सोमवार, 12 जनवरी 2015

सीमाजन कल्याण समिति की प्रांत बैठक संपन्न

सीमाजन कल्याण समिति की प्रांत बैठक संपन्न

जैसलमेर 11 जनवरी २०१४ । सीमाजन कल्याण समिति की प्रांत बैठक स्थानीय ‘सीमाजन छात्रावास’ में संपन्न हुई। जिसमें जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर और श्रीगंगानगर के प्रांत प्रतिनिधियों ने समिति द्वारा संचालित प्रकल्पों, कार्यक्रमों और गो शिविरों के सुचारू प्रबंधन के संबंध में विस्तार से समीक्षा की।

बैठक के प्रारंभ में प्रदेश संगठन मंत्री नीम्बसिंह ने समिति के वर्ष पर्यन्त चलने वाले कार्यक्रमों से अवगत करवाते हुए प्रस्तावित कार्यों की रूपरेखा प्रस्तुत की। प्रांतीय महामंत्री बंशीलाल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में अकाल प्रभावित जैसलमेर जिले में 40 गो शिविर का संचालन किया जा रहा है। बाड़मेर में शिविर प्रस्तावित हैं।
उन्हांेने कहा कि समिति के कार्य आम जनता के लिए उपयोगी किस प्रकार साबित हो सके, इस पर विचार किया जाना आवश्यक है। क्योंकि सीमावर्ती जिले के नागरिक सुरक्षा की अहम कड़ी है। उन पर आये संकटों का निवारण होना चाहिए। प्रदेश महामंत्री ने बताया कि समिति के कार्यकर्ता नशामुक्ति और स्वच्छता अभियान की सफलता के लिए और अधिक सक्रिय होकर कार्य करेंगे।

समिति के प्रदेश अध्यक्ष कांतिलाल ठाकुर ने कहा कि समयाभाव और प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद समिति के कार्यकर्ता लगन से काम कर रहे हैं। इसी त्याग और पवित्र भावना से आगे चलकर कार्य करें। आने वाले अनुकूल माहौल में कार्य विस्तार स्वाभाविक रूप से हो सकेगा।

बैठक में जैसलमेर जिला मंत्री शरद व्यास ने समिति द्वारा संचालित गो शिविरों की गतिविधियों से अवगत करवाया। इससे पहले प्रदेश प्रतिनिधियों के यहां पहुंचने पर जिलाध्यक्ष अलसगिरी, अमरसिंह सोढ़ा, वीरेन्द्रसिंह बैरसियाला और पवन जीनगर ने उनका स्वागत किया।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित