शनिवार, 29 नवंबर 2014

देश में परिवर्तन का श्रेय समाज कोः भागव

हरिद्वार। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघ चालक मोहन भागवत ने कहा कि देश में परिवर्तन का श्रेय समाज को जाता है। संतों का आह्वान करते हुए कहा कि संत समाज जनता के बीच जाकर लोगों को उचित-अनुचित बताए। हिदू समाज के सभी घटकों के बीच भरोसा जगाना आवश्यक है।

कनखल स्थित जगदगुरु आश्रम में ब्रह्ममलीन स्वामी प्रकाशानंद महाराज की मूर्ति अनावरण पर शुक्रवार को आयोजित धार्मिक कार्यक्रम में संघ प्रमुख ने विभिन्न विषयों पर अपनी बात रखी। भागवत ने कहा कि हिंदू धर्म, हिंदू संस्कृति व हिंदू समाज तीनों का संरक्षण जरूरी है। समाज के दबाव को हर विषय में कारगर बताते हुए उन्होंने कहा कि देश का आगे बढ़ना तय है और भारत विश्व गुरु बनेगा।

बच्चों के नामकरण पर टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि पहले बच्चों के अर्थपूर्ण नाम रखे जाते थे। उसके बाद रिंकू-टिंकू नाम का प्रचलन हुआ। इनका कोई अर्थ नहीं है। भारतीय समाज में हर बात का अर्थ होता है। इस बात का कार्यक्रम में मौजूद संतों ने तालियां बजाकर समर्थन किया।

कार्यक्रम में जगदगुरु आश्रम के परमाध्यक्ष स्वामी राजराजेश्वाश्रम महाराज, महानिर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर जयदेव महाराज और कालीकापीठाधीश्वर सुरेंद्र नाथ अवधूत समेत अनेक लोग मौजूद रहे
साभार नई दुनिया 

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित