शनिवार, 7 जुलाई 2012

जोधपुर प्रान्त में भी केंद्र सरकार के वार्ताकारों द्वारा कश्मीर पर तैयार रिपोर्ट के विरोध में व्यापक स्तर पर देशव्यापी धरने प्रदर्शन का आयोजन किया गया


जोधपुर प्रान्त में भी केंद्र सरकार के वार्ताकारों द्वारा कश्मीर पर तैयार रिपोर्ट के विरोध में व्यापक  स्तर पर देशव्यापी धरने प्रदर्शन का आयोजन किया गया .
प्रस्तुत है जोधपुर प्रान्त की खबरे 
जोधपुर

फलौदी  केंद्र सरकार के वार्ताकारों द्वारा कश्मीर पर तैयार रिपोर्ट के विरोध में शुक्रवार को सीमाजन कल्याण समिति के तत्वावधान में हिंदूवादी संगठनों ने कचहरी के पास धरना दिया और वार्ताकारों का पुतला जलाकर विरोध जताया। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। उल्लेखनीय है कि हिंदूवादी संगठनों की विगत दिवस हुई बैठक में कश्मीर को देश से अलग करने की साजिश बताते हुए कहा गया था कि यह षड्यंत्रपूर्वक तैयार की गई रिपोर्ट है। इसे किसी हालत में स्वीकार नहीं किया जा सकता। समिति के तहसील मंत्री विजय पालीवाल ने बताया कि हिंदूवादी संगठनों ने दोपहर बाद जुलूस निकाला।

पीपाड़ शहर  सीमाजन कल्याण समिति राजस्थान के तत्वाधान में कश्मीर बचाओ आंदोलन के तहत शुक्रवार को सुबह श्यामाप्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर कार्यकर्ताओं ने सुभाष घाट पर धरना दिया। धरने में विहिप संघ, हिंदू महासभा व भाजपा से जुड़े सैकड़ों कार्यकर्ता ने भाग लिया । धरने का संचालन आदर्श विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य रामपाल जोशी व समिति के सतीश व्यास ने किया। समिति के तत्वावधान में धरना स्थल से जुलूस रवाना हुआ जो शहीदों का चौक, सदर बाजार, चौपाटा बाजार, कोटगेट, काला भाटा, मुख्य बस स्टैंड होते हुए उपखंड कार्यालय पहुंचा। इस दौरान विभिन्न हिंदू संगठन के अलावा भाजपा से जुड़े कार्यकर्ता बड़ी संख्या में उपस्थित थे। धरने को संबोधित करते हुए विहिप के पूर्व जिलाध्यक्ष गंगानारायण उपाध्याय ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा कश्मीर समस्या का मुद्दा सुलझाने के लिए तीन सदस्यों से वार्ता कर दल का गठन किया गया। रिपोर्ट में कश्मीर को अलग-थलग करने का प्रयास किया गया है। इसे देशवासी कभी भी स्वीकार नहीं करेंगे। इस दौरान महेंद्रसिंह कच्छवाह ने कहा कि हिंदू संगठनों के अलावा मुस्लिम भाइयों से भी देश हित में एकता दिखाते हुए केंद्र सरकार के निर्णय का विरोध करना चाहिए। भाजपा अध्यक्ष रामरख आचार्य, भाजपा जिला उपाध्यक्ष दयाराम शैल, पूर्व अध्यक्ष प्रकाशचंद मेहता, वकील जगदीश दवे, अल्पसंख्यक मोर्चा भाजपा अध्यक्ष हाजी शेर खान, जिला मंत्री दुलीचंद सोनी, महामंत्री संजय अरोड़ा, वरिष्ठ नेता सीताराम सोनी, प्रवक्ता जयनारायण जांगिड़, युवा मोर्चाा अध्यक्ष राजेंद्र सोनी सहित कई वक्ताओं ने संबोधित किया। धरने में भाजपा नेता जयराम टाक, नूर मोहम्मद तेली, बाबूलाल सोलंकी, रामकिशोर सैनी, सत्यनारायण आचार्य, रामकिशोर भूतड़ा, युवा मोर्चा महामंत्री महेंद्र गौड़, दिनेश आर दवे सहित बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

बिलाड़ा  सीमाजन कल्याण समिति के तत्वावधान में कस्बे के विभिन्न संगठनों ने तहसील कार्यालय के बाहर दो घंटे तक धरना देकर नायब तहसीलदार को राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपा। बिलाड़ा विधायक अर्जुनलाल गर्ग ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। इसको अलग नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार इस तरह के निर्णय करके देश को बांटने का काम कर रही है। धरने पर एबीवीपी के प्रदेश महामंत्री वीरेंद्रसिंह सोढ़ा ,पूर्व मंत्री मिश्रीलाल चौधरी, सह जिला संघचालक दलपतसिंह सीरवी, कंवराराम विश्नोई, महेश दाधीच, पार्षद जगदीश आसेरी, कैलाशदान, प्रवीण भार्गव, किशोर मेघवाल, शिवदत्त कविया, रूपसिंह परिहार, सत्यनारायण सोनी, सहीराम विश्नोई सहित कई लोग मौजूद थे।

बाप  जम्मू-कश्मीर बचाओ मंच के तत्वावधान में सीमाजन कल्याण समिति के बैनर तले विभिन्न संगठनों ने शुक्रवार को कस्बे के उपतहसील कार्यालय के समक्ष धरना दिया। धरने में विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, भाजयूमो, आरएसएस, भाजपा, एबीवीपी, भारतीय किसान संघ आदि संगठनों के कार्यकर्ता व पदाधिकारी शामिल थे। सुबह 10 से 2 बजे तक धरना देने के बाद राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन नायब तहसीलदार को सांैपा। समिति के तहसील अध्यक्ष सांगसिंह भाटी, बारू सरपंच आसूसिंह भाटी, फूलसिंह भाटी, मूलसिंह मोडरड़ी, महेश पालीवाल, रामचंद्र, नखताराम, भाखरसिंह, शंकरलाल, पदमसिंह, रूगसिंह, करणीसिंह, हिंगलाजदान, देवीलाल सहित कई लोग धरने में शामिल हुए।
ओसियां  सीमाजन कल्याण समिति ओसियां शाखा के बैनर तले कश्मीर को भारत से पृथक करने के निर्णय के विरोध में शुक्रवार को धरना दिया। धरने के बाद राष्ट्रपति का नाम का ज्ञापन उपखंड अधिकारी को सौंपा। धरने का संबोधित करते हुए देहात जिला उपाध्यक्ष जगराम विश्नोई ने कहा कि कश्मीर के संबंध में केंद्र सरकार की ओर से ठित तीन सदस्य कमेटी द्वारा कश्मीर को अलग करने संबंधी दिए गए निर्णय को लागू नहीं होने देने सहित कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। धरने को जिला कार्यवाहक उदाराम गोदारा, बीरमाराम, सत्येंद्र सारण, जिला परिषद सदस्य भागीरथ बैनीवाल, कैलाश बेड़ा, भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष जसाराम जाणी, भाजयुमो के जिला प्रवक्ता ओमप्रकाश तापू सहित कई कार्यकर्ता ने संबोधित किया। धरने में विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, भारतीय किसान संघ, शिक्षक संघ, विद्या भारती, भाजपा, हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने भाग लिया। धरने में सुनील लाहोटी, मालमसिंह राजपुरोहित, पूर्व जिला परिषद सदस्य कन्हैयालाल राठी, पूर्व पार्षद पप्पू सारण, नारायणराम पांचला, मगराज कटारिया, बद्रीनारायण सोनी, सुखराम जाखड़, बीरमसिंह राजपुरोहित सहित दर्जनों कार्यकर्ता शामिल थे।

भोपालगढ़  सीमाजन कल्याण समिति भोपालगढ़ इकाई की ओर से कश्मीर समस्या के लिए गठित कमेटी की रिपोर्ट के विरोध में शुक्रवार को हिंदूवादी संगठनों एवं भाजपा कार्यकर्ताओं धरना दिया। कार्यकर्ताओं ने उपखंड कार्यालय के सामने धरना दिया और राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। धरने पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक चंद्रशेखर, पूर्व राजस्व मंत्री रामनारायण डूडी, विधायक कमसा मेघवाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष जयराम जाखड़, आसोप सरपंच जितेंद्रसिंह परिहार, मंडल उपाध्यक्ष भीरमराम रलिया व मालाराम सिहाग, महामंत्री घीसाराम देवड़ा, किसान मोर्चा मंडल अध्यक्ष सुखराम रलिया, पीपाड़ कृषि मंडी अध्यक्ष प्रतिनिधि ओमगिरि गोस्वामी, जगदीश डूडी, भाजयुमो के जिलामंत्री किशोरसिंह डूडी, मंडल अध्यक्ष श्याम चोयल मलार, महामंत्री रामप्रसाद पांगा, उपाध्यक्ष रामनिवास गोदारा, ओमप्रकाश सेंवर सैनी, मनसुख चोटिया, भाजपा रजलानी ग्राम इकाई अध्यक्ष मांगीलाल गोदारा, माणकराम भनंगा, छात्रसंघ अध्यक्ष राजाराम सारण, दीनाराम भनंगा, रामलाल जलवाणिया, शिक्षक संघ के किसनाराम चौधरी, संघ के तहसील कार्यवाह किसनाराम सारण एवं व्यवस्था प्रमुख सत्यनारायण वैष्णव समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे।
पाली सीमा जन कल्याण समिति की ओर से शुक्रवार को पाली शहर के प्रमुख मार्गों से रैली निकाली गई। रैली के रूप में समिति के कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पर पहुंचे और वहां धरना दिया। कलेक्ट्रेट के बाहर कार्यकर्ताओं ने जम्मू कश्मीर पर नियुक्त वार्ताकार समूह के असंवैधानिक व राष्ट्र विरोधी प्रतिवेदन को निरस्त करने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। बाद में प्रतिनिधि मंडल ने प्रधानमंत्री के नाम का ज्ञापन कार्यवाहक कलेक्टर को सौंपा गया।
सीमा जन कल्याण समिति पाली के प्रभारी सुनील भंडारी ने बताया कि शुक्रवार को रैली शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची। कलेक्ट्रेट के बाहर जन समूह को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कमल किशोर गोयल ने कहा कि जम्मू कश्मीर मामले को सुलझाने के लिए बनाई गई कमेटी ने जो रिपोर्ट दी है वह असंवैधानिक है, जिसमें कई बिंदुओं की समीक्षा करते हुए उन्होंने बताया कि यह कश्मीर को भारत से अलग करने की साजिश है। इस मौके पर पूर्व सांसद पुष्प जैन ने कहा कि कश्मीर को भारत से अलग रखने के पीछे अलगाववादी ताकतें काम कर रही है। उन्होंने कश्मीर में धारा 370 को हटाने की आवश्यकता जताई। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पीएम जोशी ने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, जिसके पिछड़ेपन का कारण वहां लागू धारा 370 ही है। उन्होंने वार्ताकार समूह की रिपोर्ट को राष्ट्रविरोधी करार दिया। इस दौरान सीमा जन कल्याण समिति के पदाधिकारी, भाजपा, विश्व हिन्दू परिषद, एबीवीपी, राजपुरोहित समाज, सिंधू सभा, सिख समाज, खटीक समाज, जैन युवा संगठन, कुमावत समाज, सोनी समाज, श्रीमाली ब्राह्मण समाज, वैष्णव समाज, पुष्करणा ब्राह्मण समाज, चारणिया समाज, गौतम सुत सेवा समिति, बार एसोसिएशन के अलावा कई समाज के संगठन के पदाधिकारी मौजूद थे। मंच का संचालन अनिल भंडारी ने किया।
सुमेरपुर  जम्मू कश्मीर की विभिन्न समस्याओं पर केंद्र सरकार की ओर से गृहमंत्रालय द्वारा जारी की गई रिपोर्ट का विरोध जताते हुए सीमा जनकल्याण समिति राजस्थान शाखा सुमेरपुर ने शुक्रवार को रैली निकालकर प्रदर्शन किया। इसके बाद एसडीएम को राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन दिया। यहां के भैरू चौक से समिति के तत्वावधान में विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों ने वाहन रैली निकाली। वाहन रैली मैन बाजार, गांधी चौक, पुराना पाली बसस्टैंड, राजगुरु मंगल कलश चौराहा होते हुए उपखंड कार्यालय पहुंचे। वक्ताओं ने केन्द्र सरकार के विरोध में विचार रखे जहां धरने को पूर्व विधायक गुलाबसिंह राजपुरोहित, भाजपा के वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष नाहरसिंह जोधा, नगरपालिकाध्यक्ष सुभाषचंद्र अग्रवाल, जिला महामंत्री जोराराम कुमावत, भंवर देवड़ा, मोहन रावल, शैतानसिंह बिरोलिया, अशोकपालसिंह मीणा, सुरेंद्रसिंह चौहान, शंकरसिंह सोकड़ा आदि ने संबोधित किया।
इस दौरान मोहनलाल रावल, शैतानसिंह बिरोलिया, किरण मालवीय, पूनमसिंह परमार, जोराराम कुमावत ने उपखण्ड अधिकारी नरेशकुमार मालव को राष्ट्रपति के नाम छह सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। विरोध प्रदर्शन में पालिकाध्यक्ष सुभाषचन्द्र अग्रवाल, पूर्व विधायक गुलाबसिंह राजपुरोहित, नाहरसिंह जोधा समेत आरएसएस, भाजपा, युवा मोर्चा, विश्व हिन्दू परिषद, बजरंगदल, वनवासी कल्याण परिषद, विद्यार्थी परिषद, सेवा भारती आदि संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।

राष्ट्र विरोधी प्रतिवेदन निरस्त करने की मांग
पाली कामधेनु राष्ट्रीय गोरक्षा समिति पाली के कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष सोहनलाल सावल्ता के नेतृत्व में शुक्रवार को प्रधानमंत्री के नाम कार्यवाहक कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर पर नियुक्त तीन वार्ताकारों का प्रतिवेदन पूरी तरह असंवैधानिक, संसद की अवमाननाकारी एवं देश की अखंडता को चुनौती देने वाला है।

ऐसे राष्ट्र विरोधी प्रतिवेदन को केंद्र सरकार द्वारा जारी करने से देश में भारी आक्रोश है। जिलाध्यक्ष सावल्ता ने बताया कि प्रतिवेदन में जम्मू कश्मीर पर लागू भारतीय संविधान के प्रावधानों व केंद्रीय कानूनों को वापस लेने, जम्मू कश्मीर के संबंध में संसद के अधिकारों में कटौती, जम्मू कश्मीर में समानांतर राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के पदनाम जैसे सदर ए रियासत व वजीर ए आजम पद नाम करने, गर्वनर की नियुक्ति के केंद्र सरकार के अधिकार की समाप्ति जैसी अनगिनत राष्ट्र विरोधी अनुशंसाएं हैं। इसलिए इस प्रतिवेदन को अविलंब निरस्त किया जाए।

रानी सीमाजन कल्याण समिति के तत्वावधान में नगर में शुक्रवार को रैली निकालकर विकास अधिकारी को ज्ञापन दिया। रैली नगर के मुख्य मार्गों से होकर निकली। रैली हनुमान मंदिर पहुंची। यहां पर सभा को संबोधित करते हुए विहिप के विभाग मंत्री परमेश्वर जोशी ने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा गठित 3 सदस्य दल की रिपोर्ट कश्मीर समस्या का समाधान नहीं बल्कि अपने आप में समस्या को बढ़ाने का कार्य किया है। सभा को मंगलदास वैष्णव, हंसाराम भाटी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर रानी नगरपालिका के प्रतिपक्ष नेता डालचंद चौहान, हनुमानसिंह राजपुरोहित, हरीश गेहलोत, भूराराम, जोरसिंह, पोमाराम नाडोल, पूनाराम राठौड़, भरत जीनगर आदि मौजूद थे।
जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर विश्व हिन्दू परिषद एवं सीमाजन कल्याण समिति के आह्वान पर क्षेत्र के सभी हिन्दूवादी संगठनों ने विकास अधिकारी धनदान देथा को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर रिपोर्ट का विरोध किया। सवेरे हनुमान मंदिर से जुलूस निकाला गया, जो पंचायत समिति पहुंचा।
रायपुर मारवाड़. सीमा जन कल्याण समिति जोधपुर प्रांत के जिला प्रचारक श्यामसिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर पर नियुक्त वार्ताकार समूह के असंवैधिनिक व राष्ट्र विरोधी प्रतिवेदन का पारित कर न केवल हिन्दुत्व की भावनाओं के साथ कुठाराघात किया है। वे शुक्रवार को यहां के तहसील कार्यालय के समक्ष हिन्दुत्व संगठन की और से इस प्रतिवेदन के विरोध मे दिए गए धरने की सभा मे बोल रहे थे।

जिला कार्यवाह मुकेश शर्मा, हिन्दु सेवा मंडल अध्यक्ष कालूराम छीपा, पूर्व उपजिला प्रमुख गणपतराज बोहरा, किशन पालीवाल, देवराज गौड़,नगर विकास समिति सचिव महेश पारीक, कपिल लश्करी, आत्माराम गुप्ता, सहित प्र्रबुद्धजनों ने विचार रखे। प्रदर्शनकारियों ने केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया। प्रदर्शन के बाद उपखण्ड अधिकारी को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा।

बाली. सीमा जन कल्याणकारी समिति बाली के तत्वावधान में कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को नगर में रैली निकाली औ फिर उपखण्ड अधिकारी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। रैली व ज्ञापन देने वालों में पकाराम चौधरी, चुन्नीलाल चौधरी, पूनाराम, ç मोहन परमार सहित हिन्दू संगठनों के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता शामिल थे।

जैतारण. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों ने शुक्रवार को उपखण्ड मुख्यालय पर धरना लगा कर प्रदर्शन किया और उपखण्ड अधिकारी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। धरना स्थल पर सभा में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के जिला प्रचारक श्यामसिंह, भाजपा शहर मण्डल अध्यक्ष संतोषकुमार वैष्णव, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के तहसील कार्यवाहक श्रवण जांगीड सहित अन्य वक्ताओं ने विचार रखे। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में प्रबुद्धजनों ने हिस्सा लिया।


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित