बुधवार, 26 मई 2010

भारतवंशी महिला बनी त्रिनिदाद की प्रधानमंत्री

पोर्ट ऑफ स्पेन. कैरिबियाई देश त्रिनिदाद एवं टोबैगो में कमला परसाद बिशेशर पहली भारतवंशी महिला प्रधानमंत्री बन गई हैं। उनके पूर्वज 19वीं सदी में भारत से मजदूर के रूप में यहां आए थे। प्रधानमंत्री पैट्रिक मैनिंग ने अविश्वास प्रस्ताव से खुद को बचाने के लिए मध्यावधि चुनाव करवाए थे, जिनमें उनकी पार्टी नेशनल पीपुल्स मूवमेंट को जनता ने सत्ता से बाहर कर दिया।

सोमवार को घोषित परिणामों में कमला के नेतृत्व वाले गठबंधन पीपुल्स पार्टनरशिप को 41 में से 29 सीटें मिलीं। प्रधानमंत्री मैनिंग ने हार मान ली है वे 2002 से प्रधानमंत्री थे। इसके साथ ही उनकी पार्टी का 43 साल पुराना राज खत्म हो गया है। कमला परसाद बिशेशर को राष्ट्रपति जॉर्ज मैक्सवेल रिचर्डस मंगलवार शाम (भारतीय समयानुसार बुधवार) को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाएंगे।

कमला कट्टर हिंदू हैं और वे त्रिनिदाद एवं टोबैगो की पहली महिला अटार्नी जनरल रह चुकी हैं। उनका जन्म इसी देश के सिपारिया में 22 अप्रैल 1952 को हुआ था। यहां से वे 15 साल सांसद रहीं। इनकी पार्टी यूनाइटेड नेशनल कांग्रेस गठबंधन के रूप में 2000 में सत्ता में आई थी, जिसमें वे शिक्षा मंत्री थीं। अप्रैल 2006 में पार्टी सत्ता से बाहर हुई और वे विपक्ष की नेता चुनी गईं। इस साल 24 जनवरी को उन्हें पार्टी के संस्थापक बासदेव पांडे की जगह अध्यक्ष चुना गया।

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित