शनिवार, 24 सितंबर 2011

चीन एक सुरक्षा संकट - खबरे अभियान की



चीन की नजर भारतीय बाजार पर
बाड़मेर स्वदेशी जागरण मंच की ओर से शुक्रवार को किसान केसरी उमावि में गोष्ठी का आयोजन हुआ। मुख्य अतिथि बाल सिंह राठौड़ ने कहा कि भारत के लिए चीन पहले से ही खतरा है। उन्होंने कहा आमजन को राष्ट्रीय भावना से आगे आकर सहयोग करना चाहिए। शिक्षाविद कमल सिंह ने कहा चीन भारत के लिए संकट है। भारतीयों को हमेशा जवाब देने के लिए तैयार रहना होगा। स्वदेशी जागरण गोष्ठी के अध्यक्ष प्रेमाराम भादू ने कहा भारत जैसे बड़े बाजार को चीन ने अपने सस्ते माल से पाट रखा है। उन्होंने अधिक से अधिक स्वदेशी माल खरीदने का आग्रह किया। गोष्ठी में प्रधानाचार्य किशना राम कड़वासरा ने अपने विचार व्यक्त किए।

चीनी वस्तुओं का बहिष्कार जरूरी
जालोर शहर के तिलक द्वार स्थित बालिका आदर्श विद्या मंदिर में गुरुवार शाम को स्वदेशी जागरण मंच जालोर की ओर से विचार गोष्ठी का आयेाजन किया गया। प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य कृष्णपाल सिंह की अध्यक्षता में ‘चीन एक सुरक्षा संकट’ विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में चीन के दुस्साहस पर चर्चा की गई। मंच के विभाग संयोजक विक्रमसिंह करणोत ने चीन को भारत के लिए पाकिस्तान से भी अधिक खतरनाक बताया।

इस दौरान आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक के छात्र प्रद्युमन कंसारा ने काव्य गीत की प्रस्तुति दी। गोष्ठी में मुख्यवक्ता राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख संजयकुमार ने कहा कि भारत को लेकर चीन का रवैया आक्रामक होता जा रहा है। चीन ने 1962 में आक्रमण करके भारत की 3800 वर्ग किमी भूमि पर कब्जा किया था। इसके अतिरिक्त पाक अधिकृत कश्मीर का काफी बड़ा भू-भाग पाकिस्तान ने चीन को दे दिया था। जिस पर वह पाकिस्तान के साथ मिलकर भारत विरोधी षड्यंत्रों को अंजाम दे रहा है। केंद्र सरकार इस ओर कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने कहा कि चीन ने ब्रह्मपुत्र नदी को रोककर बांध बनाया है। भविष्य में भारत के ब्रह्मपुत्र नदी क्षेत्र में भीषण अकाल की संभावनाएं बन रही है। युद्ध की स्थिति में ब्रह्मपुत्र नदी पर बने बांध का पानी एक साथ छोड़े जाने पर उत्तरी भारत में बाढ़ की संभावना भी बढ़ जाएगी। भारत में चीनी वस्तुओं का बाजार काफी बढ़ा है। जिससे भारतीय उद्योग बंद होने के कगार पर हैं। भारत में रोजगार के संकट पैदा हो रहे हैं। चीन को रोकने के लिए देशवासियों को जागरूक होना पड़ेगा। साथ ही चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करना होगा। विचार गोष्ठी में कार्यक्रम संयोजक के.एन. भाटी ने भी विचार व्यक्त किए।

स्वदेशी जागरण मंच की बैठक

नागौर स्वदेशी जागरण मंच की ओर से 27 सितंबर को शाम 8 बजे रामपोल में ‘चीन एक सामरिक व आर्थिक सुरक्षा संकट’ विषय पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा। आयोजन समिति की संयोजक सुखवंत खत्री ने बताया कि कार्यक्रम में स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक नंदलाल जोशी व संघ के प्रांत कार्यवाह जसवंत खत्री अपने ज्वलंत मसले पर विचार रखेंगे। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए केशव कृपा भवन में बैठक रखी गई। इसमें कार्यकर्ताओं को अलग-अलग व्यवस्थाएं सौंपी गई। बैठक में रुद्रकुमार जांगिड़, हेमंत जोशी, जयवीर छाबा, कैलाश, काकड़, पुखराज सांखला, सहित अनेक सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ता मौजूद थे।


स्वदेशी जागरण यात्रा 25 को

सूरतगढ़। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के तत्वावधान में 25 सितम्बर को स्वदेशी जागरण यात्रा यहां भारत माता चौक से शुरू होगी। स्वंय सेवक मोटर साइकिल रैली के जरिए लोगों से चीनी सामान के बहिष्कार की अपील करेंगे। यात्रा के दौरान आमजन को चीन की साम्राज्यवादी नीतियों की जानकारी दी जाएगी तथा सरकार को ठोस कदम उठाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

नगर कार्यवाह महेन्द्रसिंह राठौड़ के अनुसार यात्रा शहर के विभिन्न मार्गो से होते हुए मानकसर, अमरपुरा, सिलवानी, 2 पीपीएम, जानकीदासवाला, 10 सरकारी, जैतसर से होकर 9 जीबी स्थित राधास्वामी डेरे पर सम्पन्न होगी।

चीन की दोहरी नीति पर चिंता

भादरा। यहां के श्री श्याम बीएड कॉलेज में गुरूवार को राष्ट्र सुरक्षा के विरूद्ध चीन का षड़यंत्र एवं इसके समाधान में नागरिक कर्तव्य विषय पर विचार गोष्ठी हुई।

इसमें मुख्य वक्ता गंगाबिशन जोधपुर ने अरूणाचल प्रदेश व जम्मू कश्मीर राज्यों पर चीन की दोहरी नीति पर चिंता जताते हुए संभावित खतरे से सावधान रहने का आह्वान किया। प्राचार्य डॉ. सत्यपाल शर्मा ने चीनी उत्पादों को नहीं खरीदकर स्वदेशी वस्तुओं को बढ़ावा देने पर बल दिया। संस्था संचालक अमरनाथ शर्मा, प्राचार्य राजसिंह सोम आदि ने भी विचार व्यक्त किए।













विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित