मंगलवार, 20 सितंबर 2011

चीन एक संकट - स्वदेशी जागरण मंच के कार्यक्रमों की खबरे

साभार : दैनिक भास्कर
विदेशी वस्तुओं की होली जलाई

जैसलमेर फतेहगढ़ कस्बे में सोमवार को स्वदेशी जागरण मंच के तत्वावधान में विदेशी वस्तुओं की होली जलाई गई। मंच के तहसील संयोजक स्वरूपसिंह ने बताया कि कस्बे के भवानी बस स्टैंड पर विदेशी वस्तुओं की होली जलाकर बहिष्कार किया गया। इस अवसर पर धर्म जागरण के सह संयोजक धेवरसिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में भारतीय बाजार में चीनी माल की भरमार है। जिसमें कपड़े, दूध पाउडर, इलेक्ट्रोनिक्स, पटाखें, राखियां, जूते सहित कई वस्तुएं चीन से आयात हो रही है। ये माल सस्ता व भरपूर मात्रा में उपलब्ध होने व विक्रेताओं के लिए लाभप्रद होने के कारण हर जगह उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि चीन से आने वाले खिलौनों ने में सीसे की मात्रा 900 गुणा अधिक होने से वह बच्चों के लिए नुकसान देह भी है।

उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से विदेशी को छोड़ स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग की अपील की। इस अवसर पर चतुराराम, रमेशकुमार, कानसिंह, लजपतसिंह, सुरेशकुमार सहित कई ग्रामीण उपस्थित थे।

जनजागरण अभियान की दी जानकारी

जालोर स्वदेशी जागरण मंच की ओर से सोमवार को एक निजी होटल में चीन एक सुरक्षा संकट विषय पर जनजागरण अभियान को लेकर प्रेसवार्ता हुई। प्रेसवार्ता में विभाग संयोजन विक्रम सिंह ने कहा कि चीन का भारत की सीमा में दिनों दिन अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है। वर्तमान में चीन अरुणाचल प्रदेश समेत देश की 90 हजार वर्ग किमी भूमि पर अवैध कब्जा कर दबाव बना रहा है। भारतीय बाजारों में चीन का व्यापार बढऩे से एक तिहाई तक पहुंच गया है। व्यापार साथ ही बेरोजगारी फैल रही है। जिला संयोजक आवड़दान चारण ने बताया कि मंच की ओर से 15 से 30 सितंबर तक देश कोने-कोने में चीन एक सुरक्षा संकट विषय को लेकर व्यापक जनजागरण अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत आम सभाएं, गोष्ठियां, परिसंवाद आयोजित जनता को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही लोगों को स्वदेशी अपनाने पर जोर दिया जा रहा है। वार्ता में कार्यक्रम संयोजक के.एन. भाटी ने भी संबोधित किया।

चीन देश की सुरक्षा पर संकट
गांव खेदासरी में स्वदेशी जागरण मंच ने की बैठक
हनुमानगढ़ रावतसर. गांव खेदासरी के केशव विद्यापीठ उच्च माध्यमिक विद्यालय में सोमवार को स्वदेशी जागरण मंच की ओर से बैठक हुई, जिसमें स्वदेशी जागरण मंच के कार्यकारिणी सदस्य व विद्यापीठ के प्रधानाचार्य अमर सिंह सिहाग ने सदस्यों को संबोधित किया। वक्ताओं ने चीन को देश की सुरक्षा के लिए संकट बताते हुए कहा कि यह आए दिन भारत की सीमाओं पर आक्रमण कर रहा है तथा अपने देश के चाइनीज माल को भारतीय बाजार में सस्ते दामों में बेच रहा है। इससे चीनी अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है। अगर भारतीय नागरिक चाइनीज सामान को न खरीदकर स्वदेशी सामान को खरीदें तो आने वाले दिनों में विश्व की महाशक्ति बनने वाले देशों में भारत के सर्वोच्च स्थान पर आने से दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती। इस मौके पर तहसील संयोजक विष्णु शर्मा व सह संयोजक विनोद सहारण, विद्यालय शिक्षक व छात्र उपस्थित रहे।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित