मंगलवार, 13 दिसंबर 2016

भारतीय स्वाभिमान और शौर्य का उद्घोष है पांचजन्य - रूद्रकुमार


भारतीय स्वाभिमान और शौर्य का उद्घोष है पांचजन्य  - रूद्रकुमार
 


सिरोही।     राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 90 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर साप्ताहिक पत्रिका पाॅचजन्य के संग्रहणीय विशेषांक का विमोचन कार्यक्रम एवं गोष्ठी बाबा रामदेव होटल के गार्डन में सम्पन्न हुआ।

कार्यक्रम के मीडिया प्रमुख राकेश पुरोहित ने जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम का शुभारम्भ कार्यक्रम के अतिथि पूज्य संत श्री सूरदासजी महाराज, स्वामी अध्वरेशानंद सरस्वतीजी महाराज, मुख्य वक्ता रूद्रकुमार तथा जिला संघचालक हंसराज पुरोहित के द्वारा डाॅक्टरजी, गुरूजी व भारतमाता के चित्र के समक्ष द्वीप प्रज्जवलन कर किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत में बालिका आदर्श विद्या मंदिर की बालिकाओं ने सरस्वती वंदना पर नृत्य प्रस्तुत किया। तत्पश्चात् दिनेश कलावंत ने राष्ट्रगीत वन्देमातरम् व काव्यगीत प्रस्तुत किया।

जिला प्रचार प्रमुख परबतसिंह ने पधारे हुए अतिथियों का परिचय एवं स्वागत कार्यक्रम सम्पन्न करवाया। विभाग प्रचार प्रमुख जयगोपाल पुरोहित ने विमोचन कार्यक्रम व पाॅचजन्य पत्रिका की सम्पूर्ण भूमिका सभी के समक्ष रखी।

 संघ के नगर प्रचार प्रमुख प्रकाश माली ने बताया कि पूज्य संत सूरदासजी के आशीर्वचनो पश्चात् स्वामी अध्वरेशानंद सरस्वतीजी ने देश में व्याप्त बुराईयों और कुरीतियों पर कुठाराघात करने के लिए व सनातन संस्कृति के विस्तार के लिए पाॅचजन्य पत्रिका सर्वश्रेष्ठ है। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता संघ के कुटुम्ब प्रबोधन प्रमुख ने बताया कि सन् 1925 में संघ स्थापना से ही संघ संस्कृति व समाज को एक सूत्र में पिरोने के लिए कार्यरत है जो डाॅ. केशव बलिराम हेडगेवार व श्री गुरूजी के बनाये मार्ग का अनुसरण कर सम्पूर्ण देश व विश्व के कई देशो में संघ के स्वयंसेवक राष्ट्रहित के कार्यो में संलग्न है।

कार्यक्रम का संचालन राजेश त्रिवेदी ने किया व आशुतोष व्यास ने सभी का आभार प्रकट किया।  कार्यक्रम में प्रचार टोली के कार्यकर्ता कपिल त्रिवेदी, नरेन्द्रसिंह, मनोज पुरोहित, नरेन्द्र ओझा, शिवप्रसाद व्यास, महेन्द्र प्रजापति व नगर में कार्यरत विभिन्न सामाजिक व धार्मिक संगठन, विश्वहिन्दू परिषद, बजरंग दल, विद्यार्थी परिषद, एन.एस.यू.आई. आदि कार्यकर्ताओं सहित प्रबुद्ध नागरिको ने भाग लिया।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित