्राधीक्षक प्रो.एसके सिंह ने परीक्षा में दखल नहीं देने की हिदायत दी। जिस पर एबीवीपी के कार्यकर्त्ताओं से काफी बहस भी हो गई। लेकिन बाद में कुछ वरिष्ठ एबीवीपी छात्रेनताओं ने दखल देकर मामला शांत करवाया। इसके बाद परीक्षा शांति पूर्वक हो पाई। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने छात्रनेताओं को सख्ती दिखाकर रवाना किया।

कुलपति को कार से उतारा, कमेटी बनाई
बाद में केन्द्रीय कार्यालय के मुख्य द्वार पर छात्रों ने डेरा जमाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। कुलपति के आने पर कार को घेर कर नारेबाजी शुरू कर दी। वहीं कुलपति को कार से उतर कर पैदल ही कार्यालय के भीतर जाना पड़ा। काफी देर चर्चा के बाद कुलपति ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है। जिसमें प्रो.औतारलाल मीणा, प्रो.एस के परिहार और प्रो.वीके शर्मा को शामिल किया गया है। 

विवि आज भी बंद
महानगर मंत्री देवेन्द्र गेहलोत ने बताया कि जब तक आयोजक शिक्षकों को निलम्बित नहीं किया जाएगा। तब तक जेएनवीयू को बंद रखा जाएगा व कल पूरे प्रदेश में आन्दोलन राष्ट्र विरोधी भाषण को लेकर उग्र आन्दोलन किया जाएगा ।

प्रदर्शन के दौरान कुणाल सिंह भाटी, महेन्द्र  प्रताप चौधरी, अशोक सिरमण्डी, भूपेन्द्र सिंह सांकडा,  निकिता बोराणा, दिनेश पंचारिया, दिनेश देवडा, आशीष शर्मा, लक्ष्मी लखारा, दुर्गसिंह राजपुरोहित, कमलेश पटेल, राजेन्द्र सिंह बालेसर,चेतनराम ग्वाला, रघुवीर सिंह, सुरभि, कैलाश कंवर, सपना नायक, सुरज कंवर, दीक्षा नवल, मानवेन्द्र सिंह,उर्मित शर्मा, अनिल विश्नोई, दुदाराम, सतवीर चौधरी, सतीश गंगाणी, महेन्द्र जाट, दीपक गौड व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे ।

जोधपुर व जयपुर में मामले दर्ज
राष्ट्र विरोधी भाषण के मामले में जोधपुर के रातानाडा पुलिस थाने में विवि शिक्षक भर्ती संघर्ष समिति के अध्यक्ष ओमप्रकाश भाटी व आरटीआई कार्यकर्त्ता कैलाश विश्नोई ने शिकायत दर्ज करवाई। इसके अलावा जयपुर के बजाज नगर थाने में शंकर गौरा की ओर से मामला दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

इनका कहना है
अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की सीमाएं लांघकर अगर राष्ट्र विरोधी भाषण दिया गया है तो विवि को नियमानुसार कार्रवाई करनी चाहिए। - प्रो.अखिल रंजन गर्ग, पूर्व सिंडीकेट सदस्य।

विवि के माहौल के खराब करने के लिए जेएनयू की विवादित प्रोफेसर को बुलाने वाले आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई तत्काल प्रभाव से करनी चाहिए। - अनिल पंवार, कर्मचारी संघ अध्यक्ष।

 विवि के जेएनयू की प्रोफेसर और आयोजकों को खिलाफ मामला दर्ज नहीं करवाना मंशा पर सवाल खड़े करता है। विवि को राष्ट्र विरोधी र्श्मासार भाषण पर तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए थी । - मांगीलाल चौधरी, प्रदेश पदाधिकारी एबीवीपी।

विवि में राष्ट्र विरोधी भाषण की कड़े शब्दों में निंदा करते हैं। इस मामले में जल्दी ही एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई होनी चाहिए। - प्रो.कैलाश डागा, संगठन मंत्री विवि शैक्षिक संघ । 


साभार :: दैनिक भास्कर
साभार :: राजस्थान पत्रिका

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित