बुधवार, 11 सितंबर 2013

देश को आगे बढाने का काम युवाओं का-मुरलीधर ‘‘ भारत जागो दौड़’’ जोधपुर प्रान्त की खबरे

देश को आगे बढाने का काम युवाओं का-मुरलीधर

स्वामी विवेकानंद जी के मूर्ति पर माल्यार्पण करते हुए

कार्यक्रम में उपस्थित प्रान्त प्रचारक माननीय मुरलीधर जी, प्रान्त संघचालक ललित जी शर्मा , पूर्व संसद पुष्प जैन
पाली, 11 सितंबर।
प्रतिस्पर्धा, तनाव एवं दबाव से मुक्त पाली का युवा स्वामी विवेकानंद द्वारा दिखाए आदर्शों एवं देश के लिये अपने सम्मान को मन में लिये बुधवार को पाली का युवा दौड़ रहा था। हर कोई युवाओं के जोश और जज्बें को देख एक बारगी जहां था वहीं रूक उक्त दृश्य को निहार रहा था एवं युवाओं के उस मनतव्य को नमन कर रहा था जिसे अपने में आत्मसात कर पाली का युवा दौड़ रहा था। ये दृश्य था स्वामी विवेकानंद सार्ध शती समिति, पाली द्वारा आयोजित ‘‘भारत जागो दौड़’’ का।
11 सितंबर, 1893 को शिकागो में आयोजित विश्व धर्म संसद में संपूर्ण विश्व के धर्म गुरू, चिंतक, मनीषी एवं बुद्धिजीवी भारत के एक ओजस्वी युवा शक्ति पुंज ‘‘स्वामी विवेकानंद’’ से परिचित हुए थे जिन्होंने संपूर्ण विश्व में अपने ज्ञान एवं दृष्टीकोण से भारत के प्रति लोगों की सोच को बदला था। विश्व धर्म संसद में विश्व बंधुत्व का संदेश देकर अपने भाषण की शुरूआत करने वाले स्वामी विवेकानंद के ज्ञान व चिंतन ने देश को एक नई दिशा दी थी। इसी उपलक्ष्य में स्वामी विवेकानंद की 150 वीं जन्म जयंति पर पूरे भारत देश में ‘‘भारत जागो दौड़’’ का आयोजन किया गया। इसी क्रम में पाली शहर में भी इस दौड़ का आयोजन हुआ। 


शहर के स्वामी विवेकानंद चैराहे पर एकत्रित होकर हजारों की संख्या में पाली शहर की विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के विद्यार्थी, सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी, खिलाड़ी एवं आम जन इस दौड़ में धावक बन दौडे। स्वामी विवेकानंद चैराहे से शुरू होकर बांगड़ स्कूल, अहिंसा सर्किल, सूरजपोल, धोला चैतरा, सोमनाथ, घी का झंडा, बादशाह का झंडा, सर्राफा बाजार, राणाप्रताप चैक, पुराना बस स्टैंड होते हुए पुनः स्वामी विवेकानंद सर्किल पर समाप्त हुई इस दौड़ में शहर के विभिन्न संगठनों के 5789 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। दौड़ को पूर्व सांसद पुष्प जैन, विधायक ज्ञानचंद पारख एवं नगर परिषद सभापति केवलचंद गुुलेच्छा ने झंडी दिखा रवाना किया।


जगह जगह स्वागत-सत्कार एवं पुष्पवर्षाः-  पाली के युवाओं के इस जोश के समर्थन में पाली के व्यापारी एवं सामाजिक संगठन भी आगे आए। देश के लिये दौड़ रहे युवाओं का पुष्प वर्षा कर जगह जगह लोगों ने स्वागत किया। साथ ही भारत माता एवं स्वामी विवेकानंद की जयकार लगा युवाओं का उत्साह वर्धन भी किया। स्वामी विवेकानंद सर्किल पर नगर परिषद पाली द्वारा जलपान की व्यवस्था की गई थी।


दौड़ के मार्ग में विवेकानंदः- दौड़ के दौरान स्थान स्थान पर स्वामी विवेकानंद के जीवन के विभिन्न अध्यायों को जीवंत करने वाले स्वरूप धरे छात्र आकर्षण का केन्द्र रहे। 


 दौड़ के पश्चात युवाओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांतप्रचारक श्री मुरलीधर ने देश की वर्तमान परिस्थितियों, सीमा पर मंडराते खतरे, एवं जनता में बढ रही नैराश्यता की भावना को सामने रखते हुए देश की युवा पीढ़ी को इन सबसे निपट देश को स्वामी विवेकानंद के सपनों का भारत बनाने का आह्नान किया। श्री मुरलीधर ने कहा कि युवाओं को राष्ट्र की उन्नति के एक ध्येय को लेकर न केवल आगे बढना है अपितु संपूर्ण राष्ट्र को वैभव पर पहुचाना है।


अतिथि सम्मानः- कार्यक्रम में भामाशाह सालेचा फूड प्रोडक्ट के छगनलाल सालेचा, ओसवाल पापड़ के कांतीलाल छाजेड़, मेड़तीया स्वीट होम के राजू भाई मेहता, समाज सेवी मिश्रीमल सोहन सिंह, भारतीय विद्या मंदिर समूह के सीताराम जोशी, सार्ध शती समिति के राष्ट्रीय पदाधिकारी घनश्याम ओझा, वरिष्ठ प्रचारक श्री नंदलाल ‘‘बाबाजी’’, समाजसेवी मोहन सिंह राजपुरोहित, पूर्व सांसद पुष्प जैन, विधायक ज्ञानचंद पारख, सभापति केवलचंद गुलेच्छा, निजी शिक्षण संस्थान के कृष्णकुमार शर्मा, आर्यवीर दल के महेश बागड़ी का समिति के उगमराज सांड, अनिल भंडारी, प्रवीण त्रिवेदी, जयशंकर त्रिवेदी, निखिल व्यास, ललित शर्मा, रोहित राजपुरोहित, पीयुष शर्मा एवं साथी कार्यकर्ताओं द्वारा स्वागत किया गया।


लक्की ड्राः-  कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रतिभागीयों का लक्की ड्रा निकाला गया। इसमें प्रथम पुरस्कार के रूप में 5100 रूपये नकद वंदे मातरम स्कूल के मोहम्मद आसिफ को मिला वहीं दुसरा पुरस्कार 3100 रूपये नकद हरिप्रसाद को मिला। साथ ही तृतीय पुरस्कार के रूप में 2100 रूपये एवं 100 सांत्वना पुरस्कार भी दिये गये।


निखिल व्यास ,युवा आयाम संयोजक बताया की इस कार्यक्रम में शहर की सरकारी एवं निजी शिक्षण संस्थाएं, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, आर्य वीर दल, अभाविप, महाराणा प्रताप कमाण्डो फोर्स, जेसीस, समेत विभिन्न सामाजिक संगठन एवं विभिन्न जाति बिरादरी के सदस्यगण उपस्थित थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में कमल गोयल, सुरेश माथुर, भुवन दवे, मुकेश वैष्णव, महावीर सालेचा, दिनेश परिहार आदि कार्यकर्ताओं का सहयोग रहा।



जैसलमेर। 
स्वामी विवेकानन्द सार्ध शती समारोह समिति के द्वारा आज ‘‘भारत जागो दौड़‘‘ का आयोजन किया गया। इस दौड़ का आयोजन 11 सितम्बर 1893 को शिकागो धर्म सभा में स्वामी विवेकानन्द  द्वारा दिये गये उद्बोधन के जयन्ती दिवस के उपलक्ष में किया गया। यह दौउ सत्यदेव व्यास पार्क से प्रारंभ हुई।दौड़ प्रांरभ होने से पूर्व आयोजन समिति के क्षैत्रिय कार्यकारिणी सदस्य श्री बालकिसन जगाणी ने धावको को सम्बोन्धित किया। अपने सम्बोधन में श्री जगाणी ने विवेकान्दजी को इस सदी का सबसे बड़ा युग पुरूष बतया और कहा कि स्वामी विवेकान्द भारत के महान धर्म प्रचारक हुवे। जिन्होने धर्म प्रचारक का कार्य करते हुवे शिकागो में सनातन धर्म का परचम फहराया तथा भारतीय संस्कृति से सम्पूर्ण विश्व को अवगत करवाया।
श्री जगाणी ने विवेकानन्दजी की यात्रा का विवरण बताते हुवे कहा कि उन्हेाने अनके कष्ट उठाकर ऐसा महत्वपूर्ण कार्य किया। अतः उनके जीवन चरित्र से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए।
इस दौड़ में विद्यालय,महाविद्यालय के छात्रों के साथ नगर के गणमान्य व्यक्ति भी शामिल हुवे। दौड़ का प्रांरभ सत्यदवे व्यास पार्क से हुआ जहां ड़ाॅ.दाऊलाल शर्मा विभाग संघ चालक, श्री बालकिसन जगाणी एवं श्री अमृतलाल दैया ने दौड़ को झन्डी दिखाई।
दौड़ नगर के विभिन्न मार्गो से होकर सत्यदेव पार्क पर सम्पन्न हुई जहां नगर संयोजक श्री मानव व्यास ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन  श्री राजेश व्यास जिला सहसंयोजक ने किया।
 विवेकानन्द के बतायेमार्गपरचलें युवा- खत्री

खुहड़ी स्वामी विवेकानन्द शार्द्ध षताब्दी समारोह समिति जैसलमेर द्वारा भारत जागो दौड़ का आयोजन खुहड़ी में किया गया। स्थानीय समिति के श्री अलसगिरी ने बतायाकि खुहड़ी में स्वामी विवेकानन्द की षार्द्ध षताब्दी वर्ष पर खुहड़ी में भारत जागो दौड़ का आयोजनकिया गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवकसंघ के जिला संघचालक मा. त्रिलोकचन्दजी खत्री ने स्वामी विवेकानन्द के बताये मार्ग पर चलने का युवाओं से आह्वान किया।श्री खत्री ने बताया है कि स्वामीजी के बताये मार्ग पर चलकर ही हम देश  को विष्वगुरू के सिहासन पर आसीन कर सकते है।
कनोई  स्वामी विवेकानन्द षार्द्ध षताब्दीसमारोहसमितिजैसलमेर द्वाराभारतजागोदौड़ काआयोजनकनोईमेंकियागया।स्थानीय समिति के श्रीप्रेमसिंह ने बतायाकिकनोईमेंस्वामीविवेकानन्द की षार्द्ध षताब्दीवर्षपरकनोईमेंभारतजागोदौड़ काआयोजनकियागया।मुख्य वक्ताश्रीगणपतसिंह ने स्वामीविवेकानन्द के जीवन परप्रकाषडाला।


#ilh Lokeh foosdkuUn ’kk)Z ’krkCnh lekjksg lfefr tSlyesj }kjk Hkkjr tkxks nkSM+ dk vk;kstu #ilh esa fd;k x;kA LFkkuh; lfefr ds Jh eukst ’kekZ us crk;k fd #ilh es aLokeh foosdkuUn dh ’kk)Z ’krkCnh o"kZ ij #ilh es aHkkjr tkxk snkSM+ dk vk;kstu fd;k x;kAeq[; oDrk ftyk izpkjd Jh ohjsUnzflagth us LokehfoosdkuUn ds thou ij izdk’k Mkyrs gq, ;qokvksa dks dgk fd ;qok Hkkjr dk izk.k gS vkSj ;qok gh Lokeh th ls izsj.kk ys dj Hkkjr dks fo’o’kfDr cuk;sxkA
 


E;ktykj Lokeh foosdkuUn ’kk)Z ’krkCnh lekjksg lfefr tSlyesj }kjk Hkkjr tkxks nkSM+ dk vk;kstu E;ktykj esa fd;k x;kALFkkuh; lfefr ds Jh /kesUnz jkBh us crk;k fd E;ktykj esa Lokeh foosdkuUn dh ’kk)Z ’krkCnh o"kZ ij E;ktykj esa Hkkjr tkxks nkSM+ dk vk;kstu fd;k x;kA ftlesa fo|ky; ds Nk=ksaa vkSj xkao ds x.kekU; O;fDr;ksa us Hkkxfy;k A nkSM+ dk vk;kstu E;ktykj pkSjkgs ls djds xkao ds fofHkUu ekxksAls gks dj E;ktykj pkSjkg sij lekiu gqvkA lekiuij /kkodksadks lEcksf/kr djrs gq, rglhy dk;Zokg Jhekaxhyky ckHkf.k;ka us ;qok ’kfDr dks Hkkjr dks Hkz"VkpkjeqDr] tkfrokn eqDr djus ,oa Lokeh foosdkuUn ds thou ls izsj.kk ysdj jk"Vª dks fo’oxq: ds flgklu ij iqu% vk:< djus dk vkg~oku fd;kA dk;ZØe esa jk.kqey HkkxZo us Hkh Lokehth ds thou ij izdk’k MkykA dk;ZØe esa ujirflag] ’kfDrflag] izsekjke] Hkejkjke] ckcwykyxxZ] nhun;ky] fnus’kpUnz] vkfn us Hkkx fy;kA lxrflag us /kU;okn Kkfir dj fn;kA dk;ZØe dk lapkyu cnzhukjk;.k th ’kkL=h us fd;kA

सादड़ी।  स्वामी विवेकानंद सार्धशती समारोह के तहत् सादड़ी नगर में ‘‘ भारत जागो दौड़’’ का आयोजन स्थानीय आजाद मैदान से ब्रज भाटा बारली सादड़ी तक किया गया। शिवशक्ति सेवा केन्द्र पर स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्वलन कर सार्धशती समारोह समिति के सहसंयोजक एडवोकेट हीरसिंह राजपुरोहित ने दौड का शुभारम्भ किया । इस दौड़ में 200 युवाओं ने भाग लिया । इस अवसर पर एडवोकेट हीरसिंह राजपुरोहित ने स्वामी विवेकानंद के जीवन पर विस्तृत रूप  से प्रकाश डाला तथा युवाओंको उनके बताये गये मार्ग पर चलने का आह्वान किया । इस कार्यक्रम में दिलीप सोनी, सुरेशपुरी गोस्वामी, दिनेश त्रिवेदी,  प्रभूदास वैरागी, सुरेश मालवीय, एडवो.विनोद मेघवाल, पर्वतसिंह राजपुरोहित, दीपक ठाकुर ,जगदीश प्रिंस टेलर, दिनेश धोका, सुरेश छीपा,,दुर्गेश चैधरी, महेन्द्र गिरी, कमलेश गिरी, खुबीलाल सैन, प्रकाश चैहान ,प्रतापसिंह, नरेन्द्रसिंह,भैराराम,मनीषश्रीमाली आदि  उपस्थित थे ।


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित