बुधवार, 14 दिसंबर 2011

मजबूत लोकपाल से ही भ्रष्टाचार पर लगेगा अंकुश : वैद्य

गुड़गांव, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डा. मनमोहन वैद्य ने कहा कि मजबूत लोकपाल विधेयक से ही भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। केंद्र सरकार खानापूर्ति की बजाय मजबूत लोकपाल विधेयक तैयार करे। वे सोमवार को सेक्टर-14 में भाजपा के प्रदेश मीडिया सह प्रभारी व पूर्व आइआरएस अनुराग बक्शी के निवास स्थान पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

डा. वैद्य ने कहा कि कांग्रेस भ्रष्टाचार के खिलाफ कभी गंभीर नहीं दिखा। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का बयान हमेशा भटकाने वाला होता है। दिग्विजय हमेशा मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने का प्रयास करते रहे हैं, लेकिन अब उनके बयान का देश की जनता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। दिग्विजय सिंह के बयान पर संघ की ओर से कोई ठोस प्रतिक्रिया न आने के बारे में वैद्य ने कहा कि संघ भी दिग्विजय के बयानों को महत्व नहीं देता। अन्ना हजारे के आंदोलन में संघ की भूमिका पर वैद्य ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ यह आम आदमी का संघर्ष है। संघ संगठन स्तर पर अन्ना के आंदोलन से नहीं जुड़ा, बल्कि स्वयंसेवक आंदोलन से जुड़े हैं। केंद्र सरकार व कांग्रेस पार्टी द्वारा अन्ना के आंदोलन में संघ की भूमिका जैसे विषय को उठाना लोगों का ध्यान भटकाने का प्रयास है।

संघ प्रचारक ने कहा कि शुरू से ही संघ को बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। संगठनात्मक विकास पर बल देते हुए मनमोहन वैद्य ने कहा कि संघ का विस्तार तेजी से कई क्षेत्रों में हो रहा है। शाखाओं में भी स्वयंसेवकों की संख्या बढ़ रही है। दरअसल संघ प्रचार करने से ज्यादा काम करने पर जोर देता है। इसके अलावा उन्होंने चुनावी व्यवस्था पर कहा कि सौ फीसदी मतदान हो तभी लोकतंत्र मजबूत होगा। इस दिशा में भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का प्रयास जारी है। बातचीत के दौरान उनके साथ प्रांतीय प्रचार प्रमुख सुशील एवं विभाग प्रचारक विजय कुमार भी उपस्थित थे।

स्त्रोत: http://in.jagran.yahoo.com/news/local/haryana/4_6_8618359_1.html

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित