सोमवार, 22 फ़रवरी 2016

गाय को राष्ट्रीय प्राणी घोषित करें - शंकरलालजी, अखिल भारतीय गौ सेवा प्रमुख


गाय को राष्ट्रीय प्राणी घोषित करें - शंकरलालजी, अखिल भारतीय गौ सेवा प्रमुख
गाय का घर गौ शाला नही किसान का  घर हैं - ओटाराम जी देवासी




अखिल भारतीय गो सेवा प्रमुख माननीय शंकरलाल जी उध्बोधन देते हुए


जोधपुर,21 फरवरी 2016. गो विज्ञान अनुसंधान समिति के राज्य स्तरीय प्रतिभा सम्मान समारोह ओर जनचेतना समागम में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के अखिल भारतीय गो सेवा प्रमुख माननीय शंकरलाल जी ने कहा कि गाय को राष्ट्रीय प्राणी घोषित किया जाए। खचाखच भरे मेडिकल काॅलेज के सभागार में उपस्थित प्रतिभागियों और सम्मानित नागरिकों को सम्बोधित करते हुए शंकरलाल जी ने कहा कि गो माता विलक्षण प्राणी हैं इसका सर्वधन और संरक्षण अति आवश्यक हैं। उन्होंने बैलों को परिवहन के रूप में उपयोग, समाधि खाद, सींग खाद आदि कई उत्पादों की चर्चा की। उन्होंने नंदी बैल के संरक्षण के भी सरकार से अपिल की।

इस अवसर पर विशिष्ठ अतिथि नवरंग लाल जी शर्मा ने गाय से सम्बन्धित 18 बिन्दुओं पर चर्चा कि उन्होंने प्रतिभागियों को बताया कि गाय का दूध दो प्रकार का होता है। ए 1 व ए 2 जिसमें से ए 1 दूध हानिकारक होता है जबकि ए 2 दूध लाभदायक होता है। जिसे अलग से पैकिंग की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने गोबर व गो मूत्र आधारित कम लागत की खेती पर जोर दिया। वैकल्पिक ऊर्जा के लिए गोबर गैस प्लाण्ट का सरलीकरण व पंचगव्य उत्पादों के प्रमाणीकरण कि आवश्यकता बताई।

इस अवसर पर राजस्थान सरकार के गो पालन एवं देव स्थान विभाग के राज्य मंत्री ओटाराम जी देवासी ने कहा कि गो विज्ञान समिति बहुत-बहुत बधाई कि पात्र हैं जिन्होंने गो परीक्षा के माध्यम से विद्यालय बच्चों में अच्छे संस्कारों का प्रवाह किया हैं। सरकार ने राजस्थान में गो पालन विभाग का गठन किया हैं। मैंने दिल्ली में भी यह प्रस्ताव रखा है कि गो पालन विभाग पूरे भारत में बनाया जाए ताकि अच्छे नस्ल की गायें और बैल प्राप्त हो सके। गाय हमारी माँ है गाय का घर गौ शाला नही किसान का  घर हैं। प्रत्येक किसान संकल्प ले लें । वह चार-पाँच गायों का पालन करे तो इस देश में फिर से दूध घी की  नदियाँ बह सकती हैं। प्लास्टिक एक समस्या हैं जिसे जन जागरण द्वारा ही दूर किया जा सकता हैं।

श्री 1008 महामण्डलेश्वर दाती महाराज मदन जी राजस्थानी सम्बोधित करते हुए 
इस अवसर पर अपने ओजस्वी भाषण में श्री 1008 महामण्डलेश्वर दाती महाराज मदन जी राजस्थानी ने कहा कि भारत कि सनातन संस्कृति महान हैं हम पर आज अति आधुनिकता हावी हो गई हैं। इसे बचाना होगा अन्यथा हमें विनाश के लिए भी तैयार रहना होगा।

शनिधाम ट्रस्ट राजस्थान में गौ शालाएँ बना रहा हैं। उन्होंने बच्चों से भारत की सनातन संस्कृति  और भारत की माटी से प्यार करने  की बात कहीं। 

इस अवसर पर गो विज्ञान अनुसंधान परीक्षा में राज्य, जिला, तहसील और जोधपुर प्रान्त पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय आने वाले सभी प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह और प्रमाण पत्र वितरित किए गए। 

इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत प्रान्त संयोजक कैलाश जोशी ने किया। परीक्षा प्रतिवेदन ओमप्रकाश गौड ने प्रस्तूत किया। धन्यवाद ज्ञापन क्षैत्रिय अध्यक्ष गोविन्द प्रसाद सोडानी ने किया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रिय प्रचारक दुर्गादास जी , प्रान्त कार्यकारिणी के चन्द्रशेखर जी , विभाग प्रचारक धर्मेन्द्र सिंह जी , भाजपा जिला अध्यक्ष देवेन्द्र जोशी, जोधपुर शहर विधायक कैलाश जी भंसाली, स्वदेशी जागरण मंच के प्रदेश संयोजक धर्मेन्द्र दुबे, सुदर्शन सेवा समिति के राधा किशन राव एवं जिला शिक्षा अधिकारी चेतन प्रकाश सैन, मंगलाराम मेघवाल, ओमसिंह राजपुरोहित, ओम प्रकाश चारण सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

   

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित