सोमवार, 3 जनवरी 2011

हनुमत शक्ती जागरण , महायज्ञ की जोधपुर प्रान्त में धूम-उमड़े यजमान






108 कुंडीय महायज्ञ में उमड़े श्रद्धालु, समारोह में महामंडलेश्वर अखिलेश्वरानंद ने राममंदिर निर्माण के लिए युवा शक्ति से किया आह्वा
पाली

शहर के अग्रसेन वाटिका में रविवार को श्री हनुमंत् शक्ति जागरण समिति पाली के तत्वावधान में राममंदिर निर्माण को लेकर आयोजित 108 कुंडंीय महायज्ञ कार्यक्रम में श्रद्धालुओं का रेला उमड़ा।

समिति के विभाग संयोजक परमेश्वर जोशी ने बताया कि कार्यक्रम को लेकर अग्रसेन वाटिका में 108 हवन कुंड बनाए गए। विद्वान पंडितों के सानिध्य में वैदिक मंत्रों के जाप करते हुए श्रद्धालुओं ने हवन में आहुतियां दी। वही कार्यक्रम को भाग लेने के लिए शहर सहित आस—पास के गांवों से सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े। भगवान हनुमानजी की आरती के साथ यज्ञ का समापन हुआ। समिति संयोजक ने बताया कि यज्ञ में बाबूदास वैष्णव यज्ञ के प्रमुख यजमान थे। श्रद्धालु अणदाराम पटेल की ओर से श्रद्धालुओं में प्रसाद वितरित किया गया। कार्यक्रम का संचालन मुकेश कुमार ने किया। कार्यक्रम में व्यवस्था बनाने में समिति के शंकर भासा, पंडित शंभूलाल, अंबालाल सोलंकी व रमेश गोयल आदि कार्यकर्ता जुटे रहे। कार्यक्रम के दौरान व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस जाप्ता भी मुस्तैद नजर आया।

नजर आया मेले सा माहौल

108 कुंडीय महायज्ञ कार्यक्रम को लेकर रविवार को अग्रसेन वाटिका में शहर सहित आस—पास के गांवों से सैकड़ों श्रद्धालु उमड़े। कार्यक्रम को लेकर अग्रसेन वाटिका में मेले सा माहौल नजर आया। वही वाटिका के गेट पर चाट—पकोड़े, चाय, बच्चों के खिलौने के थैले सहित गुब्बारे बेचने वाले भी नजर आए।

‘राम मंदिर निर्माण को युवाशक्ति जागृत हो’

पाली. देश में राममंदिर निर्माण के लिए युवा शक्ति का जागृत होना आवश्यक है। समय आने पर देश के युवाओं को राम मंदिर निर्माण के लिए अपनी ताकत दिखानी होगी। हम सब को इस कार्य में सहयोग कर भगवान हनुमान की इच्छा को पूर्ण करना है। उक्त विचार महामंडलेश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरी ने शहर के अग्रसेन वाटिका में श्री हनुमत् शक्ति जागरण समिति की ओर से आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहे। उन्होनें कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है। यहा सभी धर्मों का सम्मान किया जाता है। देश में अन्य धर्मों की अपेक्षा हिंदूधर्मावलियों की संख्या ज्यादा है।

हिंदू धर्म के श्रद्धालुओं की आस्था के केंद्र भगवान राम के मंदिर का निर्माण तो देश में होना ही चाहिए। मंदिर निर्माण को लेकर उन्होंने युवा शक्ति को जागृत होना पड़ेगा। कार्यक्रम में क्षेत्रीय प्रचारक प्रमुख नंदलाल जोशी, संत हरीरामदास जैतारण, चंपापुरी पुश्तैना भाखरी, संत कानदास फुलाद, संत रामेश्वरदास, भगवानगिरी, संत सुरजनदास, विश्व हिंदू परिषद् के प्रांतीय मंत्री भंवरलाल चौधरी सहित सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

बाली(पाली)

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रांतीय प्रचारक विजय कुमार ने कहा कि भारत सभी धर्मों की भूमि है। इसमें विविध प्रकार की बोलियां एवं विविध प्रकार की संस्कृतियों का वास है, लेकिन पिछले कुछ समय से हिंदू संस्कृति का विघटन हो रहा है। इसको बचाने एवं मजबूत बनाने के लिए संपूर्ण हिंदू समाज को संगठित होना पड़ेगा। प्रांतीय प्रचारक रविवार को श्री हनुमंत शक्ति जागरण समिति के तत्वावधान में आयोजित महायज्ञ के बाद धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे।

प्रांतीय प्रचारक ने कहा कि हिंदू धर्म हमेशा विश्व कल्याण की बात करता है। हिंदू धर्म हमेशा विश्व कल्याण को सर्वोपरि मानता है, बाकी बातों को गौण मानता है। उन्होंने ने राम मंदिर के मसले पर चर्चा करते हुए केंद्र सरकार एवं राजनेताओं पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि इस देश में राम जन्म के प्रमाण मांगे जाते हैं तथा हिंदुओं को आंतकवादी कहा जा रहा है। उन्होंने हिंदुओं को संगठित होने का आह्वान करते हुए कहा कि आवश्यकता पडऩे पर मातृभूमि के लिए बलिदान को तत्पर रहें। विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय संयोजक अमृत परमार ने

धर्म सभा को संबोधित करते हुए हनुमंत शक्ति जागरण समिति द्वारा बाली क्षेत्र सहित विभिन्न गांवों में पिछले दिनों आयोजित महायज्ञ एवं अन्य कार्यक्रमों की जानकारी दी। धर्मसभा को संत मोहननाथ कृपलानी, पूनमनाथ, लक्ष्मण भारती, सोमनाथ सहित चेना महाराजने भी संबोधित किया। जागरण समिति की ओर से आयोजित महायज्ञ एवं धर्मसभा में भाग लेने आए संतों का स्वागत किया गया।



५१ जोड़ों ने दी आहुतियां

कस्बे के किला मैदान में आयोजित महायज्ञ में ५१ पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चार से ५१ हवन कुंडों पर कई जोड़ों को आहुतियां दिलवाईं। इस दौरान राम मंदिर जल्द से जल्द बनाने के लिए हनुमंत को जागृत किया।

आंशिक रूप से बंद रहा कस्बा

जागरण समिति के द्वारा रविवार को धर्मसभा एवं महायज्ञ को लेकर शनिवार को ही बाली बंद का आह्वान कर दिया गया था, जिस पर रविवार को कस्बे के कई प्रतिष्ठान बंद मिले तो कहीं खुले भी नजर आए।

source : epaper.bhaskar.com
हिन्दुओं को बदनाम करने की साजिश
नागौर। विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय मंत्री उमाशंकर ने कहा है कि केन्द्र सरकार धर्मनिरपेक्षता की आड़ में हिन्दू एवं संत समाज को "भगवा आतंकवाद" से जोड़कर बदनाम करने की साजिश रच रही है।

यहां कांकरिया स्कूल मैदान में रविवार सुबह हनुमत शक्ति जागरण समिति के तत्वावधान में आयोजित 108 कुण्डीय महायज्ञ एवं धर्मसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देशभर में एक लाख से अधिक स्थानों पर इसी प्रकार से जनजागरण के कार्यक्रम आयोजित हुए हैं।

सम्पूर्ण हिन्दू जन-मानस के रोम-रोम में बसे भगवान राम का मंदिर शीघ्र बने यह हिन्दू समाज का संकल्प है।
धर्मसभा में संत कृपाराम ने आह्वान किया हमें अपनी सोई चेतना को जगाकर लोगों में देशभक्ति की भावना का संचार करना है।उन्होंने केन्द्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देश व सर्व पंथ समाज में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की छवि एक देशभक्त सेवाभावी संगठन की है। उसे बदनाम करने की साजिश रची जा रही है।

दीपावली के पावन पर्व पर झूठे आरोपों के आधार पर शंकराचार्य को गिरफ्तार करना,संसद हमले के आरोपी अफजल गुरू की फांसी टालना, संत समाज के प्रति अनास्था का निर्माण करना यह सिद्ध करता है कि केन्द्र सरकार हिन्दू समाज की हितैषी नहीं है।
इससे पूर्व समिति अध्यक्ष भोजराम सारस्वत ने दीप प्रच्च्वलित कर गायत्री परिवार के बालकिशन, जुगल एवं श्रीराम के निर्देशन में मंत्रोच्चार के बीच यज्ञ कर्म को पूर्ण किया। मंच पर संयोजक पुखराज सांखला, संत जानकीदास, संत राजाराम भी उपस्थित थे।संचालन मनीष शर्मा ने किया।

यज्ञ में दी आहुतियां
श्रीराम जन्म भूमि पर शीघ्र मंदिर निर्माण का संकल्प लिए रविवार सुबह कांकरिया स्कूल मैदान में 146 जोड़ों ने 108 कुण्डीय यज्ञ में आहुतियां दी। मंत्रोच्चार की ध्वनि के बीच सर्दी का कहर भी आस्था को नहीं डगमगा सका। यज्ञ में 60 गांवों के 86 जोड़े भी शामिल हुए।
source: patrika.com

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित