सोमवार, 25 जुलाई 2011

संघ ने साधा सांप्रदायिक हिंसा विधेयक पर निशाना

संघ ने साधा सांप्रदायिक हिंसा विधेयक पर निशाना
हैदराबाद, एजेंसी: प्रस्तावित सांप्रदायिक हिंसा विधेयक के संबंध में सोनिया गांधी नीत राष्ट्रीय सलाहकार परिषद पर निशाना साधते हुए आरएसएस ने रविवार को आरोप लगाया कि मसौदा विधेयक देश के बहुसंख्यक समुदाय के साथ भेदभाव करता है और इसकी मंशा लोगों में मतभेद पैदा करने की है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने यहां एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि देश को कौन चलाता है। सांसद, प्रधानमंत्री और मंत्रिमंडल या राष्ट्रीय सलाहकार परिषद। उन्होंने दावा किया कि अगर आप सांप्रदायिक हिंसा विधेयक को पढ़ें तो इसकी मंशा लोगों के बीच मतभेद पैदा करने की लगती है। यह बहुसंख्यक समुदाय के साथ भेदभाव करता है। उन्होंने कहा कि देश की सीमा अब भी कमजोर है। आतंकवादियों की घुसपैठ अब भी जारी है और चीन की मंशा भी ज्ञात है। उन्होंने भ्रष्टाचार, रोजगार रहित आर्थिक वृद्धि और शिक्षा के वाणिज्यिकरण पर चिंता जताई।
http://in.jagran.yahoo.com/epaper/index.php?location=49&edition=2011-07-25&pageno=४

RSS chief lashes out at NAC

Times of India - ‎5 घंटे पहले‎
HYDERABAD: Stating that the proposed Prevention of Communal and Targeted Violence Bill was against the majority community, Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) chief Mohan Bhagwat on Sunday questioned the constitutional sanctity of National Advisory ...

RSS slams NAC on Communal Violence Bill

Indian Express - ‎17 घंटे पहले‎
Targeting Sonia Gandhi-led National Advisory Council over the proposed Communal Violence Bill, RSS on Sunday alleged the draft legislation discriminates against the majority community in the country and intends to create differences among people. ..

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित