बुधवार, 18 जनवरी 2012

संक्रांति महोत्सव को लेकर आरएसएस का घर-घर संपर्क अभियान


संघ कार्यालय में हुआ यज्ञ-पूजन


संक्रांति महोत्सव को लेकर आरएसएस का घर-घर संपर्क अभियान

बीकानेर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का 22 जनवरी को प्रस्तावित संक्रांति महोत्सव और त्रिवेणी संगम के उपलक्ष्य में मंगलवार को यज्ञ व पूजन का आयोजन किया गया। रानीबाजार स्थित संघ कार्यालय 'शकुंतला भवन' हुए यज्ञ में राजस्थान क्षेत्र के सह संपर्क प्रमुख प्रकाश चंद्र, नरोत्तम व्यास, ब्रह्मदत्त आचार्य, प्रांत प्रचारक मुरलीधर, नीम सिंह, विभाग प्रचारक निंबाराम, महानगर प्रचारक धर्मेंद्र आदि ने आहुतियां दी।

बीकानेर विभाग प्रचार निंबाराम ने बताया कि कार्यक्रम में संघ के सरसंघचालक मोहनराव भागवत सहित अखिल भारतीय सह शारीरिक प्रमुख जगदीश कुमार, क्षेत्र प्रचारक दुर्गादास, अखिल भारतीय सह सेवा प्रमुख सुहासराव, प्रांत प्रचारक मुरलीधर भी शामिल होंगे। कार्यक्रम के लिए बीकानेर शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संपर्क दल बनाए गए हैं। कार्यक्रम में नए व पुराने प्रत्येक स्वयंसेवक को जोडऩे के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए एक दल का गठन किया गया है जो पुराने स्वयंसेवकों की सूची बनाकर संपर्क कर रही है। इसके अलावा शाखाओं पर नियमित शारीरिक अभ्यास भी किया जा रहा है। संप र्क विभाग ने जहां समाज के प्रतिष्ठित एवं प्रबुद्ध वर्ग को जोडऩे की जिम्मेवारी ली है वहीं प्रचार विभाग ने प्रसार के विभिन्न माध्यमों पर अपनी पकड़ बना रही है। एक दशक बाद बीकानेर में हो रहे त्रिवेणी संगम को देखने के लिए शहरवासी भी उत्साहित नजर आ रहे हैं। महिलाओं को कार्यक्रम से जोडऩे का प्रयास भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि संघ के नगर योजना के अनुसार गंगाशहर, नागनेचेजी और लक्ष्मीनाथ क्षेत्रों से तरुण संचलन तथा जूनागढ़ नगर से बाल संगम निकलेंगे। वहीं मार्कंडेय नगर को महाविद्यालय विद्यार्थियों को जोडऩे की जिम्मेवारी सौंपी गई है।

बाल संगम का अभ्यास

संक्रांति महोत्सव पर जूनागढ़ नगर से निकलने वाले बाल संगम के लिए मंगलवार को सुबह स्वयंसेवकों ने अभ्यास किया। विभाग प्रचार निंबाराम, शारीरिक प्रमुख कुंजीलाल, महानगर घोष प्रमुख अमरीश, जूनागढ़ नगर कार्यालय राजेन्द्र सिंह के निर्देशन में रतन बिहारी पार्क से निकले लव व कुश पथक का संचलन घोष के साथ अलग-अलग रास्तों से गुजरते हुए तोलियासर भैरु जी मंदिर के पास स्थित निर्वाण भवन के आगे मिला।

स्त्रोत: दैनिक भास्कर

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित