शुक्रवार, 19 जून 2015

आडवाणी के बयान का गलत मतलब निकाला गया: संघ'





नई दिल्ली, जून 19: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने आडवाणी का बचाव करते हुए कहा कि उनके बयान का गलत मतलब निकाला गया है।




















संघ के प्रवक्ता मनमोहन वैद्य ने कहा, उन्होंने आडवाणी का पूरा साक्षात्कार पढा है, उनकी बात को गलत समझा जा रहा है। मुझे नहीं लगता कि आपातकाल की स्थिति आएगी। आपातकाल किसी इलाके या प्रदेश में लगाई जा सकती है, पर पूरे देश में नहीं। मैं आडवाणी जी को जानता हूं, उनके बयान का गलत मतलब निकाला जा रहा है। उन्होंने आपातकाल लगाने के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की आलोचना की।


वहीं कांग्रेस ने भी आडवाणी के बयान को सही बताते हुए मौजूदा समय को आपातकाल जैसा बताया है। कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि जब सारा नियंत्रण कुछ व्यक्तियों के हाथों में सिमट जाता है तो आपातकाल का डर पैदा होना स्वाभाविक है और लोग भी इसका अनुभव कर रहे हैं। उन्होंने कहा, भाजपा के लोगों को ही लग रहा है कि आपातकाल की स्थिति आ गई है, लेकिन कोई कहने की हिम्मत नहीं कर रहा। अब लोगों के अधिकार पहले जैसे नहीं रहे, तभी उन्हें (आडवाणी) ऎसा लगता है।


सरकार" का नारा लगा रहे थे, हम तभी से चिंतित थे। क्योंकि अगर सब कुछ किसी एक व्यक्ति के हाथ में दे देंगे तो यह जनता के लिए बहुत खतरनाक होगा।
हिन्दुस्थान समाचार/नीरज/अनूप

साभार: न्यूज़ भारती

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित