शुक्रवार, 19 दिसंबर 2014

प्रदेश संगठन मंत्री ने गो शिविरों का निरीक्षण किया



                         प्रदेश संगठन मंत्री ने गो शिविरों का निरीक्षण किया
 
गौ शिविर के निरीक्षण करते और गोपालकों से चर्चा करते सीमाजन कल्याण समिति के प्रदेश संग़ठन  मंत्री

जैसलमेर । सीमाजन कल्याण समिति के प्रदेश संगठन मंत्री नीम्बसिंह ने जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में समिति द्वारा संचालित किये जा रहे गो शिविरों का निरीक्षण किया और संचालकों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

नीम्बसिंह ने जिले के मिठड़ाऊ, म्याजलार, बींजराज का तला, पोछीना, करड़ा, मसूरिया, देवीकोट, बोगनियाई, मोढ़ा, रणधा, लखा, केसरसिंह का तला, फुलिया, बैरसियाला, काठा, धाणेली और खुहड़ी में संचालित शिविरों का निरीक्षण करते हुए व्यवस्थाओं की जांच की। उन्हांेने ग्रामीणों से कहा कि वे गो शिविर स्थलों की साफ सफाई का पूरा ख्याल रखें। साथ ही गायों में किसी तरह की छोटी-बड़ी बीमारी की जानकारी मिलने पर तुरंत पशु चिकित्सक को सूचित करें।

 प्रदेश संगठन मंत्री नीम्बसिंह ने  गो शिविर पर साइन बोर्ड लगाने के लिए भी शिविर संचालकों से अनुरोध किया। उन्हांेने ग्रामीणों से बातचीत में कहा कि अकाल के मौजूदा हालात में गोधन सर्वाधिक प्रभावित है। गोधन को इस मुश्किल घड़ी से उबारने में प्रत्येक जन को अपनी भूमिका निभानी चाहिए। नीम्बसिंह ने गो सेवा को सबसे बड़ी सेवा बताया।

कई गांवों में ग्रामीणों ने सीमाजन के प्रदेश संगठन मंत्री को बताया कि गांव में पेयजल की आपूर्ति के साथ बिजली आपूर्ति की समस्या विद्यमान है। इस मौके पर समिति के जिलाध्यक्ष अलसगिरी तथा डाॅ. विरेन्द्रसिंह बैरसियाला उनके साथ थे।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित