शनिवार, 27 मार्च 2010

अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा बैठक - समाचार पत्रों से


strot: http://www.amarujala.com/today/26KUR2M.asp
कुरुक्षेत्र में संघ का मंथन आज
भास्कर न्यूज & कुर�
गोरक्षा, कश्मीर मुद्दा व राष्टï्रीय सुरक्षा के मुख्य मुद्दों पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार सुबह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक का आगाज गीता निकेतन आवासीय विद्यालय के सभागार में हुआ। संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भारत माता के चित्र पर पुष्प अर्पित कर विधिवत रूप से इस कार्रवाई को अंजाम दिया। आने वाली 28 मार्च तक चलने वाली राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ व इससे संबंद्ध संगठनों की इस महत्वपूर्ण बैठक में 1400 प्रतिनिधि शिरकत कर रहे हैं। उदघाटन सत्र में संघ के सर कार्यवाहक सुरेश जोशी उर्फ भैय्या जी ने वार्षिक रिर्पोट पेश कर समाज के समक्ष अनुकरणीय उदाहरण पेश करने वाले नेताओं को नमन किया। उन्होंने श्रेष्ठ कर्मयोगी नानाजी देसमुख, संघ के अखिल भारतीय सह बौद्धिक प्रमुख रहे डा. श्रीपति शास्त्री, दक्षिण कर्नाटक के प्रांत संघ चालक डा. कृष्णमूर्ति, गुजरात प्रांत के नटवर सिंह , जम्मू कश्मीर के प्रांत संघ चालक ओमप्रकाश मैगी, वामपंथी नेता ज्योति बसु, छोटे लोहिया के रुप में विख्यात समाजवादी नेता जनेश्वर मिश्र, नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री गिरिजा प्रसाद कोइराला, आंध्र के धर्मजागरण प्रमुख भीमसेन राव देशपांडे सहित देश के अन्य हिस्सों में देशसेवा को समर्पण करने वाले महापुरुषों को श्रद्धांजलि दी। सुरेश जोशी उर्फ भैय्या जी ने बताया कि इस वर्ष विश्वमंगल गो ग्राम यात्रा के रूप में कई प्रमुख संगठनों के सहयोग से देश को जागरूक करने वाला आंदोलन चलाया गया। बैठक 28 मार्च को संपन्न होगी।यात्रा के दौरान देशभर के आठ करोड़ 35 लाख से अधिक लोगों की ओर से हस्ताक्षरित ज्ञापन महामहिम राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को सौंपा गया। सरकार्यवाहक सुरेश जोशी उर्फ भैय्या ने कहा कि आज देश की समस्याओं का समाधान केवल हिंदूत्व में है और हिंदू समाज में देशोत्मबोध, आत्मसम्मान की भावना प्रबल करना ही एकमात्र विकल्प है। यही कार्य राष्ट्रीय स्वयंसेवकसंघ कर रहा है। संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक 28 मार्च को संपन्न होगी।
स्त्रोत : http://www.bhaskar.com/2010/03/27/402324.html

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित