शनिवार, 14 जून 2014

हजारों नम आंखों ने दी राकेश कुमार को विदायी

हजारों नम आंखों ने दी राकेश कुमार को विदायी

मंडी अहमदगढ़. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक व सीमा जागरण मंच के अखिल भारतीय संगठन मंत्री श्री राकेश कुमार का शुक्रवार, 13 जून को यहां बजरंग अखाड़े के पास अंतिम संस्कार किया गया. जैसलमेर के पास 12 जून को एक सडक़ दुर्घटना में उनका निधन हो गया था. श्री राकेश कुमार के भतीजे श्री भूपेश कुमार ने जब दिवंगत देह को मुखाग्नि दी, उन्हें सदा के लिये विदा करने को उपस्थित हजारों आंखें नम हो गईं.



जोधपुर प्रांत के प्रांत प्रचारक श्री मुरलीधर के नेतृत्व में राजस्थान के कार्यकर्ता श्री राकेश कुमार की पार्थिव देह लेकर मंडी अहमदगढ़ पहुंचे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह-सरकार्यवाह श्री सुरेश सोनी, अखिल भारतीय सह-बौद्धिक प्रमुख श्री महावीर,  हिंदू जागरण मंच के अखिल भारतीय संयोजक श्री अशोक प्रभाकर, अखिल भारतीय सह-सेवा प्रमुख श्री गुरवंत सिंह कोठारी, क्षेत्रीय प्रचारक श्री रामेश्वर, सह-क्षेत्रीय प्रचारक श्री प्रेम कुमार, राजस्थान के क्षेत्रीय प्रचारक श्री दुर्गादास, जोधपुर प्रांत के प्रांत प्रचारक श्री मुरलीधर, पंजाब के संघचालक स. बृजभूषण सिंह बेदी, सह-प्रांत संघचालक ब्रिगेडियर (से.नि.) जगदीश गगनेजा, प्रांत प्रचारक श्री किशोरकांत, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री कमल शर्मा, पंजाब के कैबिनेट मंत्री श्री अनिल जोशी, मुख्य संसदीय सचिव श्री सोमप्रकाश, विधायक श्री अश्विनी कुमार, श्री मनोरंजन कालिया सहित अनेक गणमान्य लोगों ने अंतिम संस्कार में शामिल हो कर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि दी.

श्री राकेश कुमार की आत्मिक शांति के लिये 22 जून को दोपहर 1 बजे मंडी अहमदगढ़ के रॉयल पैलेस में श्रद्धांजलि सभा आहूत की गई है. श्री राकेश कुमार चार भाई हैं जिनमें से एक का कुछ समय पूर्व ही देहांत हुआ है. सभी भाइयों के परिवार मंडी अहमदगढ़ में सम्मानपूर्वक जीवन व्यतीत कर रहे हैं.

राकेश जी का रहा आदर्श प्रचारक जीवन: भय्याजी जोशी

नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री सुरेश (भय्याजी) जोशी ने श्री राकेश कुमार के असामयिक निधन पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा, “बंधुवर राकेश जी का आकस्मिक निधन हम सभी के लिये एक गहरा आघात है . सर्वशक्तिमान ईश्वर हमारे धैर्य की परीक्षा ले रहा है. स्वयंस्वीकृत मार्ग पर चलकर संगठन की अपेक्षानुसार जो-जो भी दायित्व आता गया उसे पूरी निष्ठा-लगन और परिश्रमपूर्वक करने वाला एक आदर्श प्रचारक जीवन श्री राकेश जी का रहा है.”

सरकार्यवाह ने अपने शोक संदेश में कहा है कि एक अत्यंत कर्मठ, विकसित कार्यकर्ता की कमी हमें सदा ही वेदना देती रहेगी. जम्मू जैसे कठिन क्षेत्र में और वर्तमान में सीमा क्षेत्र में उनके द्वारा निर्माण किया गया कार्य,यही अब हम सब की स्मृति में रहेगा .आज देश भर में सैकड़ों कार्यकर्ता इस दुर्घटना से आहत हैं . ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि परिवारजन एवम् हम सभी को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करें. उनकी स्मृति में, मैं अपने श्रध्दासुमन अर्पित करता हूँ. ईश्वर दिवंगत आत्मा को सदगति प्रदान करे .




विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित