गुरुवार, 18 फ़रवरी 2016

सुदर्शन सेवा संस्थान द्वारा 101 युगल का सामुहिक पाणिग्रहण संस्कार सम्पन्न

सुदर्शन सेवा संस्थान द्वारा  101 युगल का सामुहिक पाणिग्रहण संस्कार  सम्पन्न 

मंच का एक दृश्य

नवदम्पतियों  का एक सामूहिक दृश्य



जोधपुर।  सुदर्शन सेवा संस्थान द्वारा संचालित सर्वजाति सामुहिक विवाह समिति के तत्वावधान मे बसन्त पंचमी को आदर्श विद्या मन्दिर केशव परिसर मे विभिन्न जाति बिरादरी के 101 युगल का सामुहिक पाणिग्रहण संस्कार संस्थान के अध्यक्ष रतन लाल गुप्ता के नेतृत्व मे किया गया।


 समारोह का शुभारम्भ राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के वरिष्ट प्रचारक नन्दन लाल जी ने दीप प्रजवलित कर किया। इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री अरूण चतुर्वेदी व महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री श्रीमति अनिता भदेल मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित थे।  राष्ट्रीय  स्वयंसेवक संघ के  प्रान्त प्रचारक मुरलीधर जी ,प्रान्त संघचालक ललित जी  शर्मा, जोधपुर के सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत, विधायिका सूर्यकान्ता व्यास, विधायक कैलाश भंसाली व बाबू सिंह राठौड़, महापौर घनश्याम  ओझा,उप महापौर देवेन्द्र सालेचा ,समाज सेवक डा.राम गोयल ने वरवधुओं को आशीर्वाद  प्रदान किया। 

कार्यक्रम के प्रारम्भ मे समिति के पुखराज चोपडा, हिरालाल कुलरिया, नथमल पालीवाल, निर्मल गहलोत, रामस्वरूप गोधा, गौतम जीरावला, भंवरलाल पंचारिया,शिवरतन राठी, रतनलाल छाजेड,शैलाराम सारण, ज्ञानेश्वर भाटी, अशोक बाहेती ने अतिथियों का माल्यार्पण कर स्वागत किया। मंच संचालन संजय अग्रवाल द्वारा किया गया।

महामंत्री कमलेश गहलोत समिति के उद्देश्य गतिविधिया बताते हुए
समिति के महामंत्री कमलेश  गहलोत ने बतलाया कि समाज मे समाजिक समरसता की स्थापना करने हेतु सुदर्शन  सेवा संस्थान की और से 12 फरवरी बसन्त पंचमी को सर्वजाति सामुहिक विवाह का आयोजन किया गया । जिसमे 23 जाति बिरादरी के 101 युगल ने सामुहिक रूप से पाणिग्रहण संस्कार ग्रहण किया। उन्होने बतलाया कि 51 दूल्हो की बारात जुना खेडापति बालाजी व 50 दूल्हो की बारात रावण चबूतरा से प्रातः 9.30 बजे रवाना हुई। जिसमे लगभग दस हजार बाराती सम्मिलित हुए। रंगरंगीले साफे पहने बाराती  बैण्ड की धून पर नाचते गाते चल रहे थे। बारात मे महिलांए मंगल गीत गाती हुई स्वर लेहरियों की छठा बिखेर  रही थी। सर्वाधिक उत्साह बारात मे सम्मिलित युवाओं मे नजर आ रहा था जो नगारो की थाप पर अपने पैर थिरकते हुए उत्साहवर्धन हो रहे थे। प्रातः 11 बजे बारात आदर्श विद्या मन्दिर प्रागंण पहूॅची जहा समिति के पदाधिकारियों ने बारात का पुष्पवर्षा से भव्य स्वागत किया। बारात स्वागत पश्चात मंच पर वरमाला रस्म हुई । सभी युगल ने एक दूसरे के गले मे हार पहना कर एक दूसरे के हमराह बने।

सामूहिक विवाह की बारात का एक दृश्य
बिन माता पिता की 9 वधुएँ , बिन पिता की 18 वधुए , बिन माँ के २३ वधुएँ , 1  निःशक्त वधु एवं 1 बेसहारा वधु का पाणिग्रहण संस्कार इस कार्यक्रम में हुआ।

पण्डित राजेश  दवे के आचार्यत्व मे 125 आचार्यो ने सामुहिक रूप से वैदिक मंत्रोचारण कर 101 अलग अलग यज्ञवैदियों पर वर वधुओ को सात फेरे लगवा कर विवाह की समपूर्ण रस्म को विधि विदान से पूर्ण किया।

सामूहिक विवाह कार्यक्रम में परिवारजन एवं जन सामान्यजन
प्रवक्ता कैलाश कुमार ने बताया कि  विवाह स्थल पर महिला मण्डल द्वारा भव्य रंगोलियां सुसज्जित की गई।  भोजन की व्यवस्था 6 विशाल पंडाल मे की गई। जिसमे नगर सहः स्वंयसेवको ने व्यवस्थित रूप से वितरण व्यवस्था को सम्भाल कर रखा। प्रत्येक युगल के परिवार को ठहरने हेतु 101 केबिन स्थापित किये गये। स्वागत कक्ष से सभी सूचनाओं का उद्घोष किया गया। वरमाला रस्म हेतु 202 शाही कुर्सियों युक्त विशाल पंडाल बनवाया गया। नगर निगम अधिकारियों द्वारा कार्यक्रम स्थल पर ही विवाह प्रमाण पत्र जारी किये गये। 


महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री श्रीमति अनिता भदेल ने नवदम्पतियो को कन्या भ्रूण हत्या न करने का संकल्प करवाया। समाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री अरूण चतुर्वेदी द्वारा प्रत्येक जोडे को 25 हजार अनुदान देने की घोषणा की गई। कार्यक्रम समापन के पूर्व बीएसएनएल की और से निशुल्क सिम का वितरण किया गया।

समिति अध्यक्ष रतन लाल गुप्ता व महामंत्री कमलेश  गहलोत ने कार्यक्रम की भव्यतम सफलता हेतु कार्यकर्ताओं,  प्रशासनिक अधिकारियों, पत्रकार बन्धुओ, नगर निगम सहित आमजन का आभार व्यक्त किया।


सामुहिक विवाह के नव दम्पति 


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित