शुक्रवार, 7 अगस्त 2009

भारत करना चाहता था चीन पर हमला : प्रचंड

काठमांडु. नेपाल के माओवादी प्रमुख तथा पूर्व प्रधानमंत्री प्रचंड ने यह सनसनीखेज आरोप लगाया है कि भारत और अमेरिका नेपाल के रास्ते चीन पर हमला करना चाहते थे। भारत ने इसे बकवास करार दिया है। प्रचंड ने कहा कि नेपाल की धरती का चीन के खिलाफ इस्तेमाल नहीं करने देने के कारण ही उन्हें प्रधानमंत्री पद छोड़ने को मजबूर होना पड़ा। राजधानी डेली को दिए इंटरव्यू में प्रचंड ने कहा, ‘मुझे प्रधानमंत्री का पद छोड़ना पड़ा क्योंकि मेरी पार्टी ने हमारे देश की धरती का इस्तेमाल चीन के खिलाफ करने की अनुमति नहीं दी।’
सेना प्रमुख को पद से हटाए जाने के मामले में सरकार के घटक दलों के मतभेद के कारण इस्तीफा देने वाले प्रचंड ने कहा, ‘अमेरिका-भारत की साजिश को हमारी पार्टी की ओर से कड़ी चुनौती मिलने के बाद मेरी सरकार के खिलाफ साजिश शुरू की गई।’
प्रचंड का ताजा बयान शुक्रवार से शुरू हो रहे माओवादी आंदोलन के एक दिन पहले आया है। माओवादी अपने नेतृत्व में नेपाल में राष्ट्रीय सरकार बनाए जाने की मांग कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि प्रचंड ने इस साल मई में प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद अपनी आठ माह पुरानी सरकार गिराने का आरोप भारत पर लगाया था।


विश्व संवाद केन्द्र जोधपुर द्वारा प्रकाशित