रविवार, 24 नवंबर 2013

संघ ने लिया 24 करोड़ परिवारों में हिंदुत्व जागरण का संकल्प

संघ ने लिया 24 करोड़ परिवारों में हिंदुत्व जागरण का संकल्प

लखनऊ, नवम्बर 22 : पूरे विश्व में फैले हिन्दुओं को संगठित कर भारत में समग्र परिवर्तन के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने देश के 24 करोड़ परिवारों में हिन्दुत्व जागरण का संकल्प लिया है। संघ के अनुसार  किसी परिवार के एक व्यक्ति के बजाए उस पूरे परिवार को संघ से जोड़ना अधिक महत्वपूर्ण और लाभदायक साबित होगा। संघ का यह भी मानना है कि जिस परिवार की महिलाएं संघ के साथ जुड़ने का फैसला करेंगी उस परिवार में राष्ट्रवाद और हिन्दुत्व की जड़ें अधिक मजबूत होंगी।

लखनऊ स्थित विश्व संवाद केन्द्र के अधीश सभागार में पत्रकारों को संबोधित करते हुए संघ के अवध प्रान्त संघचालक प्रभुनारायण श्रीवास्तव ने कहा, "मजबूत भारत के निर्माण के लिए देश में मजबूत परिवार की नींव डालने की आवश्यकता है। हमारी परिवार व्यवस्था के कारण ही आज तक भारत की आर्थिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक विरासत सुरक्षित है।"

देश में घटते नारी सम्मान, लव जिहाद जैसी समस्याओं के लिए परिवार भाव के महत्व को बताते हुए उन्होंने कहा कि बचपन से ही परिवारों में बच्चों को अच्छा संस्कार देकर ही अच्छे नागरिक तैयार किए जा सकते हैं।

प्रभुनारायण की मानें तो इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर ही संघ ने यह महत्वपूर्ण अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है। देशभर में जगह-जगह परिवार मिलन का आयोजन हो, अनेक परिवार एक साथ बैठें। आपस में बैठकर अपने पारिवारिक विरासत की चर्चा करें।

परिवार प्रबोधन के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम को संघ गांव-गांव ले जाना चाहता है। इसलिए लखनऊ में परिवार प्रबोधन समिति का गठन किया गया है। इस समिति के ही तत्वावधान में लखनऊ में पहली बार दम्पति सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। यह कार्यक्रम संघ के लिए कितना महत्वपूर्ण है। यह इस बात से पता चलता है कि परिवार प्रबोधन अभियान के अखिल भारतीय संगठन मंत्री सुब्रह्मण्य भट्ट स्वयं इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे।

परिवार प्रबोधन प्रशिक्षण वर्ग के बारे में बताया कि यह वर्ग राजेंद्र नगर स्थित नवयुग रेडियन्स सीनियर सेकंड्री स्कूल के सभागार में आयोजित किया जा रहा है। इसमें राजधानी के सैकड़ों दम्पति भाग लेंगे। 

source: http://hn.newsbharati.com

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित