बुधवार, 16 दिसंबर 2009

पाक बना रहा है नए बंकर-टॉवर


श्रीगंगानगर। अन्तराष्ट्रीय सीमा के उस पार पाकिस्तान नए बंकर व टॉवर बना रहा है। इन निर्माण कार्यो को देख सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने चौकसी बढ़ा दी है। जानकारी के अनुसार राजस्थान व पंजाब से सटी सीमा के उस पार पाकिस्तान ने 19 नए बंकर स्थापित किए हैं तथा लगभग 40 नए वॉचिंग टॉवर बनाए हैं। कुछ साल पहले पाकिस्तान ने अपनी सीमा चौकियों की संख्या भी बढ़ाई थी। पाकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय नियमों को ताक पर रखकर चौकियों के निर्माण पर श्रीगंगानगर जिले से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तनाव उत्पन्न हो गया था और दोनों देशों के बीच दो दिन तक फायरिंग भी हुई थी। सीमा सुरक्षा बल के अधिकारी बताते हैं कि भारत की सीमा पर पुराने बंकरों की मरम्मत का काम चल रहा है। यह कार्य शुरू होने के बाद पाकिस्तान ने तेजी लाते हुए नए टॉवरों और बंकरों का निर्माण शुरू कर दिया।

नियमों के सवाल पर चुप्पी

सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों से जब यह पूछा गया कि नए बंकरों और वॉचिंग टॉवरों का निर्माण अंतरराष्ट्रीय नियमों के तहत हुआ है या नहीं, तो इस बारे में सीसुब के अधिकारी चुप्पी साध गए। नए बंकर सीमा के नजदीकपाकिस्तान के नए निर्माण कार्यो के बारे में केन्द्रीय गृह सचिव एवं सीमा सुरक्षा बल के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच हुए विचार-विमर्श के बाद सीमा सुरक्षा बल के उच्चाधिकारियों ने पिछले दिनों सीमा क्षेत्र का दौरा किया और सीमा पार की गतिविधियों की जानकारी ली। नए बंकर सीमा के नजदीक हैं।

तीन दर्जन निगरानी टॉवर

सीमा सुरक्षा बल से प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ ही समय में पाक ने तीन दर्जन से अधिक निगरानी टॉवर बनाए हैं। बल के अधिकारियों का कहना है कि नए टॉवर भारतीय टॉवरों के सामने ही बनाए जा रहे हैं।

ये निर्माण

19 नए बंकर40 नए वाचिंग टॉवरसीमा पार की प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। पाक ने कई नए बंकर और टॉवर बनाए हैं। धुंध के मौसम में जवानों को विशेष सतर्कता की हिदायत दी गई है।" -सी।आर। चौहान,उप महानिरीक्षक सीमा सुरक्षा बल

पत्रिका का खुलासा

उल्लेखनीयहै कि राजस्थान पत्रिका ने 30 मई 2009 को प्रकाशित अंक में यह खुलासा किया था कि पाकिस्तान ने सीमा के बिलकुल करीब थार एक्सप्रेस की यात्रियों की जांच के लिए एक स्टेशन का निर्माण कर रखा है, जोकि अन्तरराष्ट्रीय नियमों के विपरीत हैं।

साभार स्त्रोत : http://patrika.com/news.aspx?id=291974

विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित