सोमवार, 7 फ़रवरी 2011

नीति साफ तो ही सर्वांगीण विकास

साभार : दैनिक भास्कर
भीलवाड़ा । देश में पश्चिमी विकास का खेल चल रहा है, जो मूल्यविहीन, करुणाविहीन, समग्रताविहीन और आत्मीयताविहीन है। ऐसे में जब तक नीति साफ नहीं होगी, सर्वांगीण विकास नहीं हो सकता। ये विचार आरएसएस प्रमुख डॉ।मोहनराव भागवत ने रविवार को शहर से 15 किमी दूर नौगांवा स्थित माधव गो विज्ञान अनुसंधान संस्थान के आठवें वार्षिकोत्सव में व्यक्त किए।सरसंघ चालक भागवत ने पूना के एक उद्योगपति का हवाला देते हुए कहा कि देश विकास तो कर रहा, पर सही राह पर नहीं। लगभग 35 मिनट के उद्बोधन में वे भ्रष्टाचार, राजनीति, आतंकवाद जैसे मुद्दों पर कुछ नहीं बोले। मुख्य वक्ता भागवत ने इतना जरूर कहा कि शासन कोई भी मूर्खता करे तो संयमित चुप ही रहता है। उनका पूरा उद्बोधन गाय पर केंद्रित रहा। वे बोले, गोरक्षा हमारी, आपकी रक्षा का सवाल नहीं है। यह तो स्वत्व की रक्षा है। उन्होंने गो आधारित विकास को पर्यावरण, व्यक्ति, समाज और देश के लिए अच्छा बताया। उन्होंने कहा कि जल्दी पैसा बनाने की होड़ व आत्मघाती विकास छोड़ गाय को केंद्र बना जैविक विकास करना होगा। नौगांवा गोशाला को आदर्श बताते हुए उन्होंने सभी से गोपालन व सुरक्षा करने का आह्वान किया।इससे पूर्व, डॉ.भागवत ने भारत मां की तस्वीर पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन कर समारोह की शुरुआत की। मुख्य अतिथि ब्यावर के व्यवसायी दीपक झंवर ने गोशाला में हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

अध्यक्षता उद्योगपति रघुनाथ मित्तल ने की। विशिष्ट अतिथि आमेट के व्यवसायी श्यामसिंह राठौड़ ने कहा कि हर व्यक्ति को गोपालन करने के साथ ही गोशाला में दान देना चाहिए। संस्थान संरक्षक उद्योगपति अशोक कोठारी ने हर गांव में गायों की रक्षा के लिए गोशाला खोलने, रोज गाय को एक रोटी देने, माता-पिता, गुरु के चरण स्पर्श करने पर जोर दिया। अध्यक्ष दामोदरप्रसाद अग्रवाल ने संस्थान की गतिविधियों का प्रतिवेदन पढ़ा। अतिथियों को शॉल ओढ़ा प्रतीक चिह्न दिए गए। संस्थान मंत्री राजकुमार बंब ने संचालन किया। शहर विधायक विट्ठलशंकर अवस्थी, जहाजपुर विधायक शिवजीराम मीणा, पूर्व सांसद सुभाष बहेडिय़ा, पूर्व मंत्री कालूलाल गुर्जर, नगर परिषद सभापति अनिल बल्दवा, चित्तौड़ भाजपा जिलाध्यक्ष सीपी जोशी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित