मंगलवार, 2 नवंबर 2010

भ्रस्टाचार में फंसी कांग्रेस ने राष्ट्रवादी संघटन "संघ' पर आतंकवाद में लिप्त होने का थोपा आरोप जनता का ध्यान बताने की साजिश

नई दिल्‍ली। हाल ही में कांग्रेस महासचिव [^] राहुल गांधी ने राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ (आरएसएस) की तुलना प्रतिबंधित संगठन स्‍टूडेंट इस्‍लामिक मूवमेंट आफ इंडिया (सिमी) से की, तो जमकर बवाल मचा, लेकिन अब पूरी कांग्रेस [^] ने आरएसएस पर प्रहार किया है। कांग्रेस ने कहा है हाल ही में हुई जांच [^] में पता चला है कि आरएसएस व उसके सहयोगी संगठन आतंकवादी गतिविधियों में शामिल हैं। ये लोग राष्‍ट्र को तोड़ने की कोशिश में लगे हैं, इन्‍हें ध्‍वस्‍त करना होगा।

राजधानी के तालकटोरा स्‍टेडियम में मंगलवार को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की बैठक के बाद एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कांग्रेस ने कहा कि आतंकवादी तत्व चाहे कहीं से भी आते हों, वे राष्ट्री को तोड़ने का काम [^] करते हैं और पार्टी उनसे हर कीमत पर लड़ेगी। कांग्रेस ने कहा "भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ऐसे हर तत्व से लड़ेगी जो धार्मिक नफरत, पूर्वाग्रह और धर्मांधता का प्रचार करता है।"

कांग्रेस की बैठक में महंगाई पर भी चर्चा हुई। कांग्रेस ने महंगाई का ठीकरा राज्‍य सरकारों पर फोड़ते हुए सरकार से कहा कि जरूरी चीजों की कीमतों को नियंत्रित करना बेहद जरूरी है।

कश्मीर मुद्दे पर पार्टी ने समस्या को सुलझाने के लिए तीन वार्ताकारों के दल नियुक्त करने के कदम का स्वागत करते हुए उम्‍मीद जताई कि उमर अब्‍दुल्‍ला की सरकार इसमें सकारात्‍मक भूमिका अदा करेगी।
The Congress on Tuesday attacked RSS and its sister organizations, accusing them of being involved in terrorism. Finance minister Pranab Mukherjee said, "Recent investigation reveals the true colour of RSS. It shows the involvement of RSS members in acts of terrorism. Congress will continue its fight against communal forces who are trying to destabilize India."
नई दिल्ली: कांग्रेस ने आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा उससे जुड़े संगठनों को आड़े हाथ लेते हुए उन पर आतंकवाद में संलिप्त होने का आरोप लगाया।

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज यहां हुई एआईसीसी की बैठक में पार्टी का वक्तव्य पेश करते हुए कहा, ‘‘विस्तृत जांच के जरिये हाल ही में हुए खुलासे से संघ तथा उससे जुड़े संगठनों का असली चरित्र उजागर होता है।'

उन्होंने कहा, ‘‘जांच में उनके :संघ के: सदस्यों की आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तता के संकेत मिलते हैं।’’ वक्तव्य में संघ के संदर्भ को शामिल किये जाने को जायज ठहराते हुए मुखर्जी ने कहा कि आरएसएस को बेनकाब करना होगा। उसके आतंकवादी गतिविधियों के साथ संबंधों की बात हाल ही में मालूम चली है।

एआईसीसी के वक्तव्य में कहा गया कि जांच में आतंकवादी गतिविधियों में संघ के सदस्यों की संलिप्तता के संकेत मिलते हैं।

वक्तव्य कहता है, ‘‘साम्प्रदायिक और आतंकवादी तत्वों का स्रोत चाहे कुछ भी हो, उनका मकसद हमारे राष्ट्र के ताने-बाने को छिन्न-भिन्न करना है। हम पूरी ताकत से ऐसे तत्वों का मुकाबला करेंगे। कांग्रेेस उन सभी ताकतों से लड़ेगी जो साम्प्रदायिक नफरत, कट्टरता और दुराग्रह फैलाकर लोगों को धर्म के आधार पर बांटती हैं।’’

घोटालों में फंसी कांग्रेस ने अलापा "हिन्दू" आतंकवाद का राग

PrintPDF
पिछले दिनों प्रकाश में आए कई बडे आर्थिक घोटालों और भ्रष्टाचार के आरोपों में फंसी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने एक बार आतंकवाद और हिन्दू संगठनों को जोडने का प्रयास करते हुए कहा है कि संघ और उसके सहयोगी संगठन कई आतंकी घटनाओं में शामिल रहे हैं.

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में चल रहे एआईसीसी के अधिवेशन में पार्टी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला बोला. पहले दिन प्रणव मुखर्जी ने कहा कि पिछली घटनाओं की गहरी जांच में आरएसएस और इसके सहयोगी संगठनों का असली चेहरा सामने आ गया है. उन्होने कहा कि कांग्रेस आतंकवाद के खिलाफ लड रही है और पार्टी किसी भी तरह की आतंकी या सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ सख्ती से काम लेगी जो देश की अखंडता को खतरा पहुंचाने की सोच रहे हैं.

पार्टी ने अपनी कश्मीर नीति की भी सराहना की और कहा कि घाटी में बातचीत के प्रयासों को जारी रखा जाएगा. उल्लेखनीय है कि इस अधिवेशन में भ्रष्टाचार पर कोई बात नहीं हुई
source :http://www.tarakash.com/2/news/india/4434-aicc-meeting-sangh-hindu-terrorism.html

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित