मंगलवार, 15 नवंबर 2011


वो महाराणा प्रताप कठै...

पाली. वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप समिति की ओर से सोमवार रात सूरजपोल पर आयोजित एक शाम महाराणा प्रताप के नाम भजन संध्या में श्रोता देर रात तक भजनों की सरिता में डूबते-उतराते रहे। रमेश माली के गणपति और गुरु वंदना करने के साथ भजन संध्या में कलाकारों ने एक के बाद एक शानदार भजनों से मेवाड़ के गौरवपूर्ण इतिहास की गाथा सुनाई। भजन संध्या के सफर में माली के ‘म्हारा महाराणा प्रताप सरकार’ की प्रस्तुति के बाद महेन्द्रसिंह राठौड़ ने ‘मैं तो अरज करा गुरु थानै’ भजन से गुरु चरणों में वंदन किया। ‘धरती धोरां री’ भजन के माध्यम से राजस्थान के धरती का बखान किया। इसके बाद मोइनुद्दीन मनचला के मच पर आते ही श्रोताओं ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया। उनके ‘वो महाराणा प्रताप कठै’ व ‘अरे घास री रोटी’ भजन पर श्रोता झूमने पर मजबूर हो गए। श्रोताओं की मांग के कारण उन्हें इन भजनों की पंक्तियां वापस गाकर सुनानी पड़ी।

पुस्तक का विमोचन
भजन संध्या के दौरान मुख्य अतिथि एसपी अजयपाल लांबा, विधायक ज्ञानचंद पारख, एएसपी प्रसन्न कुमार खमेसरा, सुरेश माथुर, नेमीचंद अखावत आदि ने पुस्तकों व कूपन का विमोचन किया। समिति के कमल गोयल, परमेश्वर जोशी,अनिल भंडारी व हीरामोती वैष्णव आदि ने अतिथियों का माला पहनाकर व श्रीफल प्रदान कर स्वागत किया।

स्त्रोत:http://epaper.bhaskar.com/Details.aspx?id=118749&boxid=१११५१५९४६७५०

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित