सोमवार, 9 फ़रवरी 2015

सीमाजन द्वारा गो शिविरों की अवधि बढ़ाने की मांग

सीमाजन द्वारा गो शिविरों की अवधि बढ़ाने की मांग

जैसलमेर । सीमाजन कल्याण समिति की जैसलमेर शाखा ने अकाल प्रभावित जैसलमेर जिले में गो शिविरों के संचालन की अवधि बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री को जिला कलक्टर के माध्यम से ज्ञापन भेजा है।

सीमाजन के जिला मंत्री शरद व्यास ने ज्ञापन में बताया कि अकाल एवं सूखा प्रभावित जैसलमेर जिला गत दो वर्षों से अकाल से त्रस्त है। गोवंश चारे व पानी के अभाव में दम तोड़ रहा था। राज्य की सरकार द्वारा 1 नवम्बर 2014 से गो शिविर पर अनुदान जारी करने से गोवंश पर आया संकट टल गया था।

वर्तमान में एक लाख 70 हजार गोवंश का विभिन्न पशु शिविरों के माध्यम से संरक्षण किया जा रहा है। परंतु गो शिविरों के संचालन की निर्धारित 90 दिन की अवधि 1 फरवरी 2015 को समाप्त हो जाने से जिले में संचालित सैकड़ों गो शिविर बंद होने के कगार पर पहुंच गये हैं। श्री व्यास ने लिखा कि अगर अविलम्ब गो शिविरों की अवधि नहीं बढ़ाई गई तो गोवंश का जीवन संकट में पड़ सकता है और स्थानीय पशुपालकों को अन्यत्र जिलों और राज्यों में पलायन करना पड़ सकता है।

समिति की ओर से मांग की गई है कि तुरंत प्रभाव से गो शिविरों की अवधि आगामी जुलाई माह में बारिश होने तक बढ़ाई जाये। साथ ही समिति ने पशु शिविरों के भुगतान के लिए बजट उपलब्ध करवाने का भी मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित