शुक्रवार, 28 जनवरी 2011

संघ को बदनाम करने की साजिश - राम माधव

source:http://epaper.bhaskar.com/epapermain.aspx?edcode=191&eddate=1/28/2011&querypage=2
बीकानेर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य राम माधव ने कहा है कि पिछले काफी समय से संघ को आतंककारी कहा जा रहा है जो गलत है। यह सब एक षड्यंत्र के तहत संघ को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है।

माधव बुधवार को सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज में संघ की ओर से आयोजित प्रबुद्ध नागरिक सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संघ देश भक्तों का संगठन है।

वह निस्वार्थ भाव से देश सेवा करने का पाठ पढ़ाता है। संघ आतंक के पक्ष में नहीं है, यदि सरकार के पास इस सम्बन्ध में कोई साक्ष्य है तो वह कार्रवाई करे।

उन्होंने कहा कि गांधीजी राम राज्य के साथ-साथ भारत की सांस्कृतिक परम्परा और सनातन मूल्यों का प्रतिनिधित्व करने वाला देश चाहते थे। लेकिन राम राज्य की कल्पना के राज्य में राम की क्या हालत हो गई? उन्हें अपने राज्य में अपनी जन्म भूमि के लिए अदालत में जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि करोड़ों लोगों की आस्था का केन्द्र है। इसके आधार पर जनता के बहुमत की मान्यता है। अदालत ने आस्था को न मानकर कनाडा की एक कम्पनी से भूमि का सर्वेक्षण कराया। जी.पी.आर. सर्वेक्षण में यहां पर मंदिर होना बताया गया।

अफजल को फांसी क्यों नहीं?
माधव ने कहा कि संसद पर हमला करने के आरोप में दोषी सिद्ध हो चुके अफजल गुरू को अदालत ने फांसी की सजा सुना दी है उसके बाद भी उसे फांसी नहीं देना सरकार की सोच को उजागर करता है। हमें हमारी नहीं हिन्दू समाज व देश की प्रतिष्ठा की चिंता है। सरकार में बैठे लोग सिमी व संघ को एक समान बताने का बयान देते हैं। जबकि संघ भारतीय संविधान में विश्वास करने वाला है और सिमी इस्लामी राष्ट्रीयता को मानता है। इससे पूर्व राम माधव व प्रांत संघ चालक भंवरलाल कोठारी ने दीप प्रज्ज्वलित कर सम्मेलन की शुरूआत की। महानगर संघ चालक नरोत्तम व्यास ने आभार व्यक्त किया।


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित