शुक्रवार, 7 अक्तूबर 2011

जोधपुर प्रांत मेंविजयादशमी उत्सव व पंथ संचलन कार्यक्रम के समाचार




साभार : दैनिक भास्कर

जोधपुर प्रांत मेंविजयादशमी उत्सव व पंथ संचलन कार्यक्रम के समाचार
आरएसएस ने स्थापना दिवस मनाया
जोधपुर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का स्थापना दिवस गुरुवार को दशहरा पर्व पर महानगर में चार जगह मनाया गया। इस मौके पर स्वयं सेवकों व संघ पदाधिकारियों ने शस्त्र पूजन किया तथा स्वयं सेवकों ने व्यायाम प्रदर्शन किया। महानगर संघ चालक कांतिलाल ठाकुर ने बताया कि इस मौके पर अलग-अगल स्थानों पर संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य रंगा हरीशजी, संस्कृत भारती के सीके शास्त्री, एसडी गारवकर व एसडी पुजारी ने कार्यक्रमों में भाग लिया। इन लोगों ने स्वयं सेवकों को राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में जुटे रहने को कहा।

‘चीन की बढ़ती गतिविधियों से सचेत रहें’

आरएसएस ने किया पथ संचलन

श्रीगंगानगर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से गुरुवार को नेहरू पार्क में विजयादशमी उत्सव व पंथ संचलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पदाधिकारियों ने शस्त्र पूजन किया व सभा हुई। स्वयंसेवकों ने पथ संचलन किया।

सभा में क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख नंदलाल जोशी ने कहा कि अगर देशवासी चीनी वस्तुओं का त्याग कर दे, तो अपने आप ही ये वस्तुएं स्वयं देश से बाहर हो जाएंगी। उन्होंने भारत के विरुद्ध बढ़ रही चीन की गतिविधियों से सचेत करते कहा कि चीन भारत के विरुद्ध कोई भी षड्यंत्र रच सकता है। इसलिए हमें सचेत होना जरूरी हैं। संघ का पथ संचलन नेहरू पार्क से कोडा चौक, रविन्द्र पथ, व गोशाला रोड होते हुए वापस नेहरू पार्क में जाकर संपन्न हुआ। इस अवसर पर महेश पेड़ीवाल, गौरीशंकर गुप्ता, निर्मल जैन, अमर बोरड़, विजेंद्र पूनिया, संजय कौशिक सहित बड़ी संख्या में स्वयंसेवक उपस्थित थे।

...चल पड़े कोटि पग उसी ओर
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने निकाला पथ संचलन, किया शस्त्र पूजन, दिखाई ताकत
बीकानेर सुबह दस बजे जेल रोड स्थित खरनाड़ा मैदान से जब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यकर्ता ने शहर की ओर पहला कदम बढ़ाया तो सैकड़ों कदम उसी दिशा में बढ़ चले। इन कदमों को विराम एक घंटे बाद बाद मिला, तब तक शहर के कई मोहल्ले उनके कदमताल और अनुशासन को देख चुके थे।
देश का बड़ा दुश्मन चीन है

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सैनिक सेवा परिषद के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री विजय कुमार ने कहा कि भारत सरकार पाकिस्तान के साथ उलझी है जबकि देश का अब नंबर वन दुश्मन चीन है। चीन भारत को आर्थिक सामरिक मोर्चे पर घेरने की कोशिश कर रहा है। संघ स्थापना और विजय दशमी के मौके पर खरनाड़ा मैदान में संघ के स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए विजय कुमार ने कहा कि देश को अब चीन का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। समय आ गया है कि चीनी वस्तुओं को देश से बाहर फेंके वरना देश को आर्थिक रूप से गुलामी से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने कहा कि भारत में काल गणना व त्योहार विज्ञान पर आधारित हैं और यही कारण है कि मकर संक्रांति पूर्व में 12 फिर 13 और 14 जनवरी को मनाई जाती है मगर कुछ समय बाद यह 15 जनवरी को मनाई जाएगी। इससे पूर्व स्वयंसेवकों ने शारीरिक प्रदर्शन कर अपनी कला का प्रदर्शन किया। स्वयंसेवकों ने शस्त्र पूजन भी किया। इस मौके पर प्रांत संघ चालक भंवरलाल कोठारी, सह विभाग संघ चालक नंदकिशोर सोनी व महानगर संघ चालक नरोत्तम व्यास भी मौजूद थे।

सिर पर काली टोपी, सफेद शर्ट, खाकी हाफ पैंट, काले जूते, खाकी मोजे और हाथ में दंड लेकर स्वयंसेवक खरनाड़ा मैदान से निकले तो उनके स्वागत के लिए जगह-जगह आमजन एकत्र थे। स्वयंसेवक लेडी एल्गिन, नया कुआं, सुनारों की गुवाड़, कोचरों का चौक, कोठरियों का मोहल्ला, रांगड़ी चौक, भुजिया बाजार, बड़ा बाजार, आचार्यों का चौक, मरुनायक चौक, मोहतों का चौक, तेलीवाड़ा, दाऊजी मंदिर, जोशीवाड़ा, कोटगेट, सट्टा बाजार, बिस्कुट वाली गली, त्यागी वाटिका होते हुए वापस खरनाड़ा मैदान पहुंचा। इस दौरान जगह-जगह पर स्वयंसेवकों का लोगों ने पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। कोटगेट पर सांसद अर्जुनराम मेघवाल, शहर भाजपा अध्यक्ष शशि शर्मा, उपाध्यक्ष एडवोकेट सुरेश शर्मा, मांगीलाल डूडी, सचिव युधिष्ठिरसिंह भाटी, महिला मोर्चा की अध्यक्ष नीना अरोड़ा, मधुरिमा सिंह, किसान मोर्चा के प्रदेश मंत्री दीपक पारीक, गोविंद सिंह कच्छावा, जे.पी.व्यास, सुरेन्द्र सिंह शेखावत, युवा मोर्चा अध्यक्ष भूपेन्द्र शर्मा, देहात अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह राजवी, महामंत्री ललित भान सहित अनेक कार्यकर्ताओं ने स्वयंसेवकों का स्वागत किया। बीकानेर पूर्व क्षेत्र की विधायक सिद्धि कुमारी ने स्टेशन रोड़ पर कार्यकर्ताओं पर पुष्प वर्षा की। ढोल की थाप पर स्वयंसेवक कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रहे थे तो वहां मौजूद लोगों ने भारत माता की जय के नारों के साथ उनका उत्साहवर्धन किया। कुछ दुकानदारों ने थाली बजाकर स्वयंसेवकों का स्वागत किया। अन्य जगह भारतीय मजदूर संघ, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, युवा मोर्चा, महिला मोर्चा आदि संगठनों ने भी पथ संचलन का स्वागत किया। अल्पसंख्यक मोर्चा के मोहम्मद रमजान अब्बासी व मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के अयूब कायमखानी की अगुवाई में अल्पसंख्यक वर्ग के सदस्यों ने भी संघ के पथ संचलन का फूल बरसाकर स्वागत किया


पथ संचलन में मिलाए कदम से कदम
स्वयंसेवकों ने दिखाया अनुशासन
पोकरण राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने संघ का स्थापना दिवस तथा विजय दशमीं का पर्व उत्साह से मनाया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं ने अल सुबह उठकर शाखा के दौरान एक दूसरे को स्थापना दिवस की बधाई दी। स्थापना दिवस के अवसर पर कार्यकर्ताओं ने अनुशासनात्मक तरीके से पथ संचलन का आयोजन किया गया। काली टोपी, सफेद शर्ट, खाकी पैंट तथा हाथ में दण्ड लिए ढोल की ताल पर एक लय में पथ संचलन करते कार्यकर्ताओं को देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। अपने अनुशासनात्मक रवैये की अलग ही छाप छोड़ता हुआ यह संचलन शहर के विभिन्न मार्गों से होता हुआ अपने नियत स्थान पर पहुंचा। आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक से शुरू हुआ यह संचलन कुम्हारों की पोल से होता हुआ चौधरियों की गली, मुख्य बाजार, चिकित्सालय के पीछे से होकर जयनारायण व्यास चौराहा से पुन: मुख्य बाजार से होकर छंगाणियों की ग्वाड़ से होता हुआ आदर्श विद्या मंदिर बालिका पहुंंचा। जगह- जगह पर हुआ स्वागतराष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं की ओर से निकाले गए पथ संचलन का शहर के विभिन्न मोहल्लों व जगहों पर भावभीना स्वागत किया गया। संचलन के शुरू होने के साथ ही शहर के मुख्य मार्ग में स्वयंसेवकों का फूलों से स्वागत किया गया। इसी प्रकार जयनारायण व्यास चौराहा, नगरपालिका के आगे नगरपालिका अध्यक्ष छोटेश्वरी देवी, भू अभिलेख निरीक्षक आईदान माली, अधिशाषी अधिकारी जोधाराम विश्नोई सहित नगरपालिका कार्यकर्ताओं की ओर से फूलों की बरसात के साथ स्वागत किया गया। पुलिस थाना के आगे एबीवीपी के कार्यकर्ता प्रवीण व्यास, अनिल रंगा सहित अन्य कार्यकर्ताओं द्वारा संचलन में शामिल स्वयंसेवकों का स्वागत किया।

दुर्गा पूजा के साथ किया संचलन का विसर्जन: पथ संचलन का आदर्श विद्या मंदिर बालिका में विसर्जन किया गया। इस अवसर पर बालिका विद्यालय में दुर्गा पूजा का आयोजन रखा गया। जिसमें स्वयंसेवक कार्यकर्ताओं के साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता उपस्थित थे। इस अवसर पर सह जिला कार्यवाहक चिरंजीलाल सोनी ने बताया कि संघ की स्थापना वर्ष 1925 में विजय दशमीं के अवसर पर की गई थी।
इस अवसर पर स्वयं सेवक संघ के अधिकारियों ने भी विचार प्रकट किए। देवी पूजन के साथ ही कार्यकर्ताओं का मुंह मीठा करवाकर संचलन का विसर्जन किया गया।

"स्व और स्वत्व को जगाएं"

जालोर। देश अपनी गौरवशाली संस्कृति को भूल रहा है। लेकिन अब समय आ गया है जब हम अपने अंदर के स्व और स्वत्व को जगाएं। ये बात राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के क्षेत्रीय बौद्धिक प्रमुख कैलाशचन्द्र ने कही।

उन्होंने कहा कि विजयदशमी पर्व नाम से ही विजय की आकांक्षा पैदा होती है। उन्होंने बताया कि इसी दिन डॉ. हेडगेवार ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक की स्थापना की थी। तब से लेकर अब तक संघ विश्व कल्याण के लिए काम करता आ रहा है। साथ ही उन्होंने देश के समाज और सरकार को कमजोर बताते हुए इसे देश के लिए हानिकारक बताया।

इस मौके पर संत शीतलाईनाथ महाराज ने भी समाज को एकजुट होने की बात कही। इस दौरान आरएसएस के सह जिला संघ चालक कैलाशचन्द्र अग्रवाल भी मौजूद थे।

आहोर. कस्बे में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्थापना दिवस विजयादशमी पर गुरूवार शाम को तहसील क्षेत्र के स्वयंसेवकों का पथ संचलन एवं शस्त्र पूजन का आयोजन हुआ।

तहसील क्षेत्र के स्वयंसेवकों का पथ संचलन राउमावि के खेल मैदान से प्रारंभ हुआ, जो हॉस्पीटल तिराहे, मुख्य बाजार, पुराना बस स्टैण्ड, पुरानी सब्जी मंडी, मेघवालों का वास, तहसील के सामने से होता हुआ पुन: खेल मैदान पहुंचकर समाप्त हुआ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जोधपुर प्रांत के शारीरिक प्रमुख गंगाविष्णु व बाड़मेर विभाग के सह विभाग कार्यवाह खीमाराम ने स्वयंसेवकों को संबोधित किया। संघ के सह जिला प्रचार प्रमुख तेजकरण बालोत ने बताया कि विद्यालय के खेल मैदान स्वयंसेवकों ने शारीरिक प्रदर्शन किया। इसके बाद शस्त्र पूजन का आयोजन हुआ।

पथ संचलन का स्वागत
जालोर. इस मौके पर शहर के आदर्श विद्या मंदिर स्कूल से पथ संचलन भी निकाला गया। नगर प्रचार प्रमुख संजय राठौड़ ने बताया कि गगन भेदी घोष वादन के साथ स्वयं सेवकों के गणवेश मे निकले पथ संचलन का जगह-जगह स्वागत किया गया। पथ संचलन मे 5 वर्ष से लेकर 60 वष्ाü तक के स्वयंसेवकों ने भाग लिया। संचलन स्कूल प्रांगण से शुरू होकर भीनमाल बाइपास रोड, राजेन्द्र नगर, विवेकानंद स्मृति स्थल, मेजर शैतान सिंह मार्ग, भक्त प्रहलाद चौक, बड़ी पोल, कृष्ण चौक, सुभाष मार्केट, गांधी चौक से सूरज पोल होते हुए पुन: विद्यालय प्रांगण पहुंच सम्पन्न हुआ।

‘चीन हमारी संस्कृति का दुश्मन’
नागौर जाग्रत भारतीय समाज द्वारा चीन को आर्थिक व व्यापारिक चोट पहुंचाने के लिए चाइनीज वस्तुओं का बहिष्कार करना जरूरी है। राजनीति और चीन में ‘यूज एंड थ्रो’ की प्रवृत्ति है, जो हमारी संस्कृति के विपरीत है। ये विचार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बीकानेर विभाग प्रचारक निंबाराम ने संघ के स्थापना दिवस विजयादशमी पर आयोजित शस्त्र पूजन कार्यक्रम में व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि चीन में निर्मित प्लास्टिक व रबड़ के खिलौने कैंसर को बढ़ावा देने वाले व मनुष्य के लिए हानिकारक है। चीन अपने देश में बनी चीजों से भारत को ही नहीं और भी कई देशों को मानसिक व आर्थिक रूप से नुकसान पहुंचा रहा है। घुसपैठ व अन्य देशों से गुट नीति अपनाकर भारत के सामरिक हालात को खराब कर रहा है। अरुणाचल प्रदेश को हड़पने की चाह उसे अवसरवादी ठहराती है। अध्यक्षीय उदबोधन में जानकीदास महाराज ने भारत कर्मयोग में विश्वास करके व्यवहार का प्रत्यक्ष दिखाने वाला देश है। बुराई व भ्रष्टाचार का रावण जलना जरूरी है, अन्यथा भारतीय अंधकार में चले जाएंगे। संघ के स्थापना दिवस पर स्वयंसेवकों द्वारा संघ गणवेश में दंड, मंद योग व्यायाम आदि शारीरिक प्रदर्शन किए गए।
किया पथ संचलन

इस मौके पर स्वयंसेवकों ने पथ संचलन निकाला। विजय वल्लभ चौराहे से होते हुए गांधी चौक, सदर बाजार, तिगरी बाजार, हाथी चौक, माही दरवाजा, बाजरवाड़ा, अग्रसेन शारदा बाल निकेतन जाकर पथ संचलन संपन्न हुआ। इस दौरान शहर के मुख्य चौराहे व चौक में लोगों ने ध्वज पर पुष्प अर्पित किए। शरद जोशी ने काव्य गीता की प्रस्तुति दी।

संघ ने निकाला संचलन
पथ संचलन जयघोष के साथ स्वयं सेवकों ने लगाए वंदे मातरम् के नारे
जालोर सिर पर काली टोपी सफेद कमीज पहने और बिगुल व घोष वादन की धुन पर कदम से कदम मिलकर चलते स्वयं सेवक। मौका था राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ओर से अपने स्थापना दिवस पर गुरुवार को शहर के मुख्य मार्गों से निकाले गए पथ संचलन का। पथ संचालन की शुरुआत भीनमाल रोड स्थित आदर्श विद्या मंदिर प्रांगण से हुई। नगर प्रचार प्रमुख संजय राठौड़ ने बताया कि पथ संचलन में हर उम्र के स्वयं सेवकों ने भाग लिया।
असत्य पर होती है सत्य की विजय
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ओर से विजयादशमी उत्सव के उपलक्ष्य में बौद्धिक प्रवचन हुआ। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता क्षेत्रिय बौद्धिक प्रमुख कैलाशचंद्र ने कहा कि विजयादशमी का पर्व नाम से ही विजय की आकांक्षा पैदा करता है। यह पर्व असत्य पर सत्य की विजय, अधर्म पर धर्म की जीत व अराष्ट्रवादियों पर राष्ट्रवादियों की ताकत का परिचायक है। इसी दिन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की स्थापना डॉ. केशवराम बलिराम हेडगेवार ने की थी। वर्तमान में भारत गौरवशाली परंपराओं को भूल रहा है, लेकिन अब देश के स्व और स्वत्व को जगाकर आगे बढ़ाना है। इस दौरान उन्होंने स्वयं सेवकों को समर्पण संकल्प भाव के साथ मातृभूमि की सेवा करने की बात कही। वहीं महंत शीतलाईनाथ ने हिंदू समाज को संगठित होने की बात कही। इस मौके संघ के सह जिला संघचालक कैलाशचंद्र अग्रवाल समेत कई जने मौजूद थे।
किया शक्ति प्रदर्शन

आदर्श विद्या मंदिर प्रांगण में शस्त्र पूजन के बाद स्वयं सेवकों ने विभिन्न प्रकार के व्यायाम व शक्ति प्रदर्शन किया। स्वयं सेवकों ने नासिका मार, सूर्यचक्र मार, जठ्ठर मार, दंड मार की विभिन्न कलाओं और कई प्रकार के व्यायाम का प्रदर्शन किया। शक्ति प्रदर्शन में युवाओं में काफी जोश व उत्साह नजर आया। स्वयं सेवकों द्वारा दिए गए रोचक प्रदर्शन पर मौजूद लोगों ने तालियों से स्वागत किया।
पथ संचलन शहर के आदर्श विद्या मंदिर, भीनमाल रोड होते हुए भीनमाल बाईपास, राजेंद्र नगर, विवेकानंद स्मृति स्थल, मेजर शैतानसिंह मार्ग, आंबेडकर सभा स्थल, पंचायत समिति, भक्त प्रहलाद चौक, बड़ी पोल, कृष्ण चौक, सुभाष मार्केट, सदर बाजार, गांधी चौक, सूरजपोल होते हुए पुन: आदर्श विद्या मंदिर पहुंचा। संचलन का जगह-जगह पर विभिन्न समाज सेवी संगठनों व व्यवसायी संगठनों द्वारा फूल मालाओं से स्वागत किया गया। संचलन को लेकर युवा वर्ग में काफी उत्साह नजर आया। पथ संचलन से पूर्व आदर्श विद्या मंदिर प्रांगण में विजयादशमी उत्सव के उपलक्ष्य में शस्त्र पूजन किया गया। इसके बाद ध्वजा रोहण कर पथ संचलन की शुरुआत की गई। इस मौके पर काफी संख्या में स्वयं सेवक मौजूद थे।
आहोर त्न उपखंड मुख्यालय पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के स्थापना दिवस और विजयदशमी के उपलक्ष्य में गुरुवार को आहोर तहसील का पथ संचलन निकाला गया।

संघ के सहजिला प्रचार प्रमुख तेजकरण बालोत ने बताया कि पथ संचलन राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान से रवाना होकर अस्पताल चौराहा, मुख्य बाजार, पुराना बस स्टैंड, पुरानी गौशाला, मेघवालों का वास, जोधपुर तिराहे होते हुए पुन: विद्यालय प्रांगण में पहुंचा। जहां स्वयंसेवकों ने असत्य पर सत्य की विजय को लेकर दुर्गा पूजन किया गया। इस अवसर पर क्षेत्र के राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

बाप विजयादशमी के पर्व पर गुरुवार को बाप में आरएसएस के स्वयंसेवकों ने पथ संचलन किया। पथ संचलन में पूर्ण गणवेश में कदम से कदम मिलाकर चल रहे स्वयंसेवक एकता का संदेश दे रहे थे। दोपहर ढाई बजे आदर्श विद्या मंदिर के खेल प्रांगण से शुरू हुआ पथ संचलन गायत्री मंदिर, धामटों का बास, पुरानी तहसील कार्यालय रोड, लक्ष्मीनारायण मंदिर, मुख्य बाजार, विश्वकर्मा मंदिर तथा बस स्टैंड होते हुए पुन: विद्यालय आकर संपन्न हुआ। पथ संचलन में चल रहे स्वयंसेवकों प्रत्येक मोहल्ले में ग्रामीणों ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। पथ संचलन में घोष का वादन भी किया जा रहा था। संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख महेंद्र दवे ने कहा कि डॉ. हेडगेवार ने 1925 में विजयादशमी के दिन नागपुर में राष्ट्रीय सेवक संघ की स्थापना की थी। आज भारत में कोई जिला या तहसील संघ की शाखा बगैर नहीं हैं। दवे ने कहा कि भारतीय संस्कृति विश्व को नई दिशा दे सकती है क्योंकि भारतीय संस्कृति में पक्षियों को चुग्गा डाला जाता हैं तथा घरों में माताएं आज भी भोजन बनाने से पहले गाय व कुत्ते के लिए रोटी बनाती हैं।



पथ संचलन का स्वागत करने उमड़े लोग
संगरिया. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की ओर से विजयादशमी के उपलक्ष्य में पथ संचलन का आयोजन हुआ। पथ संचलन अरोड़वंश चौक से रवाना हुआ। स्वयंसेवक पूर्ण गणवेश में तहबाजारी,अग्रसेन मार्केट, नई धान मंडी एवं बस स्टैंड पहुंचे। नगर में जगह-जगह पथ संचलन का भव्य स्वागत किया गया। स्वयंसेवक शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए किसान शहीद स्मारक खालसा सीनियर सैकंडरी स्कूल पहुंचे जहां लोगों को संबोधित किया। जिला संघ चालक मोमन चंद मित्तल, नगर कार्यवाह मनोज गुप्ता, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष मदन गुप्ता, डॉ.भूप राम वर्मा, हरप्रीत सिंह, पुरुषोत्तम मिड्ढा, एडवोकेट प्रमोद डेलू, श्याम मित्तल,राजकुमार व चरणदास गर्ग आदि उपस्थित थे।

रावतसर में पथ संचलन 9 को

रावतसर. स्वयंसेवक संघ की स्थानीय शाखा की ओर से 9 अक्टूबर को कस्बे में पथ संचलन निकाला जाएगा। तहसील कार्यवाह अमरसिंह सिहाग ने बताया कि 9 को दोपहर 1 बजे रामलीला मैदान से संचलन निकाला जाएगा जो शहर के मुख्य मार्गों से होकर गुजरेगा। नगर कार्यवाह कालूराम सुथार ने बताया कि संचलन में तहसील व नगर के सैकड़ों स्वयं सेवक पूर्ण गणवेश में कदम से कदम मिलाकर चलेंगे। इससे पूर्व रामलीला मैदान में संघ का स्थापना दिवस विजयादशमी उत्सव के रूप में मनाया जाएगा।



विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित