शनिवार, 12 फ़रवरी 2011

आरएसएस की मांग, मोहन भागवत पर केमिकल हमले की साजिश की जांच होपुरोहित,पांडे ने रची हत्या की साजिश!

माननीय मनमोहन जी वैद्य प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए साथ में है राम माधव जी
source: http://punjabkesari.com/E-Paper/Delhi.htm


नई दिल्ली। अजमेर दरगाह, मक्का मस्जिद और मालेगांव धमाकों में सामने आए कुछ हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं से राष्ट्रीय स्वयसेवक संघ को भी बड़ा खतरा था। संघ के नेता सुरेश जोशी द्वारा प्रधानमंत्री मनमोहन
सिह को भेजे गए एक खत में यह खुलासा किया गया है। पत्र के अनुसार मालेगां
व धमाकों के आरोपी कर्नल पुरोहित और दयानंद पांडे, आरएसएस के तत्कालीन महासचिव मोहन भागवत को मारना चाहते थे।संघ ने प्रधानमंत्री से मांग की है कि इस मामले की स्वतंत्र व निष्पक्ष जांच की जाए।

संघ के नेता सुरेश जोशी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को एक पत्र लिखकर जिक्र किया है कि कुछ लोग भगवा आतंकवाद के नाम पर संघ की गरिमा को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं। सोनी ने कहा कि रानीतिक साजिश के तहत ही मालेगांव धमकों के आरोपियों को संघ से जोड़ा जा रहा है ताकि संघ को बदना
म किया जा सके। पत्र के अनुसार मालेगांव धमाकों के मुख्य आरोपी कर्नल पुरोहित और दयानंद पांडे तत्कालीन संघ सर संचालक मोहनराव भागवत और संघ के एक और नेता इंद्रेश कुमार की हत्या करने का षढयंत्र रच रहे थे।

शुक्रवार को आरएसएस नेता मनमोहन वैद्य ने पत्र की कुछ प्रतियां एक प्रेस कॉफ्रेंस में जारी की। इस दौरान वैद्य ने कहा कि महाराष्ट्र एटीएस द्वारा दायर चार्जशीट में इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि मालेगांव धमकों के आरोपी
संघ और भाजपा के खिलाफ साजिश रच रहे थे। इस दौरान संघ ने प्रधानमंत्री से मांग की इन सभी मामलों की संपूर्ण और निष्पक्ष जांच की जाए।
source:http://www.patrika.com/news.aspx?id=532803




मुंबई. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने प्रधानमंत्री से आरएसएस के प्रमुख मोहन भागवत और वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार की हत्या के षडयंत्र की स्वतंत्र जांच की मांग की है। आरएसएस का आरोप है कि एटीएस महाराष्ट्र ने इस तथ्य को दबाने की कोशिश की है, ताकि हिंदू आतंकवाद और आरएसएस के तार जुड़े हुए दिखाई दें।

आरएसएस ने मांग की है कि मालेगांव ब्लास्ट के आरोपियों के संबंधों की किसी स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराई जाए, ताकि उनके आकाओं और संबंधों का खुलासा हो सके।

संघ के महासचिव सुरेश जोशी ने प्रधानमंत्री को लिखे एक 6 पेज के पत्र में कहा है एटीएस महाराष्ट्र मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी के संघ के वर्तमान सरसंघ चालक मोहन भागवत और इंद्रेश कुमार की हत्या के षडयंत्र की ठीक तरह से जांच नहीं कर रहा है। क्योंकि इससे एटीएस को आशंका है कि ब्लास्ट के आरोपियों का असली चेहरा सामने आ जाएगा और यह भी साबित हो जाएगा कि वे आरएसएस के भी विरोधी रहे हैं।

जोशी ने अपने पत्र में महाराष्ट्र एटीएस की 20 जनवरी 2009 को पेश की गई चार्जशीट का हवाला दिया, जिसमें आरोपियों कर्नल पुरोहित और दयानंद पांडे के बीच हुई बातचीत का विवरण था। इसमें उन्होंने मोहन भागवत और इंद्रेश कुमार की कैमिकल हथियारों से हत्या करने के षडयंत्र की चर्चा की।

लेकिन एटीएस ने बांबे हाई कोर्ट में इस तथ्य को दबाने की कोशिश की क्योंकि इससे उनकी (महाराष्ट्र एटीएस) आरएसएस और मालेगांव के आरोपियों को एक साथ संदेह के दायरे में रखने की कोशिश बेअसर हो जाएगी।
source: http://www.bhaskar.com/article/NAT-rss-writes-letter-to-pm-1843744.html?HT3=

एटीएस पर संघ के गंभीर आरोप

Oneindia Hindi - ‎15 घंटे पहले‎
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कहा है कि मालेगांव धमाके के मामले के मुख्य अभियुक्तों कर्नल पुरोहित और दयानंद पांडे ने संघ प्रमुख मोहन भागवत और वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार को मारने की साज़िश रची थी. प्रधानमंत्री को लिखे गए एक पत्र में संघ के सरकार्यवाह सुरेश जोशी ने कहा है कि मालेगाँव की जाँच कर रहे आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) के पास इसकी जानकारी है लेकिन इसकी ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. ऐसे समय में जब मालेगाँव, अजमेर और ...

प्रधानमंत्री के नाम संघ का पत्र

प्रभात खबर - ‎15 घंटे पहले‎
नयी दिल्लीः मालेगांव, अजमेर और हैदाराबाद विस्फ़ोट मामले में सरकारी जांच को दुष्प्रचार की साजिश का हिस्सा बताते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने इन मामलों की निष्पक्ष एवं पारदर्शी ढंग से जांच करने के लिए एक स्वतंत्र आयोग गठित करने के वास्ते प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को पत्र लिखा है और मुलाकात के लिए समय मांगा है. संघ की ओर से प्रधानमंत्री को यह पत्र कल सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने लिखा जिसमें कर्नल पुरोहित और दयानंद ...

भगवा आतंकियों को दुश्मन मानता है संघ

नवभारत टाइम्स - ‎१०-०२-२०११‎
नई दिल्ली।। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भगवा आतंकवाद से अपने को पूरी तरह अलग करते हुए कहा है कि वह इसके खिलाफ है और भगवा आतंकियों ने तो संघ को टॉप अधिकारियों को भी खत्म करने का प्लान बनाया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संघ नेता सुरेश जोशी ने पीएम मनमोहन सिंह को लिखे पत्र में मालेगांव बम विस्फोट के आरोपी बर्खास्त आर्मी ऑफिसर श्रीकांत पुरोहित और उनके सहयोगी शंकराचार्य दयानंद पांडे का जिक्र किया है। ...

पुरोहित,पांडे करना चाहते थे भागवत की हत्या!

Patrika.com - ‎1 घंटा पहले‎
नई दिल्ली। अजमेर दरगाह, मक्का मस्जिद और मालेगांव धमाकों में सामने आए कुछ हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं से राष्ट्रीय स्वयसेवक संघ को भी बड़ा खतरा था। यह खुलासा हुआ है 2008 में संघ की ओर से प्रधानमंत्री मनमोहन सिह को भेजे गए एक खत से। पत्र के अनुसार मालेगांव धमाकों के आरोपी के कर्नल पुरोहित और दयानंद पांडे, आरएसएस के तत्कालीन महासचिव मोहन भागवत को मारना चाहते थे। सूत्रों के अनुसार संघ के नेता सुरेश जोशी ने 2008 में ...

पीएम के नाम संघ का खत

Patrika.com - ‎7 घंटे पहले‎
नई दिल्ली।मालेगांव, अजमेर और हैदाराबाद विस्फोट मामले में सरकारी जांच को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने दुष्प्रचार की साजिश बताते हुए इनकी निष्पक्ष एवं पारदर्शी जांच के लिए एक स्वतंत्र आयोग गठित करने की मांग की है। इस संबंध में संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को गुरूवार को पत्र लिखा और मुलाकात का समय मांगा है। पत्र में कर्नल पुरोहित व दयानंद पांडेय के षड्यंत्र को राजनीतिक हथकंडा बताते ...

RSS के दोस्त नहीं, दुश्मन हैं पांडेय और कर्नल पुरोहित!

IBN Khabar - ‎१०-०२-२०११‎
नई दिल्ली। मालेगांव धमाके में गिरफ्तार दयानंद पांडेय और कर्नल पुरोहित को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जोड़ने के खिलाफ संघ के सर कार्यवाह भैया जी जोशी ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में आरोप लगाया गया है कि दोनों संघ के खिलाफ काम करते रहे हैं इसके बावजूद उन्हें संघ से जोड़ने की कोशिश हो रही है। जोशी ने कहा कि दयानंद पांडेय और कर्नल पुरोहित ने संघ को तोड़ने की कोशिश की थी। ये मामला 2005 का है। ...

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित